क्या होती है समलैंगिकता और क्या है इसका मनोविज्ञान LGBTQ in hindi

हाल ही में सुप्रीम कोर्ट ने आईपीसी की धारा 377  के एक हिस्से को अपराध की श्रेणी से बाहर कर दिया जिसमे समलैंगिकता को अपराध के रूप में देखा जाता था. आईपीसी की धारा-377 के मुताबिक़, अगर 2 लोग आपसी सहमति या असहमति से अप्राकृतिक रूप से यौन संबंध बनाते है तो दोषी क़रार दिए जाने पर उन्हें उम्रक़ैद से लेकर दस साल तक की सजा हो सकती थी.

समलैंगिक (होमोसेक्शुअल) वे महिलाये या पुरुष होते है जो सामान लिंग के प्रति आकर्षित होते है.  इन्हें LGBTQ  की श्रेणी रखा गया है.  तो दोस्तों आज इस इस आर्टिकल में हम आपको बताएँगे की LGBTQ  का क्या मतलब होता है और क्यों समलैंगिकता अपराध या कोई बीमारी नहीं है.

 

समलैंगिकता – क्या, क्यों और कैसे

LGBTQ  क्या है – LGBTQ  in hindi

 

LGBTQ  lesbian,  gay, bisexual , transgender और queer से मिलकर बना एक शब्द है। इस शब्द में “एलजीबी” sexual orientation को दर्शाता है। sexual orientation हमारे भावनात्मक, रोमांटिक और यौन आकर्षण का स्थायी पैटर्न है।

 

Lesbian

Lesbian समलैंगिक यानि homosexual महिलाओ को कहा जाता है. Lesbian महिलाओ और लड़कियां का आकर्षण सिर्फ महिलाओ के प्रति होता है. लेस्बियन महिलाएं पार्टनर के रूप में किसी महिला को चुनना पसंद करती है और उन्ही के साथ रोमांटिक या सेक्सुअल  संबंध बनाने में उन्हें संतुष्टि मिलती है.

 

Gay

Gay homosexual यानि समलैंगिक पुरुषो को कहा जाता है. ऐसे पुरुषो का सेक्सुअल और इमोशनल अट्रैक्शन किसी दुसरे पुरुष के प्रति होता है. सीधे शब्दों में कहे तो “गे” वे आदमी होते है जिनको प्यार किसी लड़की से नहीं बल्कि किसी लड़के से होता है.  ऐसे में पार्टनर के रूप में वे सिर्फ उसी व्यक्ति को चाहते है.

.

Bisexual

Bisexual वे लोग होते है जिनका रोमांटिक और यौन आकर्षण पुरुषों और महिलाओं दोनों के प्रति होता है. ऐसे लोगो में लडको और लडकियों दोनों के लिए feelings हो सकती है और दोनों में से किसी के साथ भी योंन संबंध बनाने में संतुष्टि मिल सकती है.

बाईसेक्सुअल एक आदमी भी हो सकता है और एक औरत भी.

 

Transgender

ट्रांसजेंडर’ वह लोग होते है  जिनका शरीर जन्म के समय कुछ और था और जैसे जैसे उनकी उम्र बढती है वह खुद को एकदम उलट महसूस करते है. उदहारण के तौर पर जन्म होने के समय किसी बच्चे के निजी अंग (Genitals) लडकियों के थे जिसके आधार पर उसे लड़की  माना गया. लेकिन  जैसे जैसे समय बढ़ता गया उसने खुद को अच्छे से समझा और पाया कि वो लड़के जैसा महसूस करती हैं, यानी वो ‘ट्रांसजेंडर’ हैं.

Transgender के २ रूप होते है – Trans man और Trans woman

ऐसी महिलाये जिनकी पहचान जन्म के समय पुरुष के रूप में होती है उन्हें Trans woman कहते है और

वे पुरुष जिनके पहचान जन्म के समय लड़की के रूप में होते है उन्हें Trans man कहते है.

 

कई ट्रांसजेंडर लोगों को लिंग डिसफोरिया का अनुभव होता है  और कुछ हार्मोन रिप्लेसमेंट थेरेपी,  सेक्स रीएसाइनमेंट सर्जरी जैसे चिकित्सा उपचार की सहायता से अपना gender परिवर्तन करवा लेते है. इन्हें Transsexual कहा जाता है.

भारत में Transgenders के लिए हिजड़ा या किन्नर शब्द का प्रयोग किया जाता है. हालाकिं ये पूरी तरह सही नहीं है क्योकि सभी किन्नर ट्रांसजेंडर हो सकते है लेकिन सभी ट्रांसजेंडर किन्नर नहीं होते.

ट्रांसजेंडर लोगो में सामान लिंग या विपरीत लिंग के प्रति आकर्षण हो सकता है और उसी के आधार पर वे heterosexual, homosexual, bisexual या asexual हो सकते है.

 

Queer

Queer को “question mark” या “questioning” के रूप में भी देखा जाता है क्योकि ऐसे लोगो को अपने gender की पहचान नहीं पाती. ऐसे लोग अपने अपने आपको  male, female या transgender के रूप में भी नहीं देख पाते. और न ही अपने sexual orientation को पहचान पाते है.

 

क्या समलैंगिकता कोई बीमारी है?

 

मनोविज्ञानिको के अनुसार lesbian,  gay, bisexual  या transgender कोई बीमारी नहीं है. अब तक ऐसे कोई प्रमाण नहीं मिले जो यह साबित कर पाए की समलैंगिकता किसी समस्या के कारण होती है.

पहले मनोचिकित्सको द्वारा समलैंगिकता को मानसिक विकृति और हॉर्मोन की गड़बड़ी के  रूप में देखा जाता था. लेकिन आधुनिक मनोविज्ञानिको ये यह स्पष्ट किया की Homosexuality किसी प्रकार का विकार नहीं है. यह कुदरती है इसलिए इसका कोई इलाज संभव नहीं है.

इसलिए अगर आपको, आपके दोस्त या परिवार में किसी को यह समस्या है तो इस बारे में उनसे खुल के बात करे और उनको समझे ताकि उन्हें अकेलेपन, डर और अवसाद से बचाया जा सके.

 

तो दोस्तों उम्मीद करते है यह जानकारी आपके लिए फायदेमंद साबित होगी. इसे अपने दोस्तों के साथ जरुर शेयर करें. अगर आपके कोई सवाल या सुझाव है तो कृपया कमेंट्स के माध्यम से अपनी बात रखे और हमारे आने वाले सभी आर्टिकल्स को सीधे अपने मेल में पाने के लिए हमें फ्री सब्सक्राइब जरुर करें.

 

SUBSCRIBE OUR YOUTUBE CHANNEL MANOCHETNA FOR MORE USEFUL INFORMATION

 

यह भी जाने

जानिए क्यों होती है मानसिक समस्याएँ causes of mental disorder in hindi

जानिए Multiple Personality Disorder के बारे में

ऑब्सेसिव कंपल्सिव डिसऑर्डर के कारण, लक्षण और इलाज obsessive compulsive disorder in hindi

जानिए शेयर्ड सायकोटिक डिसऑर्डर के बारे में

Enter your email address:

Delivered by FeedBurner

One Response

  1. Dreams Digital 14/09/2018

Leave a Reply