जानिए कौन सा parenting style आपके बच्चो के लिए सबसे ज्यादा फायेदेमंद है

आपका parenting style काफी हद तक आपके बच्चे के आज और आने वाले कल को प्रभावित करता है.  माता पिता कैसे अपने बच्चो की परवरिश करते है, काफी हद उनके बीच के संबंधो को तय करता है. हर पेरेंट्स चाहते है की उनके बच्चे हमेशा खुश रहे और तरक्की करे. इसके लिए कई माता पिता अपने बच्चो के साथ कुछ ज्यादा की सख्त हो जाते है तो कई कुछ ज्यादा ही नर्म. मनोविज्ञानिको के अनुसार एक अच्छा और प्रभावी पेरेंटिंग स्टाइल स्वाभाविक रूप से नहीं आता और, एक अच्छे माता पिता बनने के लिए आपको प्रभावी पेरेंटिंग शैली का पता होना भी जरुरी है।

 

कौन सा parenting style आपके बच्चो के लिए सबसे ज्यादा फायेदेमंद है -parenting skills in hindi

Types of parenting style in hindi

 

Authoritarian parenting style

Authoritarian parenting style को strict parenting भी कहा जाता है. Authoritarian parents हमेशा मानते हैं कि बच्चों को बिना किसी शर्त उनका कहना मानना चाहिए। ऐसे माता पिता बच्चों को problem-solving challenges  में शामिल होने की अनुमति नहीं देते हैं। इसके बजाय, वे नियम बनाते हैं और अपने बच्चो को उसी के अनुसार काम करने के लिए प्रेरित करते है. साथ ही बच्चो की राय या सुझाव का उतना महत्व नहीं दिया जाता.

Authoritarian parents’ अनुशासन के बजाय दंड का उपयोग करते हैं. इसलिए वे बच्चो को गलती से सिखने की बजाय गलती की सजा या सबक पर ज्यादा जोर देते है. ऐसे में  माता-पिता और बच्चे के बीच खुली बातचीत नहीं होती.

मनोविज्ञानिको के अनुसार ऐसे parenting style में बच्चो में  low self-confidence होने की संभावना रहती  हैं. साथ ही ऐसे बच्चे शर्मीले होने के साथ साथ खुद को असुरक्षित, भयभीत भी महसूस करते है. इस कारण कई बार ये पढाई लिखाई या अन्य क्षेत्रों में पीछे रहते है

 

 

Permissive parenting

Permissive parent अपने बच्चो के लिए बहुत कम नियम और सीमाएं निर्धारित करते है. ऐसे  माता-पिता दयालु किस्म के होते हैं जो अपने बच्चों को ना कहना या निराश करना पसंद नहीं करते.

ऐसे माता पिता आमतौर पर एक अभिभावक की भूमिका की तुलना में एक दोस्त की भूमिका पर अधिक जोर देते हैं। वे अक्सर अपने बच्चों को उनकी समस्याओं के बारे में उनसे बात करने के लिए प्रोत्साहित करते हैं, लेकिन कभी कभी  वे अपने बच्चो के गलत विकल्पों या खराब व्यवहार को रोकने में ज्यादा प्रयास नहीं करते । इस कारण बच्चो में अनुशासन और नियंत्रण की कमी देखने को मिलती है. बड़े होने पर ऐसे बच्चो में अहंकारी प्रवृत्तियों देखने को मिलती है.

मनोविज्ञानिको के अनुसार माता पिता का बच्चो के साथ फ्रेंडली होना जरुरी है लेकिन उनके लिए यह महत्वपूर्ण है कि वे अपने बच्चो के लिए कुछ सीमाएं और नियम निर्धारित करें, ताकि बच्चे अपने responsibility समझ सके.

