जानिए क्यों खतरनाक है आपके लिए यह दवाइयां antibiotics in hindi

आपने एक  कहावत तो सुनी ही होगी “ Health is wealth’’ यानी “स्वास्थ्य ही धन है. यह कहावत अपने आप में पूरी तरह सही है इसलिए हर इंसान कोशिश करता है की अपनी सेहत का पूरा ध्यान रखा जाये. इस पोस्ट में हम आपकी सेहत से जुडी बहुत जरुरी जानकारी बताने जा रहे है जो आपके लिए लाभदायक होगी.

आज की भागदोड भरी जिन्दगी में जिस तरह खाना और पानी हमारे लिए जरुरी है ठीक उसी तरह दवाइयां भी हमारी सेहत को बरक़रार रखने के जरुरी है.  आज हम हैल्दी फ़ूड और एक्सरसाइज पर निर्भर न होकर पूरी तरह  दवाइयों पर निर्भर हो गए है. जैसे ही हमे हल्की सी खांसी, जुकाम बुखार या सर दर्द होता है तुरंत हम दवाइयों का सहारा लेते है.  इनके इलाज़ के लिए जिन दवाइयां का हम सबसे ज्यादा इस्तेमाल करते है वह है एंटीबायोटिक” (antibiotics).

क्या होती है एंटीबायोटिक – what is antibiotics in hindi

 

एंटीबायोटिक” (antibiotics) दो यूनानी शब्दों एंटी यानी विरोध और बायोस यानी ज़िंदगी से मिलकर बना है जो हमारे शरीर में हानिकारक बैक्टीरिया को खत्म करता है और उसके विकास को रोकता है. इसलिए एंटीबायोटिक (antibiotic) दवाइयों का इस्तेमाल बैक्टीरिया द्वारा संक्रमण के इलाज के लिए किया जाता है जैसे सर्दी, जुकाम, बुखार, खांसी, टीबी, न्यूमोनिया, स्कीन इन्फेक्शनन etc

आज से कुछ साल पहले जब बहुत सी बिमारियों के लिए कोई कारगार दवाई नहीं थी, तब 1928 में अलेक्जेंडर फ्लेमिंग द्वारा खोज की गई पहली एंटीबायोटिक (antibiotic) दवाई पेनिसिलिन ने मेडिकल क्षेत्र में क्रांति का काम किया. धीरे धीरे बहुत सी नई एंटीबायोटिक (antibiotic) दवाइयों का अविष्कार हुआ जिससे कई बिमारियों का इलाज़ बहुत जल्दी और आसानी से मुमकिन हो पाया. लेकिन धीरे धीरे लोगो इसके आदि हो गए और हर छोटी छोटी तकलीफ के लिए झट से इन दवाइयों का इस्तेमाल करने लगे जिससे इन दवाइयों के side effects सामने आने लगे है. जैसे इनके ज्यादा इस्तेमाल से आपके शरीर की प्रतिरोधक क्षमता यानी बिमारियों से लड़ने की शक्ति कम होती है और साथ ही शरीर के कई अंगो को भी नुकसान होता है.

इसके आलावा इनके ज्यादा इस्तेमाल से  हार्ट अटैक और लीवर को भी नुकसान पहुचता है.

अब स्थिति यह है की एंटीबायोटिक” (antibiotics) के ज्यादा इस्तेमाल से हमारे शरीर में मौजूद हानिकारक बैक्टीरिया इतने ज्यादा शक्तिशाली हो गए है की उनपर इनमे से कई दवाइयों का असर खत्म हो चूका है और इसके दुष्परिणाम सामने आने लगे है. भारत के लिए यह सबसे बड़ी चिंता की बात है क्योकि एंटीबायोटिक” (antibiotics) का सबसे ज्यादा इस्तमाल भारत में होता है.

हाल ही में भारत सरकार ने  ऐसी 344 दवाइयों पर प्रतिबन्ध लगाया है जिसमे खांसी की लोकप्रिय दवा कोरेक्स, जुकाम की लोकप्रिय दवाई vicks action 500 extra (विक्स एक्शन 500 एक्सट्रा), सिट्रिजन, फेंसिडिल कफ सिरप, कैफीन, और रेबप्राजोल भी शामिल है.

