7 सवाल 7 जवाब Questions That Will Turn you Life in hindi

दोस्तों आज का हमारा पोस्ट है सवाल और जवाब पर जो स्वामी रामहंस और लोगो के बीच हुए सवालो और जवाबो का कुछ हिस्सा है. इसका मूल रूप संस्कृत भाषा है लेकिन हम आपके साथ इस बातचीत के हिंदी में translated version शेयर करेंगे जिसमे हर इंसान के कई सवालो के जवाब मिल सकते है.

एक दिन स्वामी रामहंस अपने कुछ शिष्यों के साथ एक गावं की यात्रा करते है जहाँ उनकी मुलाकात अपनी जिन्दगी  से निराश एक व्यक्ति से होती है. बातचीत के दौरान वह आदमी अपने अन्दर चल रहे कई सवाल पूछता है जो इस प्रकार है

 

Question about life that makes us think

 

सवाल – जिन्दगी का असली मतलब और उदेश्य क्या है

Question – What is the meaning and purpose of life?

जवाब – जिंदगी (life) का असली मतलब आपकी साँसों का चलना है . जिस दिन यह बंद होंगी उस दिन वास्तव में आपकी जिन्दगी भी बंद हो जाएगी . जिंदगी का मतलब सफलता या असफलता से बिलकुल भी नहीं है. ये सिर्फ पैमाने है जो इंसान के बनाये हुए है. हाँ इसे जीने के तरीके अलग अलग हो सकते है. यही अंतिम और पहली सच्चाई है जो इंसान स्वीकार नहीं करता. अगर मनुष्य इस बात को सोचकर आगे बढेगा तो अपनी मंजिल से कभी नहीं भटकेगा क्योकि उसे पता है की उसका सफ़र भी कुछ पलो के लिए है.

और इंसान की जिन्दगी का असली उदेश्य है जियो और जीने दो. मनुष्य जीने के लिए ही सभी काम करता है लेकिन अगर वह यह काम दुसरो से इर्ष्या और बदले की भावना के बिना करे तो वास्तव में उसका जीवन सार्थक हो जाएगा.

 

सवाल – गलत काम क्या होता है. क्या ये दुसरे लोग तय करते है

Question – what is wrong doing? Is this decided by the others?

जवाब – जिस काम से दुसरो को या अपने आप को किसी भी तरह का नुकसान पहुंचे चाहे वो शारीरिक हो या मानसिक वह सभी काम गलत है. इसके आलावा कोई काम गलत नहीं है. अगर इंसान को लगता है की उसके द्वारा किये गये काम से किसी दुसरे का या उसे किसी प्रकार की क्षति नहीं पहुँच रही तो उसे लोगो की परवाह किये बिना आगे बढ़ना चाहिए.

 

सवाल – सफलता का अर्थ और पैमाना क्या है

Question – What is the meaning and criteria of success

जवाब – सफलता का अर्थ और पैमाना है ख़ुशी और संतुष्टि . अगर किसी काम को करने के बाद आपको यह दोनों चीजे मिल गयी तो समझ ले की आप सही मायने में सफल हो गए. सफलता का अर्थ लोकप्रियता, जीतने – हारने या धन दौलत से बिलकुल भी नहीं है. ये सिर्फ इच्छाए और चाहत है जो हर किसी के लिए अलग अलग हो सकती है. कई लोग गरीबी में भी खुश होते है तो कई अमीर होने के बावजूद दुखी. इसलिए हमेशा अपने मन की बात सुने की आपको किस चीज में संतोष और ख़ुशी मिल रही है न की दुसरो की देखा देखी में फैसला ले.

 

सवाल – जितने का अर्थ और पैमाना क्या है.

Question – What meaning and criteria is of win or lose

जवाब – किसी काम को करते समय सम्पूर्ण प्रयास करना ही जितने की असल निशानी है बाकी सब नतीजे है जो इंसान के हाथ में नहीं होते. यह नतीजे हमेशा एक जैसे नहीं रहते. अगर आप किसी काम को करते समय अपना हर संभव प्रयास करते है तो आप सही मायने में जीत गए बाकि नतीजों को आप गलतियाँ सुधारकर भी ठीक कर सकते है.