 

 

Authoritative Parenting

मनोविज्ञान के अनुसार सामान्य बच्चों के लिए Authoritative पेरेंटिंग को सबसे अधिक प्रभावी और लाभकारी पेरेंटिंग शैली माना जाता है। Authoritarian parents’ की तरह, authoritative parents भी स्पष्ट नियम बनाते हैं। लेकिन वे नियमों में कुछ छुट की अनुमति भी देते हैं।

ऐसे माता-पिता अक्सर तार्किक परिणामों का उपयोग करते हैं, जो जीवन के सबक सिखाते हैं। वे बच्चो के गलत व्यवहार को रोकने और अच्छे व्यवहार को सुदृढ़ करने के लिए सकारात्मक अनुशासन का उपयोग करते हैं। इसलिए ऐसे पेरेंट्स अपने बच्चो के गलत व्यवहार पर उन्हें डांटते तो है साथ ही अच्छे व्यवहार की प्रशंसा भी करते है. इस प्रकार की पेरेंटिंग शैली की सबसे अच्छी विशेषता है  माता पिता और बच्चो के बीच खुली बातचीत ।

ऐसे अभिभावक अपने बच्चो को बिना फटकार लगाये उनके फैसले सुनते है और  उनके बोलने की क्षमता को बढ़ावा देते है, जिससे बच्चो की  समझ बढती है. इस प्रकार की पेरेंटिंग एक बढ़ते बच्चे के लिए स्वास्थ्यप्रद वातावरण बनाती है, और माता-पिता और बच्चे के बीच एक सकरात्मक  संबंध को बढ़ावा देने में मदद बनाती है।

मनोविज्ञानिको के अनुसार ऐसे parenting style में पले बच्चे खुश और सफल होते हैं. साथ ही उनकी निर्णय लेने और जोखिमों का मूल्यांकन करने की क्षमता अच्छी होती है. ऐसे बच्चे अधिक जिम्मेदार वयस्क बनने की संभावना रखते हैं, जो अपनी राय व्यक्त करने में सहज महसूस करते हैं।

 

 

Neglectful Parenting

Neglectful parenting सबसे हानिकारक परेंटिंग स्टाइल्स में से एक है. Neglectful parents  अपने बच्चो के लिए किसी भी तरह की  सीमाएं या नियम निर्धारित नहीं करते. वे अपने बच्चों की जरूरतों के प्रति भी कोई उतरदायित्व नहीं रखते. ऐसे पेरेंट्स  बच्चों की बुनियादी जरूरतों को पूरा करने में भी अपना योगदान नहीं देते. इस प्रकार के माता-पिता कई बार खुद कई तरह की परेशानियों जैसे अवसाद, शोषण, mental health issues से पीड़ित होते है. इस कारण बच्चों को ज्यादा मार्गदर्शन, पोषण और माता-पिता का ध्यान नहीं मिल पाता।

 

ऐसे बच्चों में आत्मसम्मान और आत्म विश्वास की भावना कम होती है। साथ ही यह पढाई लिखाई  में भी  खराब प्रदर्शन करते हैं. अक्सर ये कई तरह की behavior problems से भी परेशान रहते है

कई तरह के अध्ययन से, शोधकर्ताओं ने पाया कि authoritative parenting  बच्चों के लिए सबसे ज्यादा लाभकारी है। इसलिए मनोवैज्ञानिकों और मनोचिकित्सकों द्वारा आधिकारिक पेरेंटिंग शैली को सर्वोत्तम और सबसे प्रभावी पेरेंटिंग शैली माना जाता है।

 

इंग्लिश में पढने के लिए यहाँ क्लिक करें click here

 

दोस्तों उम्मीद करते है आपको यह आर्टिकल पसंद आया होगा. अगर आपके कोई सवाल या सुझाव है तो कृपया कमेंट्स के माध्यम से अपनी बात रखे. साथ ही इस आर्टिकल को शेयर करना न भूले और हमारे आने वाले सभी articles को सीधे अपने मेल में पाने के लिए हमें free subscribe जरुर करें.

 

यह भी जाने

कैसे करे बच्चो की समस्याओं का समाधान Parenting Tips for Teenagers in Hindi

जानिए बच्चो का मनोविज्ञान – child साइकॉलजी

Attachment ; the emotional connection between a children and parents

MANAGEMENT OF EXAMINATION STRESS – परीक्षा के समय कैसे करे दिमाग को तैयार

Leave a Reply