एक कदम सफलता की ओर Success Story Of Elon Musk In Hindi

एलन मस्क एक ऐसा नाम है जो जूनून, कड़ी मेहनत और कामयाबी का प्रतिक है. मेहनत हर इंसान अपनी जिन्दगी में करता है लेकिन जब मेहनत जूनून और एक नये आईडिया के साथ आगे चलती है तब कुछ ऐसा देखने को मिलता है जो दुनियां को अचंभित कर देता है. इस लिस्ट में एक नाम आता है पेपल, स्पेसएक्स और  टेस्ला मोटर्स जैसी बड़ी कंपनियों के फाउंडर एलन मस्क/ Elon Musk का जिनकी जिन्दगी युवाओ के लिए मार्गदर्शक और प्रेरणादायक है. फोर्ब्स ने उन्हें 2016 में दुनिया के सबसे शक्तिशाली लोगों की लिस्ट में रखा था।

 

शुरुआती जिन्दगी – Early life of Elon Musk

 

एलन मस्क/ Elon Musk का जन्म 28 जून, 1971 को दक्षिण अफ्रीका के प्रिटोरिया में हुआ था। वह तीनों बच्चों में सबसे बड़े थे. उनके पिता एरोल मस्क एक ब्रिटिश मूल के दक्षिण अफ्रीकी थे जो पेशे से एक इंजीनियर थे। मस्क ने अपना बचपन दक्षिण अफ्रीका में बिताया और 9 साल की उम्र में, उन्हें अपना पहला पर्सनल कंप्यूटर मिला.  इससे एलन को प्रोग्रामिंग में दिलचस्पी मिली और उन्होंने इसे स्वयं सीखना शुरू कर दिया।

12 वर्ष की उम्र में, उन्होंने अपनी पहली कम्प्यूटर गेम ब्लास्टर बनाई  जिसे  बेचकर उन्होंने  500 डॉलर कमाए.

जिस तरह हर सक्सेसफुल इन्सान की जिन्दगी में कुछ ऐसी घटनाएँ घटती है जो भविष्य में उसके लिए मिल का पत्थर साबित होती है, ऐसे ही कुछ घटनाएँ मस्क/ Elon Musk के जीवन में भी घटी जिसके बाद उन्हें सफलता की दिशा प्राप्त हुई।

सबसे पहली घटना थी 17 वर्ष की उम्र में उनका घर छोड़ने का निर्णय.  प्रिटोरिया के  एक माध्यमिक विद्यालय से स्नातक होने के बाद, उन्होंने अपने माता-पिता के समर्थन के बिना अपना  घर छोड़ने का फैसला किया और संयुक्त राज्य अमेरिका में जाने का फैसला किया  हालांकि, वह तुरंत संयुक्त राज्य अमेरिका में नहीं जा सके.

 

1989 में  एलन/ Elon Musk अपनी मां के रिश्तेदारों के पास  कनाडा में चले गए. कनाडा की नागरिकता प्राप्त करने के बाद, एलन मॉन्ट्रियल गए. पैसो की कमी के कारण उन्होंने कम वेतन पर काम करना शुरू कर दिया.  19 साल की उम्र में, उन्होंने किंग्स्टन, ओन्टेरियो में क्वींस यूनिवर्सिटी में प्रवेश किया।

मस्क/ Elon Musk ने दो साल ओन्टारियो में अध्ययन किया और फिर  अंत में, उनका सपना सच हो गया. 1992 में, वह संयुक्त राज्य में स्थानांतरित हो गये।

 

उसके बाद एक समय ऐसा भी आया जब एलन मस्क/ Elon Musk ने किशोर अवस्था में  डिप्रेशन  से जूझना शुरू कर दिया. तब उन्होंने दार्शनिक और धार्मिक साहित्य को सक्रिय रूप से समझना शुरू कर दिया। लेकिन सबसे मूल्यवान सबक उन्होंने डगलस एडम्स की किताब द हिचहाइकर गाइड टू दी गैलेक्सी से सीखा।

 

मस्क ने सीखा कि सबसे मुश्किल चीज सही सवालों के साथ अपने आपको पेश करना है  और जिस दिन उसने ऐसा करना शुरू किया, बाकी सब उन्हें आसानी से प्राप्त होने लगा.

