जानिए क्या है मनोविज्ञान में करियर की संभावनाए

बदलती जीवनशैली और बढती मेह्त्वकांशाओ के कारण स्ट्रेस और डिप्रेशन बढ़ रहा है जिससे छुटकारा पाने के लिए मनोविज्ञानिक (psychologist) की मदद ली जा रही है. साइकोलॉजिकल ट्रीटमेंट बिना दवाइयों का सेवन किये और सोच में बदलाव लाने पर आधारित होता है. इसके जरिये इंसान की सोच और व्यवहार में बदलाव लाकर उसे एक सही दिशा दी जाती है.

Role of psychologist – मनोविज्ञानिक की भूमिका

पहले मनोविज्ञानिक (psychologist) की भूमिका सिर्फ mental problems (पागलपन) से संबंधित बीमारियों तक समझी जाती थी. आज बनते बिगड़ते रिश्तो, तेजी से पाने की लालसा और बढती आत्महत्याओ के कारण मनोविज्ञानिक (psychologist) की भूमिका और अधिक बढ़ गई है. इसके आलावा परीक्षा के दिनों में छात्रों पर बढ़ रहे तनाव के कारण स्कूलों और colleges में भी साइकोलोजिस्ट की नियुक्ति की जा रही है.

Difference between psychologist and psychiatrist

एक psychiatrist MBBS के जरिये बना एक स्पेशलिस्ट होता है जो थेरेपी के साथ साथ दवाइयां भी दे सकता है जबकि एक साइकोलोजिस्ट बिना दवाइयों के इलाज करता है जिसे थेरेपी या काउन्सलिंग (counseling) कहा जाता है.

व्यवहारिक ज्ञान पर जोर – Focus on practical knowledge

ये कोर्स केवल किताबी ज्ञान पर आधारित नहीं है बल्कि इसमें छात्रों को प्रैक्टिकल नॉलेज भी दी जाती है. इसके लिए छात्रों को इंटर्नशिप (internship) के लिए भेजा जाता है. हर उम्र के लोगो के साथ, बिभिन्न परिस्तिथियों में किस तरह भावनात्मक रूप से जुड़ कर उनकी समस्याओ का समाधान किया जाए यह विशेष रूप से सिखाया जाता है.

मनोविज्ञान में संभावना – opportunities in psychology field

भारत में इस कोर्स की मांग को देखते हुए विशेषज्ञों की मांग काफी कम है. करियर के बेहतरीन संभावनाओ का कारण हाई मैरिट पर इस कोर्स में एडमिशन मिलता है. इसके आलावा छात्र खुद का क्लिनिक सेंटर खोलकर भी काफी पैसा कमा सकते है. मनोविज्ञानिक (psychologist) सरकारी और प्राइवेट हॉस्पिटल्स, क्लीनिको, प्राइवेट इंडस्ट्रीज, रिसर्च आर्गेनाईजेशन, कॉर्पोरेट हाउस और NGO भी नियुक्त किये जाते है.

उपलब्ध कोर्स – available courses in psychology field

BA/BSC IN PSYCHOLOGY – 3 YEARS

BA IN APPLIED PSYCHOLOGY – 3 YEARS

MA/MSC IN PSYCHOLOGY – 2 YEARS

MPHIL IN PSYCHOLOGY – 2 YEARS

आवश्यक गुण – skills for psychologist

एक सफल साइकोलोजिस्ट बनने के लिए अच्छी कम्युनिकेशन स्किल्स (communication skills), धेर्यशील (patience) और सभी उम्र के लोगो के साथ काम करने की कला होनी चाहिए. इसके साथ ही साइकोलोजिस्ट के लिए सवेदंशिलता, आत्मविश्वासी होने के साथ क्लाइंट को संतुष्ट करने की योग्यता भी आवश्यक है.

कहाँ से कर सकते है कोर्स – famous university offer psychology in india

University of Delhi, Delhi

Jamia millia islamia, Delhi

Amity Institute of Psychology and allied Sciences, Noida, Uttar Pradesh

University of Calcutta,

Banaras Hindu University

Government College of Educational Psychology and Guidance, Jabalpur

और अधिक जानकारी के लिए आप हमारी फ्री online counseling टीम से contact कर सकते है .

Related Posts

जानिए कैसे करे करियर का सही चुनाव Career Selection

मनोविज्ञान क्या कहता है

जानिए बच्चो का मनोविज्ञान – child साइकॉलजी


निवेदन ; कृपया इस post को अपने मित्रो के साथ भी शेयर कीजिये और COMMENTS करके बताये की आपको यह post कैसा लगा . आपके COMMENTS हमारे लिए बहुत उपयोगी सिद्ध होंगे. हमारे आने वाले ARTICLES को पाने के लिए नीचे फ्री मे SUBSCRIBE करे।


यदि आप psychology, motivation, inspiration और stories से संबंधित कोई लेख हमारे साथ शेयर करना चाहते है तो आपका स्वागत है. कृपया अपने लेख हमें whatsknowledge2@gmail.com पर भेजें या contact us पर भेजें. हम आपका लेख आपके नाम और फोटो के साथ publish करेंगे.

 

NOTE:We try hard for accuracy and correctness. please tell us If you see something that doesn’t look correct or you have any objection.

8 Comments

  1. Anuj Shukla 03/01/2017
    • suraj 04/01/2017
  2. swati suryawanshi 12/02/2017
    • Prashant Kumar 22/07/2017
  3. manesh gavit 18/07/2017
  4. sachin tannu 02/10/2017
    • whats knowledge 06/10/2017
  5. Lokesh kaushik 09/10/2017

Leave a Reply