ऐसी बहुत सी दवाइयों का इस्तेमाल अमेरिका और इंग्लैंड में बहुत पहले से ही प्रतिबंधित है लेकिन भारत में इसका इस्तेमाल काफी किया जाता है.

यह सभी वह दवाइयां है जो हमें आसानी से बिना डॉक्टर की सलाह के भी मिल जाती है. हलाकि इन्हें बनाने वाली कंपनियों ने सरकार के इस फैसले को दिल्ली हाई कोर्ट में चुनोती दी और कोर्ट से रोक के खिलाफ स्टे आर्डर लिया है.

एक आकडे के मुताबिक साल पिछले कई सालो में एंटीबायोटिक” (antibiotics) दवाइयों के इस्तेमाल में 30 से 40 % इजाफा हुआ है जिसमे भारत नंबर 1 है. एक समय था जब एंटीबायोटिक के इस्तेमाल से टीबी जैसी बीमारी को आसानी से खत्म किया जाता था लेकिन इसके ज्यादा इस्तेमाल से मरीजो की प्रतिरोधक क्षमता पर इसका नकरात्मक असर हुआ और अकेले भारत में ही 4.5 लाख के करीब टीबी से पीड़ित मरीजो पर इन दवाइयों का कोई असर नहीं हुआ जिनमे से 1.5 लोगो की जान चली गई.

World Health Organization (विश्व स्वास्थ्य संगठन) की रिपोर्ट के अनुसार  दुनियां भर में एंटीबायोटिक दवाइयों के बेअसर होने की वजह से हर साल 6 से 7 लाख लोग अपनी जान गवा देते है और अगर ऐसा ही चलता रहा तो यह संख्या 2050 तक एक करोड़ तक पहुच जाएगी.

इस लेख का उदेश्य आपको डरना नहीं बल्कि सचेत करना है की किस तरह हम पूरी तरह दवाइयों के आदि हो गए है और मामूली से बात पर भी इन्हें लेने से पीछे नहीं हटते. दवाइयों से पीछा छुटाने के सबसे अच्छा तरीका है healthy lifestyle जिसमे पौष्टिक खाना, तनाव मुक्त दिन,  योगा और एक्सरसाइज शामिल है. तभी आपकी ‘’health’’ बनेगी आपकी असली ‘’wealth’’

अगर आपका कोई सवाल, सुझाव या कोई विचार हो तो कृपया जरुर comment करे. साथ ही इस आर्टिकल को जरुर शेयर करे ताकि इसका फायदा सभी को हो.


हमारे आने वाले सभी आर्टिकल्स को सीधे अपने मेल में पाने के लिए हमें नीचे   फ्री सब्सक्राइब करे और हमारा फेसबुक पेज लाइक करे.


 

Related Articles

 

जानिए व्यायाम के फायदे – Benefits of Exercise

जानिए Vitamin B Complex कमी से आपकी Health को क्या खतरे हैं

सफ़र के दौरान उल्टी और घबराहट से बचने के तरीके

जानिए कैसे बढ़ाए कद best tips for increasing height naturally

Best tips for weight lose in Hindi – कैसे घटाएँ वजन

 

NOTE:We try hard for accuracy and correctness. please tell us If you see something that doesn’t look correct or you have any objection.

Did you enjoy this article?
सभी नए Posts अपनी E-Mail पर तुरंत पाने के लिए यहाँ अपनी E-mail ID लिखकर Subscribe करें। कृपया यहाँ Subscribe करने के बाद अपनी E-mail ID खोलें तथा भेजे गये वेरिफिकेशन लिंक पर क्लिक करके वेरीफाई करें।
WHATSKNOWLEDGE .COM का WHATSAPP GROUP JOIN करे और पाए सभी आर्टिकल्स सीधे मोबाइल पर हमें WHTASAPP करे 7065908804 पर और लिखे Add me to whatsknowledge group

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *