अनुवाद के क्षेत्र में रोजगार और संभावनाएं career in language translation in india

एक भाषा में कही गई बात को दूसरी भाषा में कहना अनुवाद है जैसे हिंदी भाषा में कहे गए किसी कथन को अंग्रेजी में कहना अनुवाद है हालाकिं  अनुवाद का इतिहास काफी पुराना है लेकिन आज वैश्वीकरण के दौर में जब दो अलग- अलग भाषा के लोग संचार और व्यापार कर रहे है तो अनुवाद की भूमिका और भी बढ़ जाती है और यह अनुवाद करना किसी मशीन का काम नही है. कंप्यूटर के आने से translation काफी हद तक आसान हो गई है लेकिन अनुवाद के लिए पूरी तरह से मशीन पर निर्भर नही रहा जा सकता. क्योकि मशीन ज्यादा से ज्यादा 70% translation कर सकती है और बाकि 30% को पूरा करने के लिए एक व्यक्ति की जरूरत पड़ती ही है. फ़िलहाल मशीन या कंप्यूटर द्वारा अनुवाद बहुत कम देखने को मिलता है और अवुवाद करवाने वाले ज्यादातर संगठन किसी व्यक्ति से अनुवाद करवाना पसंद करते है जिसे अनुवादक कहा जाता है. ये सभी अनुवादक प्रोफेशनल होते है और इन्हें translation करने के लिए अच्छा वेतन दिया जाता है. अगर आपको थोडा लिखने-पढने का शौक रखते है तो अनुवादक बनना आपके सामने एक अच्छा विकल्प है.

 

अनुवाद के क्षेत्र में रोजगार – career in language translation in india

 

भारत में अनुवादक की जरूरत सरकारी और निजी क्षेत्र दोनों को ही है और आने वाले समय में इसकी मांग बढ़ने की उम्मीद है. आज बाजारवाद के इस दौर में हम translation के क्षेत्र मे रोजगार के कई विकल्प देख सकते है. इस लेख में हम भारतीय परिपेक्ष को ध्यान में रखते हुए हिंदी से अंग्रेजी और अंग्रेजी से हिंदी अनुवाद के सम्बन्ध में बात कर रहे है लेकिन अनुवाद किसी भी दो भाषाओ के बीच हो सकता है.

 

सरकारी विभाग – Government sector

 

सरकार के लगभग सभी विभागों में अनुवादक की जरूरत होती है जो सरकारी दस्तावेजो का अनुवाद करते है. भारत में राजभाषा अधिनियम के तहत सभी सरकारी दस्तावेजो का अंग्रेजी और हिंदी भाषा में होना अनिवार्य है.  साथ ही राज्य सरकारों में क्षेत्रीय भाषाओ को भी मान्यता दी जाती है. इन सभी दस्तावेजो के अनुवाद के लिए अनुवादक की जरूरत होती है

इसके अलवा संसद या विधानसभा में इंटरप्रेटर की पोस्ट भी होती है जिनका काम भाषण दे रहे लीडर की बातो को साथ-साथ अनुवाद करना होता है. यह काम लगभग सभी भारतीय भाषाओ में होता है जैसे अंग्रेजी में भाषण दिया जा रहा है और साथ साथ उसे एक अनुवादक हिंदी में बोल रहा है और दूसरा अनुवादक किसी और भाषा में बोल रहा है

 

सरकार द्वारा चल रहे मीडिया हाउस दूरदर्शन और आकाशवाणी में अनुवादक की बहुत अहम् भूमिका है. आपने देखा होगा कि आकाशवाणी और दूरदर्शन पर आने वाले सभी समाचार किसी एक भाषा में नही बल्कि कई भाषाओ में होते है. यह काम भी अनुवादको का ही होता है.

 

भारत के सभी बैंको में भी अनुवादक की पोस्ट होती है जो की वाणिज्य से जुडी सभी नीतियों और नियमो का अनुवाद करते है इसके अलावा कोर्ट में भी अनुवादक के लिए रोजगार के विकल्प मौजूद है जो क़ानूनी मामलों का translation करते है

 

 

निजी क्षेत्र – private sector

निजी क्षेत्र में कई ऐसे क्षेत्र है जिनमे translator की जरूरत है जैसे—

 

न्यूज़ मीडिया – translation jobs in media

आज न्यूज़ मीडिया translation के बिना अधुरा है. अख़बार हो या टीवी देश विदेश की खबर अपने लोगो को बताने के लिए एक अनुवादक ही काम आता है हलाकि इस बात में भी कोई शक नही की मीडिया में रोजगार पाने के लिए पत्रकारिता की डिग्री भी अनिवार्य है. अधिकतर न्यूज़ एजेंसियां पत्रकार कम अनुवादक को ही रोजगार देती है.

 

विज्ञापन उद्योग – translation jobs in marketing & advertising

आजकल एक ही विज्ञापन आपको कई भाषाओ में देखने को मिल सकता है और यह काम भी अनुवादक का ही है  इस क्षेत्र में अच्छे अनुवादको को काफी पैसे दिए जाते है.