 

सवाल – दुःख का कारण क्या है

Question – What is the cause behind sorrow and sadness?

जवाब – दुःख का सबसे बड़ा कारण है अपने आज में न जीना. जो उपलब्ध है हम उसका सुख नहीं लेते और भविष्य या भूतकाल की चिंता में डूब जाते है. अपने बीते हुए कल से सबक लेकर अपने आज को अच्छा बनाने की कोशिश करे आपका आने वाला कल अपने आप अच्छा हो जायेगा और इसके लिए जरुरी है खुश रहते हुए उस काम को करना नहीं तो आपका आज आपके सामने कई चुनोतियाँ खड़ा कर देगा जो आपको दुःख की और धकेलेंगी.

 

सवाल – क्या अपने मन को रोका जा सकता है

Question – Can We Stop the Mind from Thinking

जवाब – जिस तरह आप अपनी साँसों और दिल की धड़कन को नहीं रोक सकते ठीक उसी प्रकार आप अपने मन को भी नहीं रोक सकते. कई लोग ध्यान (meditation) का मतलब मन को रोकना समझते है और न रोक पाने की वजह से ध्यान (meditation) करना बंद कर देते है. जबकि ध्यान (meditation) का अर्थ है की आप अपने मन को नियंत्रित (control) करके किसी एक दिशा में मोड़ सकते है जिससे हमारा मन इधर उधर नहीं भटकता. इससे हम किसी एक काम में अपना मन केन्द्रित (focus) कर सकते है और अपने लक्ष्यों की प्राप्ति कर सकते है . जब तक इंसान जीवित है वह अपने मन की गति को नहीं रोक सकता. इसलिए ध्यान करते समय मन को रोकने की नहीं एक दिशा दिने की कोशिश करे.

 

सवाल – क्या इंसान को पाठ – पूजा करनी चाहिए

Question – Why Do We Pray?

जवाब – पाठ पूजा करना किसी के लिए भी अनिवार्य नहीं है. यह इंसान की मर्जी पर निर्भर करता है. अगर कुछ पाने या मांगने की लालसा से करते है तो बिलकुल न करे क्योकि यह दोनों चीजे आपको नहीं मिलने वाली. अगर उस चीज का सही अर्थ समझकर कुछ अनुशासन, मूल्य , ज्ञान और जिन्दगी जीने का सही तरीका सीखना चाहते है जो जरुर करे.

 

तो दोस्तों यह थे 7 सवालो के 7 जवाब जो  हर किसी की जिन्दगी में लागु होते है. कई बार छोटी छोटी बातो को हम बड़ा करके खुद के सामने पेश करते है और अपने ही सवालो के जाल में उलझ जाते है जिसका नतीजा हमें भर्मित (confuse) कर देता है जबकि उनके जवाब बहुत ही सीधे और सरल होते है जिन्हें हम जानते हुए भी नहीं समझना चाहते और जब यह हमारे सामने आते है तो ऐसा लगता है की यह सब तो हमें पता था. अब यह हम पर है की हम इन्हें कैसे समझते और अपनाते है.

 

अगर आपको यह आर्टिकल पसंद आया हो तो कृपया इसे जरुर शेयर करे. अगर आप भी इस लेख पर अपनी राय या सुझाव रखना चाहते है तो कृपया comment करे. साथ ही हमसे जुड़े रहने के लिए हमारा facebook page जरुर like करे

 

you may also like

क्यो और कैसे करे मेडिटेशन– Meditation in Hindi For Beginners

सफलता का मंत्र है यह योग karma yoga in Hindi

आंतरिक शांति प्राप्त करने के पांच तरीके

The Fear of Failure कैसे बदले असफलता को सफलता में

loading...

विवेकानंद के सफलता के सूत्र success mantra by swami Vivekananda

 

One Response

  1. pravin 03/02/2017

Leave a Reply