शाहरुख खान की फिल्म डियर जिंदगी की कहानी – सफलता की मंजिल का चुनाव

दोस्तों हम आपके साथ एक छोटी सी कहानी शेयर करने जा रहे है , ये कहानी shahrukh khan और alia bhatt की फिल्म dear zindagi में shahrukh khan ने alia को तब सुनाई जब आल्या को अपनी एक परेशानी का इलाज चाहिए था. ये परेशानी थी सफलता के लिए मुश्किल या आसान राह चुनने की. शाहरुख खान इस फिल्म में एक मनोवैज्ञानिक डॉक्टर की भूमिका में है. आल्या के सवाल का जवाब शाहरुख खान ने एक छोटी सी कहानी सुनाकर दिया.

किसी भी चढाई को चढ़ने से पहले पूरी जानकारी पूरी तैयारी होना पर्वतारोही (mount climber) के लिए बहुत जरूरी होता है , लेकिन प्यारेलाल (शाहरुख खान के दादा के दोस्त) ऐसा नहीं करते थे. माउंट क्लाइम्बिंग (पर्वता रोहण) का उन्हें भी बहुत शौक था. प्यारे लाल की जिंदगी का ख्वाब था मुश्किल से मुश्किल पहाड़ चढ़ना जैसे की माउंट एवेरेस्ट, आखिर एक दिन उन्हें माउंट एवेरेस्ट चढ़ने का मौका मिल ही गया एक चाईनीज ग्रुप के साथ, प्यारे लाल जी ने ना सोचा ना समझा ना तैयारी की और फट से निकल पढ़े, लेकिन चढ़ाई का ग्रुप चाईनीज था, ये चीन के लोग अपनी जुबान में बात करते थे और इन्हें इंग्लिश बोलना नहीं आता था, चढ़ाई शुरू हो गयी, चढाई का ग्रुप धीरे धीरे पहाड़ पर चढ़ने लगा, लेकिन प्यारे लाल जी पुरे जोश में आगे बढ़ते गए और सबसे आगे निकल गए, पीछे से चाईनीज लोग हाथ हिलाकर बोलने लगे आगे मत जाओ-आगे मत जाओ, हट आओ-हट आओ, प्यारे लाल जी को लगा वो बोल रहे है आगे बढ़े जाओ-आगे बढ़े जाओ वो दूर आगे निकल गए, चीनी लोग चिल्लाते रहे हट आओ-हट आओ, अचानक प्यारे लाल जी के सामने एक घूरता घुराता snow leopord (तेंदुआ) आ गया. प्यारे लाल जी ये देख कर डर गए, वो हाथ हिलाकर चिल्लाने लग गए बचाओ-बचाओ, चीनी लोगो को लगा की वो अपने आगे निकल जाने की खुशी का इजहार कर रहे है. इतने में snow leopord प्यारे लाल जी को खा गया.

इसके पीछे क्या था मैसेज – dear zindagi story message

कभी कभी हम मुश्किल रास्ता इसलिए चुनते है क्योकि हमे लगता है की महत्वपूर्ण चीजे पाने के लिए हमे मुश्किल रास्ता अपनाना चाहिए, लेकिन आसान रास्ता क्यों नहीं चुन सकते, खास कर के तब जब उस मुश्किल का सामना करने के लिए हम तैयार ही नहीं है, तो फिर बेकार के पहाड़ क्यों चढ़े.

क्या समझ में आल्या को

इस फिल्म में जब आल्या ने ये सीख ली तब उसे ये बात कुछ यूँ समझ आई.
कभी कभी जीवन में हम मुश्किल रास्ता इसलिए चुनते है क्योकि हमे लगता है की महत्वपूर्ण चीजे पाने के लिए हमे मुश्किल ऑप्शन ही चुनना चाहिए, लेकिन कभी कभी आसान ऑप्शन चुनना बहुत जरूरी होता है क्योकि उस समय वो ही हमारे लिए बेस्ट ऑप्शन होता है, खासकर की तब जब हम उस मुश्किल का सामना करने के लिए तैयार नहीं है.

दोस्तों सफलता के लिए सही ऑप्शन को चुनना बहुत जरूरी होता है कभी कभी हम सफलता की मंजिल पाने के लिए ऐसे रास्तो की तरफ चल पढ़ते है जिनकी डगर मुश्किल है लेकिन अगर इन रास्तो पर चलने के लिए हम मानसिक या शारीरिक रूप से तैयार नहीं है या अगर कौशल और योग्यता की कमी है तो हम कई बार गिरते है, ऐसी परिस्थिति में आसान राहे चुनना चाहे वो लम्बी ही क्यों ना हो हमारे लिए बेस्ट ऑप्शन साबित हो सकती है. आपकी सफलता इस बात पर निर्भर नहीं करती की आपने कितना बड़ा या मुश्किल रास्ता चुना है, यह इस बात पर निर्भर करती है की आपने जो रास्ता चुना है उसके लिए आप कितने तैयार है चाहे वह मानसिक, कौशल या शारीरिक रूप से. उम्मीद है dear zindagi फिल्म की छोटी सी सीख आपको आपकी सफलता की मंजिल का चुनाव करने में मदद करेगी.

 


note: please share and like this story with your friends, also like our facebook page.


 

Leave a Reply