जानिए क्या है कौंच बीज पाउडर के फायदे Kaunch Beej benefits in hindi

कौंच को किवांच, कपिकच्छु, वेलवेट बीन के नाम से भी जाना जाता है, इसका वैज्ञानिक नाम म्यूकुना प्रुरियन्स (mucuna pruriens) है. यह आयुर्वेद की बहुत प्रसिद्ध जड़ी बूटी है जिसके कई लाभ है. इस दवा का प्रयोग प्राचीन काल से ही चला आ रहा है. कौंच/Kaunch के बीजो का  प्रयोग सेक्सुअल और न्यूरोलॉजिकल विकारो को दूर करने के लिये भी किया जाता है..

इसके बीजो, पत्तियों और जड़ो जैसे भागो का प्रयोग दवा के रूप में किया जाता है. इसका प्रयोग थकान दूर करने. यौन इच्छा की कमी. इरेकशन  डिसफंक्शन, पीठ दर्द, नसो का दर्द, शरीर दर्द, वजन बढ़ाने, शक्ति बढ़ाने, इम्युनिटी सुधारने और कई तरह की बीमारियों के इलाज मे किया जाता है.

 

कौंच बीज पाउडर के लाभ mucuna pruriens/ Kaunch Beej powder benefits in hindi

 

कौंच बीज/Kaunch Beej महिलाओ और पुरुषो मे काम की इच्छा अर्थात सेक्स ड्राइव बढाता है. यह दोनो की प्रजनन प्रणालियों को पुनर्जीवित करता है.

 

 

जिन लोगो को समय से पहले स्खलन (premature ejaculation) और इरेक्टाइल  डिसफंक्शन की समस्या होती है उनके लिये ये लाभदायक होता है.

 

 

कौंच बीज/Kaunch Beej का पाउडर शुक्राणु बढ़ाने में भी उपयोगी है. यह पुरुष बांझपन (male infertility) को दूर करता है.

 

 

इसके अलावा ये पेट गैस और जोड़ो के दर्द को दूर करने, कोलेस्ट्रॉल और मधुमेह के रोगियो के लिये भी लाभदायक है.

 

 

कौंच बीज/Kaunch Beej का पाउडर हमारे प्रतिरक्षा तंत्र को मजबूत करता है.

 

 

कौंच बीज के उपर किये गये अध्यनो से ये बात सामने आई है की ये डिप्रेशन और तनाव को कम करने मे भी उपयोगी है.

 

 

इसमे एंटी डिप्रेशन जैसे गुण मौजूद है.

 

 

यह हमारी बॉडी डेनसिटी को भी बढाता है.

 

 

पार्किंसंस रोग के उपचार में कौंच बीज पाउडर का प्रयोग किया जाता है। इसके बीज में एल-डोपा होता है, जो कि मस्तिष्क में डोपामाइन के स्तर को बढ़ाता है। हालांकि, केवल एल-डोपा ही नहीं कौंच बीज में मौजूद अन्य घटक भी पार्किंसंस रोग के उपचार में लाभदायक होते है, जो न्यूरोप्रोटेक्टीव के रूप में कार्य करते हैं और पार्किंसंस रोग के लक्षणों को कम करते हैं.

 

 

कौंच बीज एक स्वस्थ तंत्रिका तंत्र के निर्माण मे सहायक है

 

 

कौंच बीज त्रिदोष मूल के विकारों में उपयोगी होते हैं जिनमे वात, पित्त और कफ शामिल हैं. यह वात और पित्त को संतुलित करता है। यह जड़ी बूटी उर्जा प्रदान करती है, मांसपेशियों और  शरीर का वजन बढाती है और यह कफ को भी बढ़ा सकती है।

 

 

कौंच बीज/Kaunch Beej शरीर के पाचन प्रणाली को भी सुधारता है और स्वस्थ ब्लड शुगर लेवल मे समर्थन करता है.

 

 

कौंच के बीजो का सेवन कैसे करे और क्या है इसके साइड इफेक्ट्स – how to consume kaunch beej in hindi

 

अब सवाल ये है की कौंच बीज पाउडर का इस्तेमाल कब और कैसे किया जाए. कौंच बीज को लेने की मात्रा आपके  कारणों के हिसाब से अलग अलग हो सकती है.

 

  • कौंच बीज पाउडर – इसे 2 से 6 ग्राम दिन मे दो बार गुनगुने पानी या गर्म दूध मे खाली पेट या दूध के साथ लिया जा सकता है.

 

 

  • जिन लोगो को सेक्स संबंधी शिकायत होती है उन्हें कौंच बीज के पाउडर के साथ सफेद मूसली और अश्वगंधा के पाउडर को मिलाकर सेवन करने की सलाह भी दी जाती है.

 

दोस्तों उम्मीद करते है कौंच के बीजो के बारे में यह जानकारी आपके लिए फायदेमंद साबित होगी. अगर आपके कोई सवाल या सुझाव है तो कृपया कमेंट बॉक्स के जरिये अपनी बात रखें और हमारे आने  वाले सभी आर्टिकल्स को सीधे अपने मेल में पाने के लिए हमें फ्री सब्सक्राइब जरुर करें.

 

यह भी जाने

ashwgandha shatawari-ताकत की आयुर्वेदिक जड़ी-बूटियाँ से बढ़ाये वजन

कमजोरी दुबलेपन यौन समस्याओ का इलाज है सफ़ेद मूसली

अरंडी के तेल के फायदे – Benefits of castor oil in hindi

अश्वगंधा से वजन कैसे बढ़ाये

ऐसी पाए एकदम चमकती त्वचा Tips for Glowing Skin in hindi

Enter your email address:

Delivered by FeedBurner

9 Comments

  1. Avanish Kumar Singh 10/03/2018
  2. Shoaib 14/05/2018
  3. Sumit 25/05/2018
  4. amit 05/06/2018
  5. सुहेल 22/06/2018
  6. Amit 21/07/2018
  7. Umar 01/08/2018
  8. Sonu khangar 28/08/2018
  9. Kishor 17/09/2018

Leave a Reply