learning is necessary-आगे बढ़ना है तो सीखना जरूरी है

दोस्तों आज हम आपको बतायेंगे की जीवन में सीखना (learning) जरूरी है. आज का हर सफल इंसान अगर सफल है तो सिर्फ अपनी कल की learning के कारण. learning जो हमें अनुभव (experience) देती है, learning जो हमें अनुभवो से होती है, ये अनुभव अपने या दुसरो के हो सकते है. सीखना (learning) जरूरी है कामयाबी (success) के लिए, सीखने (learning) की कोई उम्र नहीं होती, जो व्यक्ति सीखने में विश्वास रखता है वो गलतिया कम करता है और उसकी सफलता के अवसर भी ज्यादा होते है, इसी बात को हम एक कहानी के द्वारा समझने की कोशिश करते है.

 

एक बार की बात है दो अंजान व्यक्ति एक ही शहर से पैसे कमाने आये थे, दोनो ने अपना अपना काम शुरू किया दोनो का व्यापार खूब चला एक समय पे दोनो ने तरक्की कर ली पहले व्यक्ति ने सोचा अब तो मेरा व्यापार चल पड़ा है अब मैं तरक्की करता चला जाऊंगा पर व्यापार में उतार चढ़ाव तो आते है बस उस के साथ भी यही हुआ उस साल व्यापार में इतने उतार चढ़ाव की साल के अंत में उसे नुकसान झेलना पडा पर वही दूसरे व्यक्ति के व्यापार में भी उतार चढ़ाव आये पर उसे नुकसान का सामना नही करना पड़ा पहले व्यक्ति ने सोचा मैं उस से ज्यादा अनुभवी हूँ फिर भी वो मुझ से ज्यादा कामयाब है उस ने बहुत सोचने के बाद उस व्यक्ति से पूछने की सोची। जब वो उस व्यक्ति की पास पहुचा तो उस का सत्कार देखकर हैरान हो गया पहले व्यक्ति ने दूसरे व्यक्ति को अपनी पूरी बात बताई की अनुभवी होने के बाद भी वो कामयाब नही है पर तुम कम अनुभव के साथ भी कामयाब हो कैसे तो दूसने व्यक्ति ने जवाब दिया मैं अभी सिख रहा हूँ, पहले व्यक्ति ने कहा मैं कुछ समझा नही मुझे ठीक से समझाओ, दूसरे व्यक्ति ने जवाब दिया की मैं अपनी ही नही दुसरो की गलती और कामयाबी से भी सीखता हु जिससे मुझे अपनी जिंदगी में एक जैसी परेशानी बार बार नही आती अगर आती भी है तो आसानी से हल हो जाती है। तब उस व्यापारी को अपनी गलती आ अहसास हुआ और उस ने एक नई शुरुआत करी और कामयाबी की और बढ़ता चला गया MORAL OF THE STORY इंसान को हमेशा सीखते (learn) रहना चाहिए, इस से उस का रवैया अच्छा बना रहता है, उस में बदलाव आता है और वो तरक्की की सीढ़ियां चढ़ता रहता है.

सबसे जरूरी बात – learning in hindi

यहाँ हमें सीख मिलती है की आगे बढ़ना है तो सीखना जरूरी है. साथ ही यह सीख की भी जहाँ अहंकार खत्म हो जाता है वही से सफलता मिलनी भी शुरू हो जाती है. इस बात को हम अनुभवी व्यक्ति के रवैये (attitude) से समझ सकते है जब वह अपनी नाकामयाबी के बाद बिना शर्म और हिचकाये सलाह लेने के लिए अपने से कम अनुभवी व्यक्ति के पास जाता है. कहने का मतलब ये है की अगर आप competition में है और सीख (learn) कर रहे है तो सबसे बढ़ी सीख होगी अपना अहंकार खत्म करना.

 

related posts भी जरूर पढ़े

Stories in hindi – जिन्दगी में अनुभव और आत्मज्ञान का महत्व – click here for read

किस्मत बदलने के लिए सबसे जरूरी क्या है – kaise badle apni kismat – click here for read

तूफान से मंजिल तक – how to achieve Goals in hindi – click here for read

 


आपको ये लेख कैसा लगा अपने comments के द्वारा हमें जरूर बताये. इस लेख को अपने मित्रो के साथ शेयर करे. आगे के लेख प्राप्त करने के लिए हमें subscribe करे जो की फ्री है.


 

4 Comments

  1. akash kumar 01/12/2016
  2. yathartha 01/12/2016
  3. upasna gour 19/12/2016

Leave a Reply