 

जब मैं कॉलेज में था, मैं उन चीजों में शामिल होना चाहता था जो दुनिया को बदल सके  – एलोन मस्क

 

मस्क/ Elon Musk ने सोचा कि इंसान को सही सवाल पूछने और उनका जवाब पाने के लिए अपनी चेतना की सीमाओं का विस्तार करना होगा.; और इस तरह उन्होंने अपना सवाल पाया: किस चीज का इंसान के भविष्य पर सबसे ज्यादा प्रभाव होगा?  और मस्क ने पाया की ये चीजे है –  इंटरनेट  और अंतरिक्ष उपनिवेशीकरण (space colonization)।  वे इन सभी में योगदान करने की कोशिश करना चाहते थे। ऐसा करने के लिए  उन्हें पैसो  की आवश्यकता थी

 

Zip2 and PayPal

 

1995 की गर्मियों में, एलन मस्क/ Elon Musk ने अपने जीवन का दूसरा और सबसे महत्वपूर्ण निर्णय लिया.  पेंसिल्वेनिया विश्वविद्यालय से स्नातक होने के बाद, उन्होंने स्टैनफोर्ड विश्वविद्यालय के ग्रेजुएट स्कूल में दाखिला लिया ताकि वह भौतिकी और सामग्री विज्ञान के क्षेत्र में अध्ययन कर सकें। हालांकि, 2 दिनों के बाद, उन्होंने स्नातक विद्यालय छोड़ दिया और अपने भाई, किम्बल मस्क के साथ मिलकर, उन्होंने अपनी पहली आईटी कंपनी जिप 2 बनाई.  वह सुबह से देर रात तक  काम किया  करते थे। वह उसी जगह रहते और सोते थे जहां उन्होंने कार्यालय किराए पर लिया था, और नहाने के लिए उन्हें स्थानीय स्टेडियम के लॉकर रूम में जाना पड़ता था। इससे उन्होंने बचत जमा की और कंपनी को पहले दो शुरुआती कठिन वर्षों में टिकाय रखा.

 

उस समय  इंटरनेट में तेजी से विकास हो रहा था. 1999 में सबसे बड़े सर्च इंजन अल्टा विस्टा ने  Zip 2 को $ 307 मिलियन नकद और  34 मिलियन डॉलर सिक्योरिटीज में खरीदा। यह सौदा एक कंपनी को नकदी में  बेचने का एक रिकॉर्ड बन गया ।

1999 में  मस्क ने electronic  payment  systems पर काम करना शुरू किया. एक्स डॉट कॉम स्टार्टअप  उनका  नया  कारोबार बन गया.  मार्च 2000 में,  X.com के  एक प्रतिद्वंद्वी कंपनी Confinity के साथ विलय कर दिया जो पीटर थिएल और मैक्स लेचिन द्वारा चलाई गयी थी.। । 2001 में, विलय के बाद, एक्स डॉट कॉम  का नाम बदलकर PayPal/पेपल रखा गया और एलोन मस्क को पेपल के अध्यक्ष और मुख्य कार्यकारी अधिकारी बना दिया गया

 

अक्टूबर 2002 में, PayPal को Ebay द्वारा  $ 1.5 बिलियन में खरीद लिया गया । बिक्री से पहले, मस्क/ Elon Musk का 11 प्रतिशत पेपैल स्टॉक था।

 

Founder of SpaceX

 

PayPal के बाद मस्क का अगला पड़ाव अंतरिक्ष था.  हालाकिं इन सबके लिए उनके पास फॉर्मल एजुकेशन नहीं थी लेकिन अपनी लगन और मेहनत के जरिये उन्होंने इसका ज्ञान प्राप्त करना शुरू कर दिया. मस्क/ Elon Musk ने अपनी तीसरी कंपनी, स्पेस एक्सप्लोरेशन टेक्नोलॉजीज कॉर्पोरेशन (Space Exploration Technologies Corporation) यानि  SpaceX/ स्पेसएक्स की स्थापना की, जिसमें उनका टार्गेट  commercial space travel के लिए अंतरिक्ष यान का निर्माण करना था और मंगल ग्रह पर मानव बस्ती की स्थापना करना था  ।

 

अब इसमें मुख्य समस्या प्रोजेक्ट पर लगने वाली भारी वितरण लागत थी। मस्क ने Russian Federation   के साथ इसके बारे में चर्चा की, लेकिन यहाँ बात नहीं बन पाई। इसके बाद मस्क अपने reusable launch vehicles  और  spaceships. के आईडिया के साथ दुनियां के सामने आये. उन्होंने अपने खुद के रॉकेट का डिजाईन और निर्माण करना शुरू कर दिया. उनका मुख्य लक्ष्य था की कम लागत में न सिर्फ रॉकेट को ऑर्बिट में पहुचाया जाये बल्कि उसका reuse भी किया जा सके.

