दीपिका पादुकोण और डिप्रेशन – लिव लव लाफ

deepika padukone and depression – live love laugh foundation

दोस्तों World health organization के अनुसार भारत में 36%  लोग डिप्रेशन का शिकार है. इसका मतलब है की हम में से हर तीसरा व्यक्ति मानसिक अशांति के दौर से गुजर रहा है हमारे देश में लगभग 1 लाख लोग हर साल अपनी जान ले लेते है. ये वो आंकड़े है जो हमारे सामने आ  जाते है .

आज हम ऐसे इंसान की बात करेंगे जो खुद डिप्रेशन का शिकार रही है . उन्होंने खुद को तो डिप्रेशन से बाहर निकाला ही बल्कि अपने अनुभव को सारी दुनिया के सामने रखा। हम बात कर रहे है हिंदी फ़िल्म इंडस्ट्री की कामयाब हीरोइन दीपिका पादुकोण (deepika padukone) की , जो लगभग एक महीने तक डिप्रेशन का शिकार रही और अब वो अपनी इस बीमारी को लेकर खुल कर सामने आई है. उन्होंने (deepika padukone) एबीपी न्यूज़ को दिए एक इंटरव्यू में कहा ‘ डिप्रेशन दूसरी बीमारियो की तरह ही है जैसे कोई फिज़िकल बीमारी होती है लेकिन इसके लक्षण कुछ अलग है वह खुद भी डिप्रेशन का शिकार रही उनके (deepika padukone)  डिप्रेशन में जाने का कारण बताना जरूरी नही समझा और साथ ही कहा की डिप्रेशन के कारण सबके लिए अलग अलग होते है.

ये जरूरी नही की डिप्रेशम में सिर्फ आमिर आदमी को ही होता  है या डिप्रेशन सिर्फ गरीबो को होता है, डिप्रेशन का शिकार कोई भी व्यक्ति हो सकता है फिर चाहे वो मनोरंजन इंडस्ट्री से सम्बन्ध रखता हो या किसी और कारोबार से।

जब वो (deepika padukone) डिप्रेशन का शिकार थी तो अपने अंदर खालीपन महसूस करती थी बिना वजह रोने लग जाती थी किसी सोच में पड़ जाती थी लेकिन उन्होंने अपनी प्रोफेशन लाइफ पर उसका असर पड़ने नही दिया। उनका (deepika padukone) कहना था की ये उनकी किस्मत थी की प्रोफेशनल पर उसका असर नही पड़ा। साथ ही उन्होंने बताया की डिप्रेशन के लक्षण उनकी माँ को समझ आने लगे थे और फिर वो दीपिका (deepika padukone)  को साइकेट्रिस्ट के पास ले गई और उसके बाद साइकेट्रिस्ट और साइकोलोजिस्ट दोनों ने मिल कर उन्हें इस बीमारी से बाहर निकाला।

भारत में बढ़ते डिप्रेशन के मरीजो को देखते हुए  उन्होंने  लिव लव लाफ (live love laugh foundation) नाम के संगठन की शुरुवात की है.

इस पर उनका (deepika padukone) कहना है की इस देश में  डिप्रेशन को लेकर लोगों में ज्ञान की कमी है अगर ज्ञान है तो वो अधूरा है ज्यादातर लोगों को पता ही नही चल पता की वह डिप्रेशन के शिकार है और आसपास के लोग उसे फिज़िकल बीमारी समझते है।

हम लोग रियलिटी को स्वीकार नही करते  और खुद से ईमानदार नही है. हम बस ऐसा सोचते है की जो हो रहा है हमारे साथ तो हो ही नही सकता. अगर हमे खुश रहना है तो चीज़ों को स्वीकार करना पड़ेगा फिर चाहे वो फेलियर हो, रिश्तों में अनबन या और कुछ. खुश रहने के लिए हमे सब चीज़ों को स्वीकार करना पड़ेगा।

ये आशीर्वाद हमारे देश में दिया जाता है की ‘खुश रहो’ शायद इसके पीछे कोई कहानी हो शायद इसके पीछे कोई मकसद हो शायद वो सोच हम भूल चुके है.

इस आर्टिकल का मकसद किसी सेलेब्रिटी का interview नहीं है बल्कि यह बताना है की मानसिक समस्याए भी शारीरिक समस्याओ की तरह आम है और इसके बारे में किसी को बताने या इलाज़ करवाने में किसी तरह की कोई शर्म नहीं करनी चाहिए.  अगर आपको या आपके परिवार, रिश्तेदार, दोस्तों को किसी भी तरह की मानसिक समस्या है तो छुपाने की बजाये खुल कर बात करे, उन्हें सपोर्ट दे और डॉक्टर के पास लेकर जाये.

Mental Health is a sickness just like diabetes, heart problems, eye problems, we all need help.

Related Articles

डिप्रेशन का मनोविज्ञान how to control and cure depression in Hindi

Stress and tension Relief Tips in Hindi

ये है दुनियाँ के कुछ महान पागल Feel proud to be mad if you change the world

 MANAGEMENT OF EXAMINATION STRESS – परीक्षा के समय कैसे करे दिमाग को तैयार

Are you stressing out your kids?

बाइपोलर डिसआर्डर क्या है – bipolar disorder in hindi


निवेदन ; कृपया इस post को अपने मित्रो के साथ भी शेयर कीजिये और COMMENTS करके बताये की आपको यह post कैसा लगा . आपके COMMENTS हमारे लिए बहुत उपयोगी सिद्ध होंगे. हमारे आने वाले ARTICLES को पाने के लिए नीचे फ्री मे SUBSCRIBE करे।


 

यदि आप भी कोई लेख हमारे साथ शेयर करना चाहते है तो आपका स्वागत है. कृपया अपने लेख हमें whatsknowledge2@gmail.com पर भेजें या contact us पर भेजें. हम आपका लेख आपके नाम और फोटो के साथ publish करेंगे.

 

NOTE:We try hard for accuracy and correctness. please tell us If you see something that doesn’t look correct or you have any objection.

Did you enjoy this article?
सभी नए Posts अपनी E-Mail पर तुरंत पाने के लिए यहाँ अपनी E-mail ID लिखकर Subscribe करें। कृपया यहाँ Subscribe करने के बाद अपनी E-mail ID खोलें तथा भेजे गये वेरिफिकेशन लिंक पर क्लिक करके वेरीफाई करें।
WHATSKNOWLEDGE .COM का WHATSAPP GROUP JOIN करे और पाए सभी आर्टिकल्स सीधे मोबाइल पर हमें WHTASAPP करे 7065908804 पर और लिखे Add me to whatsknowledge group
One Comment

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *