सफलता पाने मे body language डालती है प्रभाव

Body language यानि की शारीरिक भाषा अपने आप में एक important भाषा है जो कई बार जुबान से अधिक स्पष्ट होती है। बॉडी लैंग्वेज non verbal communication का एक रूप है जिसे शरीर की मुद्राओ और  इशारों के द्वारा व्यक्त किया जाता है।  body language एक तरह से हमारे व्यक्तित्व का आईना होती है। जिस तरह किसी किताब के अलग अलग पन्नो में अलग-अलग बातें होती हैं, उसी तरह हमारे हाव-भाव के पीछे भी अलग-अलग तरह के अर्थ छिपे होते हैं। लेकिन खास बात है कि हम अंजाने में शरीर के माध्यम से संकेत भेजते भी है और समझते भी है। interview के दौरान आमतौर पर बॉडी लैंग्वेज को प्रतिबिंबित करके लोगों की personality जांची जाती है। आप कितने भी जानकार और confident क्यों न हों लेकिन अगर आपके उठने-बैठने, बातचीत करने  का तरीका और आपके हाव-भाव आपके कहे का समर्थन नहीं करते तो एक interview निकालना आपके लिए थोड़ा मुश्किल साबित हो सकता है, खासतौर पर तब जब इंटरव्यू के दौरान आपकी पर्सनैलिटी जांची जा रही हो और interview मे psychologist भी उस इंटरव्यू पैनल में मौजूद हों। आमतौर पर हम अपनी body language की अहमियत को समझ नहीं पाते और इसे नजरअंदाज कर देते हैं और अपने ही हाथों interview और  दूसरे तमाम विशेष मौकों पर अपनी छवि को मटियामेट कर बैठते हैं।

Meaning of different body language

  • अपने घुटनों पर हाथ: जल्दबाज़ी
  • बार बार घड़ी देखना; बातचीत को जल्द खत्म करने की चाह
  • Cross leg (पैरो को मोड़कर बैठना) – कुछ छुपाना या खुल कर बात न करना–
  • Eye contact – आत्मविश्वास
  • अपने हाथ सिर के पीछे बांधना– over confidence(अतिरिक्त आत्मविश्वास)
  • आगे की ओर झुकना – उत्सुकता
  • पीछे को होना – घमंड और काम के प्रति उदासीनता
  • लात हिलाना या टेबल पर उंगलियां फिराना – nervousness(घबराहट)
  • हद से ज्यादा सिर हिलाना – चापलूसी
  • हल्के हाथ मिलाना – अंदर आत्मविश्वास की कमी
  • आंखे रगड़ना- अविश्वास
  • अपनी पॉकेट में हाथ डालकर बैठना – उदासी
  • आंख मींचना – ऊबना
  • तेज तेज ताली बजाना – स्वीकृति
  • एक पैर कुर्सी के ऊपर रखकर बैठना: उदासीनता
  • ज्यादा पलक झपकाना – झूठ बोलने का संकेत
  • कानो को छुना याठोड़ी को खरोंचना – अविश्वास
  • सर को एक तरफ झुकाए रखना – bore होना(ऊबना)
  • मेज पर उंगलियों से बजाना – बेचैनी
  • गाल पर हाथ रखना- चिंता या सोचना
  • जबर्दस्ती हसना – nervousness, cooperation.
  • Biting lips(होटों को चबाना) – tension
  • Open legs (बैठते वक्त) – arrogance(घमंड),
  • Nail biting(नाखून चबाना) – frustration
  • Touching nose (बोलते वक्त) – lying(झूठ बोलना)
  • कंधे झुका कर चलना और बैठना – insecure और under-confident दिखाता है
  • बैठे-बैठे हाथ-पैर हिलाना – nervousness, uncomfortable

अलग-अलग संस्कृतियो और देशों  के लोग अलग-अलग तरीकों से body language को use करते है और समझते है। हर जगह इन इशारो का मतलब एक जैसा नहीं रहता।

 

निवेदन : कृपया अपने comments के through बताएं की  यह article आपको कैसा लगा

SIMILAR ARTICLE

loading...

INTERESTING PSYCHOLOGICAL FACTS ABOUT BODY LANGUAGE

 

One Response

  1. Himanshu Grewal 06/10/2016

Leave a Reply