2006 से 2008 के बीच , उनके पहले तीन उड़ान के प्रयास विफल रहे। 28 सितंबर 2008 को, चौथे प्रयास के दौरान Falcon 1 अंततः ऑर्बिट में पंहुचा.  यदि चौथा लॉन्च भी विफल होता, तो स्पेसएक्स कभी भी अस्तित्व में नहीं आता.  नासा इन उपलब्धियों से प्रभावित हुआ और अमेरिकी अंतरिक्ष यात्रियों को पृथ्वी की कक्षा से उड़ान भरने के लिए $ 1.6 बिलियन के अनुबंध पर  SpaceX के साथ समझोता  किया

 

Tesla Motors

 

2003 में, इंजिनियर मार्टिन एबरहार्ड और मार्क टेरपिंग ने टेस्ला मोटर्स की स्थापना की थी। शुरुआत से, कंपनी ने खुद को इलेक्ट्रिक वाहनों के पहले सीरियल निर्माता के रूप में स्थापित किया. मस्क ने इन आकांक्षाओं का काफी समर्थन किया

एलन मस्क 2004 में इस प्रोजेक्ट में आये और उन्होंने इस प्रोजेक्ट में $ 70 मिलियन का  निवेश किया। उन्हें बोर्ड ऑफ़ डायरेक्टर का चेयरमैंन बनाया गया. मस्क/ Elon Musk ने अपनी पहली इलेक्ट्रिक कार को डिजाइन करने में एहम योगदान दिया , जो ब्रिटिश लोटस एलिस पर आधारित टेस्ला रोडस्टर स्पोर्ट कार थी

 

जनवरी 2018 तक, मस्क की कुल संपत्ति 20.9 अरब अमेरिकी डॉलर के करीब है,. फोर्ब्स ने अपनी सूचि में मस्क  को दुनिया के 53वें सबसे अमीर व्यक्ति के रूप में पेश किया है।

 

दोस्तों एलन मस्क की जिन्दगी अपने आप में एक प्रेरणा है. उन्होंने उस – उस क्षेत्र में अपना परचम लहराया जिसकी उनके पास फॉर्मल लर्निंग नहीं थी. लेकिन अपनी इच्छा शक्ति और लगन से किताबे पढ़कर उन्होंने अपने ज्ञान के स्तर को उन सीमओं तक पहुचायां जिसका कल्पना भी मुश्किल है. कई विफलातो के बाद भी उन्होंने हार नहीं मानी और अपने सपनो को साकार किया.

 

दोस्तों आपको यह आर्टिकल कैसा लगा हमें जरुर बताएं. और अपने दोस्तों के साथ इसे जरुर शेयर करें. साथ ही हमारे आने वाले सभी आर्टिकल्स को सीधे अपने मेल में पाने के लिए हमें फ्री सब्सक्राइब जरुर करें.

 

यह भी जाने

कैसे बनी एक स्कूल ड्रॉपआउट दुनियां की सबसे अमीर महिला success story in hindi

विक्की रॉय; कूड़ा उठाने से करोड़पति तक motivational story in hindi for success

पतंजलि और रामदेव की सफलता की कहानी patanjali & ramdev success story in hindi

kfc’s colonel sanders – real story behind success in hindi

भारत की पहली महिला ट्रक मकैनिक शांति देवी truck mechanic shanti devi

Enter your email address:

Delivered by FeedBurner

5 Comments

  1. AVINASH AKELA 17/04/2018
  2. manjeet 20/04/2018
  3. anis 25/07/2018
  4. Voguefeed 27/10/2018
  5. Chems tamang 02/11/2018

Leave a Reply