जानिये टेस्टोसटेरोन क्या है, इसके कम होने के कारण और टेस्टोसटेरोन का लेवल बढ़ाने के उपाय

टेस्टोसटेरोन एक मेल सेक्स हॉर्मोन है जो शरीर के विकास में सहायक होता है, टेस्टोसटेरोन का निर्माण मानव के अंडकोषो में होता है. यह हॉर्मोन आदमियों में ज्यादा और महिलाओ में कम पाया जाता है. यह हॉर्मोन आदमियों की सेक्स इच्छा को प्रभावित करता है, इसके अलावा यह हॉर्मोन हड्डियों और मांसपेशियों के स्वास्थ्य और विकास, पैरो और चेहरे पर बालो की वृद्धि, शुक्राणु उत्पादन, वीर्य निर्माण के लिए भी आवश्यक है. इस हॉर्मोन के ज्यादा या कम होने के चलते आदमियों पर शारीरिक और मानसिक प्रभाव पड़ता है.

टेस्टोसटेरोन कम होने के कारण और लक्षण

टेस्टोसटेरोन का निर्माण कम होना एक प्रमुख समस्या है और इसके बड़ते मामले चिंता का विषय बनते जा रहे है. testosterone का निर्माण यौवनावस्था में बड़ता है और जैसे जैसे उम्र बड़ती है या 30 वर्ष की उम्र के बाद कम होना शुरू हो जाता है. इसके अलावा तनाव, स्टेरॉयड का इस्तेमाल, अंडकोष में चोट लगना, मोटापा और क्रोनिक बीमारियाँ आदि टेस्टोसटेरोन का लेवल कम करते है. इसके चलते मर्द में कई लक्षण दिखाई देने लगते है, जिनमे सेक्स इच्छा का कम होना, तनाव, कम उर्जा का अनुभव, हड्डियों का कम चौड़ा होना, आत्म विश्वास का कम होना, वजन बढ़ना आदि शामिल है.

कैसे बढ़ाये टेस्टोसटेरोन का लेवल how to increase testosterone levels in hindi

टेस्टोसटेरोन के कम लेवल को hypogonadism कहा जाता है. भविष्य में इससे कोई परेशानी ना हो इसके लिए इसका चिकित्सकीय इलाज करवाया जाता है. डॉक्टर द्वारा दी गयी दवाओ के साथ ही साथ टेस्टोसटेरोन बढ़ाने वाले फूड्स, कसरत और योगा से भी इसका लेवल बढाया जा सकता है. हाई वेट उठाना काफी लाभिकारी साबित होगा. testosterone बढ़ाने के लिए आपको अच्छा खाना पीना और व्यायाम करना जरूरी होता है. अपने भोजन में विटामिन डी, मैग्नीशियम और जिंक लेना उपयोगी होता है. टेस्टोसटेरोन बढ़ाने के लिए कसरत (वेट लिफ्टिंग)और अच्छा खान पान बहुत फायदेमंद है साथ ही साथ आपको तनाव करना, धुम्रपान, नशा करना भी छोडना होगा और कम से कम आठ घंटे की नींद भी लेनी होगी जो की टेस्टोसटेरोन की वृद्धि करने में सहायक होगा. testosterone के स्तर को बढ़ाने के लिए शुगर का इस्तेमाल भी कम से कम करना होगा.

टेस्टोसटेरोन बढ़ाने वाले टॉप फ़ूड

 

अंडे की जर्दी या पीला हिस्सा (egg yolk)

अंडे की जर्दी विटामिन डी का अच्छा स्त्रोत होता है, इसमें काफी पोषक तत्व होते है. इसका कोलेस्ट्रोल कम टेस्टोसटेरोन में मदद करता है. जिन लोगो को कोलेस्ट्रोल की दिक्कत नहीं है वो दिन में एक बार इसका सेवन कर सकते है.

मोनो सैचुरेटेड और पोली अनसैचुरेटेड फैट्स का सेवन करे

ये गुड फैट्स होते है. यह शरीर में सेक्स हॉर्मोन के स्तर को बढ़ाता है, इसके स्त्रोत है ऑलिव ऑयल, बादाम, काजू, पीनट ऑयल (peanut oil), पीनट बटर, मछली, एवोकाडो आदि.

टूना मछली और दूध का सेवन

इनमें काफी विटामिन डी होता है, ये testosterone बढ़ाने में मददगार होता है.

मिनरल्स का इस्तेमाल

loading...

जिंक और मैग्नेशियम जैसे मिनरल्स सेक्स हॉर्मोन के स्तर को बढ़ाने में काफी सहायक होते है. इनके स्त्रोत है दूध, दही, मीट, मछली, चीज. बीन्स, पालक आदि.

 

Leave a Reply