इन्हें खाने से होता है डिप्रेशन 5 Foods That Cause Depression

Foods That May Contribute to Your Depression

एक अच्छा भोजन हमारे शरीर और स्वास्थ्य के लिए सबसे अच्छी दवा के रूप में जाना जाता है; यह हमारे शरीर को आवश्यक पोषक तत्व प्रदान करता है. सही मायने में कहा जाये तो हमारी DIET ही हमारी हेल्थ को तय करती है और हमें शारीरिक और मानसिक रूप से प्रभावित करती है

Dietitian और Nutritionist के अनुसार कुछ खाद्य पदार्थ ऐसे होते है जिनमें हमारी एनर्जी को बढ़ावा देने और हमारे मूड को पंप करने और हमें खुश महसूस रखने की क्षमता होती है। इसी प्रकार, कुछ ऐसे भी foods होते हैं जो हमे पूरी तरह से अवसाद, तनाव और थकान की स्थिति में डाल सकते हैं, क्योंकि ऐसे खाद्य पदार्थ हमारे मस्तिष्क में रसायनों को असंतुलित करते है । ऐसे में हमे इनके बारे में सही जानकारी होनी चाहिए ताकि इनका सेवन कम से कम किया जाये और अपनी मेंटल हेल्थ को स्वस्थ रखा जाये

तो आइये जानते है वो कौन से ऐसे खाद्य पदार्थ है जिनका सेवन ज्यादा मात्रा में नहीं करना चाहिए

 

5 Foods That Cause Depression in hindi

 

High sodium foods – उच्च सोडियम खाद्य पदार्थ

जिन खाने की वस्तुओं में सोडियम की मात्रा ज्यादा पाई जाती है वे आपके मानसिक स्वास्थ्य के लिए परेशानी साबित हो सकते हैं। ऐसे खाद्य पदार्थों में अतिरिक्त सोडियम की उपस्थिति हमारी तंत्रिका तंत्र को बाधित कर सकती है और प्रतिरक्षा प्रणाली को भी प्रभावित कर सकती है जो डिप्रेशन और स्ट्रेस का कारण बनता है. यदि आप depressed या irritated फील नहीं करना चाहते हैं, तो आपको frozen foods, sauces , baked foods आदि की खपत को कम करना चाहिए।

 

Caffeine – कैफीन

विशेषज्ञों के मुताबिक कैफीन की अत्यधिक खपत कॉफी पीने के फायदों से पूरी तरह उलट है। इससे नींद के पैटर्न, चिड़चिड़ापन, उत्तेजना , मूड और एंग्जायटी जैसी समस्याएँ होने की संभावनाएं रहती है. साथ ही यह हमारी मनोदशा को भी प्रभावित करती है जिससे अवसाद हो जाने का खतरा बढता है ।

 

Refined sugar – रिफाइंड शुगर

चीनी चाहे refined हो या artificial यह अवसाद का कारण बन सकती है, क्योंकि चीनी का उच्च सेवन पूरे शरीर में inflammation के स्तर को बढाता है जिससे हमारा मस्तिष्क विपरीत परिस्थितियों में डिप्रेशन के कुछ लक्षण पैदा करता है। इसके अलावा, चीनी हमारे शरीर में ब्लड शुगर लेवल को बढाती हैं, जिसके परिणामस्वरूप हम परेशान, सुस्त और उदास हो जाते हैं। साथ ही इससे sleep disorders जैसी समस्याएँ भी पैदा होती है.

 

Alcohol – अल्कोहल

ज्यादा शराब का सेवन शारीरिक और मानसिक दोनों समस्याएँ पैदा करती है. असल में हमारा केंद्रीय तंत्रिका तंत्र इंद्रियों से information लेता है और उस जानकारी को शरीर के अलग अलग भागो तक पहुचाता है. साथ ही हमारी सोच, समझ, तर्क शक्ति और इमोशन को भी central nervous system कंट्रोल करता है

शराब के लगातार सेवन से यह तंत्र प्रभावित होता है जिससे अवसाद सहित कई तरह के लक्षण देखने को मिलते है.

 

Processed foods

Processed foods जैसे white bread, fried foods ,heavy junk food भी हमारी मेंटल हेल्थ के लिए नुकसानदायक होते है. इनके खाने से रक्त शर्करा का स्तर बढ़ता है जिससे शुरुआत में तो ऊर्जा बढती है, लेकिन लगातार खाने से थकान, मूड imbalance और उदासी जैसी समस्याएँ देखने को मिलती है.

 

ऐसा बिलकुल भी नहीं है की सिर्फ इन्हें खाने सी सीधे डिप्रेशन हो जाता है लेकिन खराब लाइफस्टाइल, बिमारियों या विपरीत परिस्थितियों के साथ इनके लगातार सेवन से अवसाद और अन्य मानसिक रोग पनपने की संभावनाएं बढती  है.

 

तो दोस्तों उम्मीद करते है आपको यह आर्टिकल पसंद आया होगा. अगर आपके कोई सवाल या सुझाव है तो कृपया कमेंट्स के जरिये अपनी बात रखे और हमारे आने वाले सभी आर्टिकल्स को सीधे अपने मेल में पाने के लिए हमें फ्री सब्सक्राइब करे और हमसे जुड़े रहने के किये हमारा फेसबुक पेज like करें.

 

यह भी जाने

ayurvedic treatment for depression in hindi आयुर्वेदिक जड़ी बूटियों के इस्तेमाल से पाए डिप्रेशन से छुटकारा

डिप्रेशन का मनोविज्ञान how to control and cure depression in Hindi

Shocking Facts About Depression In India भारत में डिप्रेशन और आत्महत्याऔ से जुड़े आकडे

Stress and tension Relief Tips in Hindi

Enter your email address:

Delivered by FeedBurner

3 Comments

  1. ANAND 04/09/2018
  2. ayush singh 20/09/2018
  3. shivanh singh 20/09/2018

Leave a Reply