जानिये प्रोटीन और अमीनो एसिड्स के बारे में महत्वपूर्ण जानकारी

हमारे शरीर को कार्बोहायड्रेट, फैट के अलावा प्रोटीन की बहुत आवश्यकता होती है. प्रोटीन हमारे शरीर के विकास लिए बहुत आवश्यक है, हमारे शरीर के हर हिस्से जैसे बाल खून मांसपेशियों, स्किन और नाखूनों में protein होता है. पानी के बाद यह दूसरा महत्वपूर्ण पोषक तत्व है जो हमारे शरीर में पाया जाता है.

प्रोटीन के कार्य और फायदे – benefits and works of protein in hindi

प्रोटीन हमारी माँसपेशियो (muscles) को मजबूती प्रदान करता है और हड्डियों, खून और स्किन के विकास में मदद करता है , उत्तको की मरम्मत (tissue repair)करने और dead cells के स्थान पर नयी कोशिकाओ (cells) को बनाने में में शरीर की साहयता करता है, थकावट दूर करने, शरीर को उर्जा प्रदान करने, बीमारियों से लड़ने, शरीर की वृद्धि और विकास में, घावों और चोटो से जल्दी उबरने जैसे कामो में प्रोटीन मदद करता है.

 

प्रोटीन क्या है – what is protein in hindi

प्रोटीन छोटे यौगिको (small compounds) जिन्हें अमीनों एसिड्स (amino acids) कहते है से बना होता है. जब प्रोटीन हमारे शरीर के अन्दर जाकर पच कर टूटते है तब अमीनो एसिड्स बचते है. हमारी प्रकृति में सौ अमीनों एसिड्स मौजूद है लेकिन हमारा शरीर उनमे से केवल 22 अमीनो एसिड्स का ही प्रयोग कर सकता है. मानव का शरीर इनमे से 9 आवश्यक अमीनो एसिड्स को छोड़ कर सभी amino acids खुद बना सकता है. 9 आवश्यक अमीनो एसिड्स को भोजन द्वारा प्राप्त किया जाता है.

अमीनो एसिड्स को तीन ग्रुप में बांटा गया है

आवश्यक अमीनो एसिड्स (essential amino acids)- इन्हें भोजन द्वारा ग्रहण किया जाता है. इनमे
histidine, isoleucine, leucine, lysine, threonine, valine, methionine, phenylalanine,tryptophan आदि अमीनो एसिड्स शामिल है.

nonessential amino acids

इन अमीनो एसिड्स को हमारा शरीर पैदा करता है इनमे alanine, asparagine, aspartic acid, and glutamic acid आदि अमीनो एसिड्स शामिल है.

conditional amino acids

यह भी आवश्यक अमीनो एसिड्स नहीं है. ये बीमारी और तनाव में काम आते है, इनमे arginine, cysteine, glutamine, proline,serine, tyrosine, glycine and ornithine आदि शामिल है

complete or incomplete protein

complete protein (whole protein)

जिन प्रोटीन के स्त्रोतों में सभी (essential amino acids) आवश्यक अमीनो एसिड्स मौजूद होते है उन्हें complete protein कहा जाता है.

incomplete protein

जिन प्रोटीन के स्त्रोतों में केवल कुछ (essential amino acids) आवश्यक अमीनो एसिड्स मौजूद होते है उन्हें incomplete protein कहा जाता है.

 

complete protein के स्त्रोत

 

प्रोटीन के वो स्त्रोत जिन्हें जानवरो से प्राप्त किया जाता है उनमे complete protein यानि सभी आवश्यक अमीनो एसिड्स पाये जाते है.
जैसे मीट, अंडे, मछली, समुंद्र से प्राप्त भोजन (seafood), डेरी प्रोडक्ट जैसे दूध दही, चीज
इसके अलावा complete protein के स्त्रोतों को कुछ प्लांट्स फूड से भी प्राप्त किया जाता है. इनमे soy protein, अनाज (grains) आदि शामिल है.

incomplete protein के स्त्रोत

इन स्त्रोतों को प्लांट्स फूड से प्राप्त किया जाता है, इनमे ज्यादा अनाज (grains), नट्स (nuts), मटर (pea), बीन्स (beans), चने (chickpeas), बीज (seeds), फलिया (legumes) आदि शामिल है.

 

complementary proteins

ये वो प्रोटीन होते है जिन्हें incomplete proteins के स्त्रोतों के साथ लेने से सभी आवश्यक अमीनो एसिड्स प्रदान करते है.
उदाहरण –
अनाज (grains) और फलिया (legumes)
चावल (brown rice) और बीन्स (beans)
मक्खन (peanut butter) और ब्रेड ( whole grain bread)
बीज (seeds) and (nuts)

 

व्यक्ति को एक दिन में प्रोटीन की कितनी मात्रा लेनी चाहिए.

  • एक पुरुष को एक दिन में कम से कम 55 ग्राम प्रोटीन लेना चाहिए जबकि महिलाओ के लो कम से कम 46 ग्राम प्रोटीन लेना चाहिए.

मांसपेशियों (muscles) के विकास और मरम्मत में कौन से अमीनो एसिड्स मुख्य है

  • leucine, isoleucine और valine नामक अमीनो एसिड्स muscles के विकास और मरम्मत में मुख्य भूमिका निभाते है.

 

इसके अलावा आप ये लेख भी पढ़िए

जानिए Vitamin B Complex की कमी से आपके स्वास्थ्य को क्या खतरे हैं

loading...

कैसे रखे अपने आप को एकदम फिट

 

Leave a Reply