जानिए कहानियों के हीरो तेनालीराम के बारे में tenali raman Biography in hindi

आपने तेनालीराम का नाम तो सुना ही होगा. जी हाँ वही तेनालीराम जिनके किस्से और कहानियां काफी पसंद की जाती है. इनकी बुद्धिमानी और चालाकी के किस्से न सिर्फ हमारा मनोरंजन करते है बल्कि कई तरह की सीख भी देते है. यही वजह है की आज भी इनके ऊपर टीवी सीरियल और कार्टूनों का बनना जारी है. लेकिन क्या आप जानते है की तेनालीराम कौन थे? क्या वे असली में कोई व्यक्ति थे या फिर महज एक काल्पनिक पात्र? तो आईये आज हम तेनाली राम के बारे में जानने के कोशिश करते है.

 

Biography of tenali raman in hindi – तेनालीराम की बायोग्राफी

 

तेनालीराम, जिन्हें विकट कवि के नाम से जाना जाता था,  एक तेलुगू कवि थे जो आज के आंध्र प्रदेश क्षेत्र में लोकप्रिय थे. तेनालीराम आमतौर पर अपनी बुद्धि और हास्य के लिए जाने जाते थे। वह विजयनगर के राजा कृष्णदेव राय के दरबार के आठ कवियों में से एक थे. तेनालीराम का जन्म तेलगु ब्राह्मण परिवार में हुआ था जिनका बचपन का नाम तेनाली रामकृष्ण था .

तेनाली रामकृष्ण को अपने बचपन के दौरान कोई औपचारिक शिक्षा नहीं मिली थी, लेकिन ज्ञान के लिए उनकी लगन के कारण, वे एक महान विद्वान बन गए। एक प्रसिद्ध कथा के अनुसार वैष्णव विद्वानों ने उन्हें शिष्य के रूप में स्वीकार करने से मना कर दिया था, क्योंकि वह शैव (शिव के भक्त) थे। एक दिन बिना किसी उद्देश्य से घूमते हुए वह एक साधु से मिले, जिन्होंने उन्हें देवी काली की पूजा करने की सलाह दी। उन्होंने पूजा की और अपनी भक्ति से देवी की कृपा प्राप्त की।

 

बाद में, वह ‘भागवत मेले’ के प्रसिद्ध मंडल में शामिल हुए। जब राजा के सामने प्रदर्शन करने के लिए मंडल विजयनगर आया, तेनालीराम के प्रदर्शन ने राजा और अन्य लोगों का मन मोह लिया। उन्होंने राजा कृष्णदेवराय के साथ अपनी जिंदगी की कहानी साझा की, जिन्होंने उन्हें दरबार में हास्यक कवि का पद प्रदान किया।

 

Others interesting facts about tenali raman in hindi

 

  • ऐसा माना जाता है कि वह आंध्र प्रदेश में गुंटूर जिले के तेनाली नमक गाँव में पैदा हुए थे।

 

  • वह जन्म से एक शैव थे, लेकिन बाद में वे वैष्णववाद में परिवर्तित हो गए । उस समय शैववाद और वैष्णववाद हिंदू धर्म के दो विपरीत संप्रदाय थे।

 

  • तेनाली के पिता गारलापति रामाय्या थे जो तेनाली गाँव केरामलिंगेश्वर स्वामी मंदिर में एक पुजारी थे ।

 

  • ऐसा माना जाता है कि तेनाली राम ने दिल्ली सल्तनत से विजयनगर को अपनी बुद्धि और रणनीति से संरक्षित किया था।

 

  • तेनाली राम की तुलना अकबर के मंत्री बीरबल से की जाती है, लेकिन तेनाली राम एक प्रतिभाशाली साहित्यिक विद्वान भी थे।

 

  • राजा बीरबल की तुलना में, तेनाली राम अमीर आदमी नहीं थे।

 

  • उनके काव्य (कविता) पांडुरंगा महात्म्य को तेलगु साहित्य के पांच महान काव्यों में से एक माना जाता है।

 

  • कार्टून नेटवर्क ने तेनाली के जीवन पर एक श्रृंखला ‘The Adventures of Tenali Rama’’ प्रसारित की जो काल्पनिक घटनाओं पर आधारित थी.

 

उम्मीद करते है आपको tenali raman की जीवनी पसंद आई होगी. कृपया इसे शेयर करें. आप अपने विचार कमेंट्स के जरिये साझा कर सकते है.

 

पंचतंत्र की कहानियां !!! panchatantra stories in hindi

akbar aur birbal – कहानिया और सही सीखे

hindi stories राजा की चतुराई की कहानी

संघर्ष से सफलता तक का सफ़र Nawazuddin Siddiqui biography

loading...

कामयाबी पानी है तो गुरु की सुननी जरूरी है

Leave a Reply