 

फिल्म उद्योग – translation jobs in movies

पिछले कई सालो में फिल्म जगत में डबिंग और रीमेक का चलन काफी बढ़ गया है. यह ऐसे ही है जैसे कोई फिल्म अंग्रेजी में है और हम उसे हिंदी में देख रहे हो या फिर और कोई अन्य भाषा में. इसके अलावा रीमेक का भी चलन काफी बढ़ गया है जिसमे किसी दूसरी भाषा की फिल्मो को देख समझकर हिंदी में भी बिलकुल वैसी ही फिल्म बना देते है और यह सब भी अनुवाद के कारण ही होता है. तो इस क्षेत्र में भी एक अनुवादक रोजगार तालाश सकता है.

 

प्रकाशन घर- translation jobs in publishing houses

लेखक एक भाषा में किताब लिखता है और उस किताब को दूसरी भाषा के लोगो तक पहुँचाने के लिए प्रकाशक अनुवादक का सहारा लेता है और किताब का अनुवाद करवाता है. यह किताब किसी भी भाषा या किसी भी विषय पर हो सकती है. यहाँ अनुवादक का काम उस किताब को दूसरी भाषा में बदलना होता है.

 

अनुवाद एजेंसियां — translation jobs in agencies

बहुत सी ऐसी अनुवाद एजेंसियां है जो अनुवादक को नौकरी देती है. ये एजेंसियां एक नहीं बल्कि कई भाषाओ के अनुवादको को भी हायर करती है.

 

स्वतंत्र रूप से

अनुवाद एक ऐसा कार्य है जिसे आप फ्रीलान्स भी कर सकते है. यानी की अपने घर पर बैठ कर, कई सारी ऐसी वेबसाइट है जो अनुवाद का काम स्वतंत्र रूप से करने को दे सकती है.

 

हालाकिं अनुवाद किसी भी दो भाषाओ के बीच किया जा सकता है जिसके लिए उन भाषाओ का पूर्ण ज्ञान होना अनिवार्य है जिस देश की वो भाषाएँ है.  फ़िलहाल भारत में हिंदी-अंग्रेजी-हिंदी अनुवाद का बोलबाला है लेकिन अगर आप कोई भी दो भाषाएँ अच्छे से जानते है तो उससे जुड़े अनुवाद के क्षेत्र में भी करियर तालाश सकते है.

 

 

कैसे पाए नौकरी – How To Get Translation Jobs in hindi

 

सरकारी विभाग में अनुवादक की नौकरी पाने के लिए एस.एस.सी जूनियर हिंदी ट्रांसलेटर की परीक्षा पास करनी होगी और इंटरप्रेटर के लिए सरकार अलग वैकंसी निकालती है जो संसद की अधिकारिक वेबसाइट पर देख सकते है. इसके लिए हिंदी या अंग्रेजी में मास्टर डिग्री और अनुवाद में पी.जी डिप्लोमा  होना अनिवार्य है.

निजी क्षेत्रो में काम करने के लिए आपको अपने सोर्स और इन्टरनेट का सहारा लेना पड़ेगा. कई ऐसी वेबसाइट है जहाँ आपको ट्रांसलेटर की वैकेंसी देखने को मिल जाएगी और साथ ही अगर आप स्वतन्त्र रूप से काम करना चाहते है तो उसके लिए भी कई वेबसाइट मौजूद है जो प्रति शब्द अनुवाद के हिसाब से भुगतान करती है

 

अनुवाद के लिए कोर्स – course for translation in hindi

 

दो भाषाओ का अच्छा ज्ञान होना अनुवाद की पहली शर्त है. इसके अलावा कई ऐसी संस्थाएं है जो हिंदी-अंग्रेजी-हिंदी अनुवाद का कोर्स भी चलाती है और इसके लिए कम से कम स्नातक होना अनिवार्य है. ये संस्थाएं है

भारतीय अनुवाद परिषद् दिल्ली  (भारत में कई शाखाएं)

दिल्ली विश्विद्यालय

नई दिल्ली सांध्यकालीन हिंदी संस्थान

इंदिरा गांधी राष्ट्रीय मुक्त विश्वविद्यालय (इग्नू) आदि

यह सभी संस्थान हिंदी-अंग्रेजी-हिंदी अनुवाद का कोर्स कर सकते है.

इसके अलावा आप कोई दूसरी भाषाएँ जानते है तो उनमे भी अनुवादक के रूप में रोजगार विकल्प जरुर मौजूद होगा.

 

उम्मीद करते है आपको यह आर्टिकल पसंद आया होगा. अगर आपके कोई सवाल या सुझाव है तो कृपया कमेंट्स के जरिये अपनी बात रखे और हमारे आने वाले सभी आर्टिकल्स को सीधे अपने मेल में पाने के लिए हमें फ्री सब्सक्राइब जरुर करें.

 

यह भी जाने

जानिए क्यों जरुरी है करियर का सही चुनाव Career planning in hindi

कैसे बने रेडियो जॉकी – career in radio

पत्रकारिता में करियर कैसे बनाये-career in journalism

जानिए क्या है मनोविज्ञान में करियर की संभावनाए

जॉब पाना चाहते है तो ऐसे बनाये रिज्यूमे resume or cv format in hindi

contact for web designing

Enter your email address:

Delivered by FeedBurner

One Response

  1. Milind Sahu 01/01/2018

Leave a Reply