story of patience in hindi किसान के धैर्य की परीक्षा

नमस्कार दोस्तों आज हम आपके साथ एक ऐसे किसान की कहानी शेयर करने जा रहे हैं जिसके धैर्य की परीक्षा अनेक कठिन परिस्थितियों द्वारा लि जाती है| इस कहानी में किसान का बदलता स्वभाव काफी हद तक हमारे असल जीवन की झलक भी बताता है की कैसे बुरा होने पर हमारे विचार भी नकारात्मक हो जाते है और फिर पल भर में जब कुछ अच्छा घटित होता है तो हमारे विचार भी बदल कर सकारात्मक हो जाते है. जब भी हमारे अनुकूल कुछ घटित नहीं होता है तो हम ये मान लेते है की हमारे साथ बुरा हुआ है और नकारात्मक हो जाते है बिना ये जाने की जो घटित हुआ है वो हमारे लिए अच्छा है या बुरा. हमारे साथ घटी घटना का भविष्य में क्या प्रभाव घटेगा ये हमें खुद नहीं पता होता और ऐसे में धैर्य ही एक साथी होता है जो आपकी आशाओ को बनाये रख सकता है और इस साथी को पकड़ना आपके लिए सकारात्मकता लेकर आता है और लाभकारी घटित होता है. आज ये कहानी आपको कठिन परिस्थितियों में धैर्य का महत्व सीखायेगी |

 

Short story on patience In Hindi किसान का धैर्य

 

एक समय की बात है | एक किसान था जिसके पास एक घोडा था | वह अपने इस घोड़े से बहुत प्यार करता था | इस घोड़े पर उसे बहुत गर्व था जो किसान की कमाई का जरिया था | इस कमाई से किसान अपने परिवार का पेट भरता था |

लेकिन एक दिन वह घोडा भाग गया | उसके भागने के बाद समाज के सभी लोग और उस किसान के पडोसी उसके पास आकर उससे कहने लगे “हे भगवान् ! तुम्हारा घोडा, जिस पर तुम्हे बहुत घमंड था, वह तो भाग गया |” उसको सांत्वना देने लगे की उसके साथ बहुत बुरा हुआ |

लेकिन किसान ने उसका जवाब बहुत ही सहजता से देते हुए कहा “हाँ ! बहुत बुरा हुआ |”

अगले दिन

अगले दिन घोडा वापस आ गया | लेकिन सिर्फ घोडा वापस नहीं आया बल्कि वह अपने साथ 3 जंगली घोड़े भी लाया | फिर उसके पडोसी उसके पास दौड़ते हुए आये और उस किसान से कहा “आपका घोडा आ गया और अपने साथ 3 और घोड़े भी लाया है | ये तो बहुत अच्छी बात है, आपकी किस्मत तो बहुत अच्छी है |”

किसान बहुत खुश हुआ, उनकी तरफ देखा फिर उसका जवाब बहुत ही साधारण रूप से दिया और कहा ” हाँ ! शायद |”

कुछ दिनों बाद

कुछ दिनों बाद किसान का बेटा उस जंगली घोड़े में से एक को काम के लिए उपयोगी बनाने की कोशिश कर रहा था | लेकिन इसी कोशिश के दौरान घोड़े ने उसे फेंक दिया और उसका पैर बुरी तरह से टूट गया |

फिर उसके पडोसी उसके पास आये और बोलने लगे “उस पागल घोड़े ने देखो तुम्हारे बेटे के साथ क्या किया, उसने पैर तोड़ दिए | ये तो बहुत बुरा हुआ |”

किसान दुखी हुआ और फिर से उसी तरह जवाब दिया और कहा “हाँ! शायद मेरे बेटे के साथ गलत हुआ |”

अगले दिन

अगले दिन सेना के कुछ जवान उस किसान के घर आते हैं जो जंग छिड़ने के कारण नए जवानो की भर्ती कर रहे थे |
उसमे से एक जवान ने किसान के बेटे को देखा और बोला “इसका तो पैर टुटा हुआ है हम इसे सेना में भर्ती नहीं कर सकते |” और वे जवान गांव के सभी लड़को को लेकर चले गए |

ये सुनकर उस किसान के पडोसी और बाकी गांव के लोग उसके पास आये और बोलने लगे “क्या किस्मत है तुम्हारी तुम्हारे बेटे को जंग में नहीं जाना पड़ा | हमारे बेटों को जवान जंग के लिए ले गए | तुम्हारी किस्मत सच में बहुत ही अच्छी है |”

इस आखिरी बार भी किसान ने फिर से बड़ी सहजता से कहा “हाँ ! शायद |”

Moral of the Story

कहानी का मोरल ये है की – हमारे लिए चीज़ो को नकारात्मक ढंग से सोचने में जरा भी समय नहीं लगता |
जब भी कुछ हमारे अनुकूल नहीं होता हम उसे बुरा ही समझते हैं | लेकिन सच बात तो ये है की कोई नहीं जानता की जो हमारे साथ घटा है वो बुरा है या अच्छा | इस कहानी में भी किसान के भावों में परिवर्तन परिस्थितियों के कारण होता है. बूरी परिस्थितियों में वह नकारात्मक हो जाता है और अच्छी परिस्थितियों में सकारात्मक. इन नकारात्मक और सकारात्मक परिस्थितयो के बीच के समय में धैर्य  रखना बहुत जरूरी हो जाता है.

क्या आप वाकई में ये बता सकते हैं की जो हमारे साथ घट रहा है वो गलत है या सही बिना ये जाने की भविष्य में उसका क्या प्रभाव पड़ेगा हम पर या हमारे जीवन पर | मुझे लगता है आपका जवाब होगा नहीं |

हमारे समाज में, हमारे देश में ऐसे बहुत से महान लोग हैं जो अपने जीवन में फेल हुए, हारे, अनेक बड़ी बड़ी बीमारियों से लड़े हैं | किन्तु इनसे उन्होंने कभी भी धैर्य नहीं खोया और ना ही हार मानी. ये ही आगे चलकर सबसे बड़े शिक्षक शाबित हुए और महान बने हैं |

हमारे बड़े बुजुर्ग सही ही कह गए हैं की

“जो होता है, अच्छे के लिए होता है |”

ये बात हमे कभी नहीं भूलनी चाहिए |

 


यह story हमारे साथ atul singh जी ने शेयर की है. हम इस स्टोरी के लिए  उनका आभार प्रकट करते है

Name – atul singh

Author Image:

धैर्य

Blogmotivationalwizard.com

loading...

about author – नमस्कार दोस्तों मेरा नाम अतुल सिंह है और मेरे Blog का नाम  MotivationalWizard है | जिसमे मैं Motivational Quotes और Motivational Stories( प्रेरणादायक कहानी) लिखता हूँ जिसे पढ़कर आपको प्रेरणा जरूर मिलेगी | इस लिए मेरे Blog पर एक बार जरूर जाएँ |

इस Blog पर मुझे खुद को प्रस्तुत करने का मौका मिला है जिससे मुझे बहुत ख़ुशी हुई है | अतः मैं इस Blog के मालिक का शुक्र गुजार हूँ जिन्होंने मुझे लिखने का मौका दिया | उम्मीद करता हूँ की आप सबको मेरी ये कहानी पसंद आएगी | अगर आपको ये कहानी पसंद आती है तो निचे Comments में मेरा उत्साह जरूर बढ़ाये ताकि मैं ऐसी और प्रेरणादायक कहानियां आपके सामने प्रस्तुत कर सकूँ | धन्यवाद |

Leave a Reply