navjot singh sidhu की प्रेरणादायक शायरी वो दरिया ही नहीं जिसमे नहीं रवानी जब जोश ही नहीं तो फिर किस काम की है जवानी.   इस दुनिया मे