हार्ट अटैक और सडन कार्डिएक अरेस्ट में क्या अंतर होता है

दोस्तो क्या आप जानते है  Heart attack और sudden cardiac arrest में अंतर होता है, हालाँकि ये दोनो ही हृदय से जुड़ी बीमारिया है जो की जानलेवा होती है. लेकिन अक्सर लोग इन दोनो को एक ही समझ लेते है, इस पोस्ट मे हम आपको बतायेंगे की ये दोनो एक नही होते. इन दोनों के बीच के अंतर को समझने के लिये हमें पहले ये समझना होगा की इन दोनो प्रक्रियाओ मे होता क्या है.

दिल का दौरा तब पड़ता है जब दिल मे खून का प्रवाह होना अवरुद्ध हो जाता है, और sudden cardiac arrest तब होता है जब दिल में खराबी हो जाती है और  इसका अचानक अप्रत्याशित रूप से धड़कना रूक जाता है.

 

दिल का दौरा क्या होता है  what is heart attack in hindi?

 

दिल का दौरा तब होता है जब अवरुद्ध धमनी हृदय के एक भाग तक ऑक्सीजन युक्त रक्त को  पहुचने से रोकता है। यदि अवरुद्ध धमनी जल्दी से नहीं खोला जाता है, तो उस धमनी से सामान्य रूप से पोषित हृदय का हिस्सा मरना शुरू हो जाता है। यदि लंबे समय तक कोई व्यक्ति इसका उपचार नही कराता तो उतना ही अधिक वह इसे नुकसान भी पहुचाता है. दिल के दौरे के लक्षण तत्काल और तीव्र हो सकते है, कई बार तो लक्षणों की शुरुआत धीरे धीरे होती है और दिल का दौरा पड़ने से पहले ये लक्षण घंटो, हफ्तों या महीनो तक रह सकते है.

 

सडन कार्डिएक अरेस्ट क्या है What is sudden cardiac arrest in hindi

 

sudden cardiac arrest  मृत्यु होने का एक प्रमुख कारण होता है. इसके ज्यादातर पीड़ितो को चेतावनी के कोई लक्षण भी दिखाई नही देते. व्यक्ति अचानक ही दिल के दौरे से मर जाता है, यह कही भी आ सकता है घर, ऑफिस या किसी दूसरी जगह. sudden cardiac arrest अचानक और अक्सर बिना चेतावनी के आता है, sudden cardiac arrest (SCA) मे हृदय की धडकन अचानक रूक जाती है और काम करना बंद कर देती है. यदि ऐसा होता है, तो रक्त मस्तिष्क और अन्य महत्वपूर्ण अंगों तक पहुँचने से रूक जाता है।  यदि sudden cardiac arrest का इलाज मिनटों मे नही किया जाता तो यह मृत्यु का कारण बन जाता है. sudden cardiac arrest (SCA) को समझने के लिये यह समझना जरूरी है की हृदय कैसे काम करता है,

हृदय का एक इलेक्ट्रिकल सिस्टम होता है जो दिल की धड़कन की दर और लय को नियंत्रित करता है। हृदय के इलेक्ट्रिकल सिस्टम मे परेशानी होने से दिल की धडकन अनियमित हो सकती है जिसे arrhythmias कहते है. Arrhythmias कई प्रकार के होते है. Arrhythmia के दौरान दिल बहुत तेज, बहुत धीमा या अनियमित लय के साथ धड़क सकता है. कुछ arrhythmia के कारण हृदय शरीर को रक्त की पम्पिंग रोक देता है. यह  Arrhythmias ही sudden cardiac arrest (SCA) का कारण है.

 

हार्ट अटैक और सडन कार्डिएक अरेस्ट में लिंक link between Heart attack and sudden cardiac arrest in hindi

 

हृदय से जुड़ी ये दो अलग अलग बीमारियाँ आपस मे जुड़ी हुई है, sudden cardiac arrest (SCA) दिल का दौरा पड़ने के बाद या उससे रिकवरी के दौरान हो सकता है, हार्ट अटैक (दिल का दौरा) sudden cardiac arrest (SCA) के जोखिम को बढ़ा देता है. ज्यादातर हार्ट अटैक्स SCA की तरफ नहीं ले जाते लेकिन हार्ट अटैक SCA का सामान्य कारण हो सकता है. अन्य हृदय संबंधी स्थितिया भी हृदय की लय को बाधित कर सकती है और अचानक कार्डियक अरेस्ट की तरफ ले जा सकती है। जिनमे शामिल है हृदय की विफलता (हार्ट फेलियर), Arrhythmias, ventricular fibrillation, cardiomyopathy आदि.

हालांकि, SCA उन लोगों में भी हो सकता है जो स्वस्थ दिखते हैं और जिन्हे हृदय से संबंधित कोई बिमारी नहीं है।

 

इन लेखो को भी पढ़े

हिस्टीरिया : महिला हिस्टीरिया से मानसिक विकार तक का सफर

जानिए पैनिक डिसऑर्डर क्या होता है

बॉलीवुड की दस हस्तियाँ जो रही है मानसिक बीमारियों का शिकार

contact for web designing

Enter your email address:

Delivered by FeedBurner

2 Comments

  1. Shubham 06/03/2018
  2. Ganesh Godik 10/03/2018

Leave a Reply