क्या लव-लैटर लिख कर भी कोई अमीर बन सकता है?

जरुरी नही एक इडिया तभी बड़ा हो जब वो नया हो. यदि पैसे कमाने के लिए एक पुरानी परम्परा या आईडिया को तकनीक के साथ जोड़ा जाता है तो हमे कुछ नया देखने और सीखने को मिलता है. जब आप एक पुराने आईडिया को नयी तकनीक के साथ जोड़ देते है तो एक स्टार्टअप बनता है जिसे कामयाब बनाने के लिए कड़ी मेहनत लगती है. आज हम ऐसे ही एक शख्स के बारे में बतायंगे जिसने चिठ्ठी लिखने की परम्परा को ऑनलाइन कर दिया.

 

व्हाट्स एप्प, फेसबुक पर घंटो बात करना, विडिओ कॉल करना आदि इन सब के बीच एक पुरानी चिठ्ठी लिखने की परम्परा कही गुम सी हो गई है. वही अंकित अनुभव और उसके दोस्तों ने हाथ से चिठ्ठी लिखने का स्टार्टअप शुरू किया. इस स्टार्टअप में इनकी कम्पनी पापा-मम्मी, दादा-दादी, प्रेमी-प्रेमिका आदि सबके लिए हाथ से पत्र लिखती है. यानि अगर आप पत्र के माध्यम से अपनी प्रेमिका या प्रेमी से कुछ बात कहना चाहते है और आपको शब्द नही मिल रहे तो ये कंपनी आपकी मदद करती है या फिर आपने अपने  पापा-मम्मी या रिश्तेदारों को कोई पत्र लिखना है तो ये आपकी मदद करते है.

जाहिर सी बात है जज्बात सबके पास होते है पर शब्द सबके पास नही होते. इस स्टार्टअप का उद्देश्य आपके जज्बतो को समझ कर उसे पत्र के रूप में आपके चाहने वालो तक पहुँचाना है और ये भारत की लगभग सभी भाषाओ में पत्र लिखते है.

 

कैसे शुरू हुआ स्टार्टअप

अनुभव अपने दोस्तों के साथ एक कंपनी में बतौर इंजीनियर काम कर रहे थे और उन्ही दिनों जब वह घर आये तो उन्होंने सोचा कि क्यों न कुछ ऐसा किया जाए जो सीधा लोगो के दिलो को छुए. जब वह छोटे थे तो चिठ्ठिया लिखा करते थे और वह परम्परा इस तकनीक की दुनिया में कही खो गई थी जिसे उन्होंने एक स्टार्टअप के रूप में लिया. हालाकि 2013 में एक हॉलीवुड फिल्म आई थी “HER” जिसमे हीरो एक लेटर राइटर होता है और वह दुसरे के जज्बातों को समझ कर उनके लिए चिठ्ठिया लिखता है.

पेशे से इंजीनियर अनुभव ने इस स्टार्टअप का एक परीक्षण अनुभव के 2015 में एक ब्लॉग के जरिये किया था. उनका कहना है कि एक हफ्ते में उनके पास लगभग 140 मेल आये जिनमे लोगो ने कई सवाल किये जैसे आप कौन सी भाषा में पत्र लिखते है आदि. इस अच्छे रिस्पोंस के बाद उन्हें काफी हिम्मत मिली जिसके बाद उन्होंने टीम बनाई और काफी समय तक इस पर रिसर्च की और 2016 में इन्होने अपनी कंपनी “The Indian handwritten letter corporation’ रजिस्टर करवाई.

 

अनुभव बताते है कि दिन भर में कई सारी रिक्वेस्ट आती है जिनमे से 70% प्रेम-पत्र की होती है. ऐसे में कई लोग अपनी भावनाए बताते है और उनको शब्द देना उनका काम होता है. कई लोग लेटर तो लिखवाना चाहते है पर पता नही बताना चाहते, ऐसे में उनसे संपर्क कर पाना थोडा मुश्किल हो जाता है और कई ऐसे लोग भी है जो रेगुलर ग्राहक बन जाते है.

 

कैसे होती है इस स्टार्टअप में इनकम

 

ये अपने ग्राहकों से 2.50 रूपये पति शब्द लेते है और यह ग्राहक पर निर्भर करता है कि वह अपना पत्र कितने शब्दों का लिखवाना चाहता है और यदि कोई ग्राहक उसे लिख सकता है तो उसे एडिट करने के 1 रूपये प्रति  शब्द लिए जाते  है और इन पैसो में अच्छी राइटिंग में लिखने  से लेकर भेजने तक के पैसे शामिल है. यदि आप भी कोई पत्र लिखवाना चाहते है तो कम से 160 रूपये देकर लेटर लिखवा सकते है

 

इस तरह के स्टार्टअप देखने से लगता है की अगर  सोच पक्की और इरादे मजबूत हो तो हमे सफल होने से कोई नही रोक सकता. और साथ ही हमे खुद पर भरोसा करना और निरंतर प्रयास करते रहना चाहिए.

 

दोस्तों उम्मीद करते है आपको यह आर्टिकल पसंद आया होगा. इसे शेयर करना न भूले. अगर आप भी हमारे आने वाले सभी आर्टिकल सीधे अपने मेल में पाना चाहते है तो हमें फ्री सब्सक्राइब जरुर करे और साथ ही हमारा फेसबुक पेज जरुर लाइक करें.

 

यह भी जाने

विक्की रॉय; कूड़ा उठाने से करोड़पति तक motivational story in hindi for success

kfc’s colonel sanders – real story behind success in hindi

Bill Gates of India – Azim Premji

कैसे बनी एक स्कूल ड्रॉपआउट दुनियां की सबसे अमीर महिला success story in hindi

Enter your email address:

Delivered by FeedBurner

One Response

  1. Chandan 20/03/2018

Leave a Reply