Life Means Struggle – Akshay kumar life story in hindi

Life Means Struggle – Akshay kumar life story in hindi

आपने कभी गौर किया है, जो व्यक्ति किसी बड़े मुकाम तक पहुँचा है उसके पीछे कौन सी शक्ति है या किसने उस व्यक्ति को इतना बड़ा बनाया है??? हम बताते है उस बड़े व्यक्ति या महान व्यक्ति के पीछे जो शक्ति काम करती है वो है उसकी मेहनत। मेहनत ही है जो एक व्यक्ति को छोटी सी जगह से उठा कर एक बड़े से समाज के बीच ले जाती है, उसे मान सम्मान दिलाने के पीछे उसकी मेहनत ही होती है, यह जरुरी नही है की आपके नाम के पीछे टाटा या अम्बानी हो। (जब हम टाटा या अम्बानी कहते है तो हमारा मतलब समाज में उनकी शख्सियत या अमीरी से है).

 

आप मिड्ल क्लास फैमिली से है तो आपकी मेहनत आपको उस मुकाम तक ले जा सकती है जिसकी आप कल्पना भी नही कर सकते। मेहनत करने के बाद सफलता के कई उदाहरण है जिसमे से हम एक ऐसे शख्स की कहानी बताने जा रहे है जिनकी उपलब्धि हमारे लिए प्रेरणा रही है लेकिन इनकी शुरुवाती जिंदगी बहुत साधारण रही है इन्होंने कुछ ऐसे ठोस निर्णय और मेहनत जिनकी वजह से आज इन्हें आज कामयाबी मिली। ऐसी मेहनत और निर्णय लेने का सहस एक बुलंद रवैये या एटिट्यूड से आता है और आज जिनके बारे में हम बता रहे है वो एक मिसाल है महनत की, एक बुलंद रवैये की। इनकी जिंदगी में अहंकार की कोई परिभाषा ही नही है इन्होंने विवादों को अपने से दूर रखा इसीलिए ये हिंदी फ़िल्म इंडस्ट्री के खिलाडी कहा जाता है. इस खिलाडी ने फिल्मो में आने से पहले कई पापड़ बेले है बहुत महनत की है। जी हा, हम बात कर रहे है अक्षय कुमार (Akshay kumar) की.

 

इनका दिल्ली के चांदनी चौक में बावर्ची होना तो सब को पता है लेकिन इनकी जिंदगी के कई ऐसे और पहलू है जिनके बारे में कम लोग जानते है. Akshay kumar का असली नाम राजीव हरी ओम भाटिया है जिनका जन्म अमृतसर के एक मध्यम वर्गीय पंजाबी परिवार में हुआ था. आप सोच नही सकते की कभी ये दिल्ली से कुंदन की ज्वेलरी ले जा कर मुम्बई में बेचा करते थे और अपना जेब खर्च चलाया करते थे .पिता जी एक अकोउन्टेन्ट थे जिन्हें समझने में देर नही लगी की मेरा बेटा पढाई में ज्यादा अच्छा नही है और लोन लेकर अक्षय को बैंकॉक भेजा. वहा 5 साल मार्शल आर्ट सिखने के बाद मुंम्बई में उन्होंने बच्चों को मार्शल आर्ट सिखाया। इसके बाद मुम्बई में वेटर की नोकरी की और उसके बाद जब वो भी रास नही आया तो उन्होंने कोलकाता में ट्रेवलिंग एजेंसी में काम किया इसके बाद बांग्लादेश के ढाका में भी कई साल काम किया। इस तरह के तमाम नोकरिया करने के बाद उन्हें एक फोटोग्राफर के पास लाइट बॉय का काम किया और और इनकी महनत और काम के प्रति एक जूनून देख कर फोटोग्राफर ने अक्षय (Akshay kumar) का फ्री में पोर्टफोलियो बनाया और फिर Akshay kumar उस पोर्टफोलियो को लेकर अलग अलग डायरेक्टर और फ़िल्म स्टार के पास भी जाया करते थे यहाँ तक की वो काम मांगने के लिए राजेश खन्ना के पास भी गए जो की बाद में उनके ससुर बने ।

 

Akshay kumar की  बॉलीवुड (Bollywood) में अभिनय (Acting) की शुरूआत 1991 की फ़िल्म सौगंध से की जो फ्लॉप रही । अक्षय कुमार का शुरुआती कैरियर अच्छा नहीं रहा क्योंकि उनकी अधिकतर फ़िल्म फ्लॉप हो गई लेकिन इन्होने हार नहीं मानी और आज इनका नाम बॉलीवुड के top एक्टर्स में गिना जाता है.

 

अगर आपको यह लेख पसंद आया हो तो कृपया इसे शेयर कीजिये और comments करके बताये की आपको यह आर्टिकल कैसा लगा. हमारे आने वाले आर्टिक्ल को पाने के लिए नीचे फ्री मे subscribe करे।

READ MORE

sachin tendulkar से जुडी प्रेरणादायक कहानी

virat kohli facts and story in hindi

sidhu positive vichar!सिधु के सकारात्मक विचार

फर्श से अर्श तक – achievements story of bollywood superstars

famous women of india प्रसिद्ध महिला शख्सियते

Best motivational dialogues of bollywood movies in Hindi

Did you enjoy this article?
सभी नए Posts अपनी E-Mail पर तुरंत पाने के लिए यहाँ अपनी E-mail ID लिखकर Subscribe करें। कृपया यहाँ Subscribe करने के बाद अपनी E-mail ID खोलें तथा भेजे गये वेरिफिकेशन लिंक पर क्लिक करके वेरीफाई करें।
WHATSKNOWLEDGE .COM का WHATSAPP GROUP JOIN करे और पाए सभी आर्टिकल्स सीधे मोबाइल पर हमें WHTASAPP करे 7065908804 पर और लिखे Add me to whatsknowledge group
3 Comments

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *