जानिए टेटनस के लक्षण उपचार और बचाव Tetanus in hindi

दोस्तों जब भी हमे लोहे से कोई चोट या घाव लगती है तो तुरंत हमे Tetanus का injection लगाने की सलाह दी जाती है ताकि किसी प्रकार के इन्फेक्शन या सुजन से बचा जा सके. लेकिन क्या आप जानते है Tetanus क्या होता है?? क्यों चोट लगने के बाद टेटनस का टीका लगाया जाता है. इस लेख में हम इन सभी बातो के जवाब देनी की कोशिश करेंगे.

 

Tetanus एक बहुत पुराना रोग है जिसका जिक्र शल्य चिकित्सा यानी Surgery के जनक सुश्रुत के लेखो में भी मिलता है. हिंदी में इस रोग को धनुस्तंभ  कहा जाता है. टेटनस  इन्सान के तंत्रिका तंत्र (Nervous system) में होने वाला संक्रमण है जो क्लोस्ट्रीडियम टेटानी नामक बैक्टीरिया से होता है. यह बैक्टीरिया मिटटी और गंदगी में पनपता है. जब भी इंसान को कोई घाव, चोट या खरोच लगती है विशेषकर जंग लगी कीलों,  लोहे के टुकड़ों,  जलने या त्वचा के फटने  से तब यह बैक्टीरिया चोट या घाव के संपर्क में जल्दी आते है और घाव पर एक जहर पैदा करते है जो शरीर की  मांसपेशियों को प्रभावित करता है. इससे टेटनस होता है. कई बार संक्रमित उपकरणों से छोटे बच्चो की नाल काटने से भी उन्हें टेटनस हो सकता है जिसके कारण वह दूध पीना बंद कर देते है. इसे Neonatal Tetanus (नीयोनेटल टेटनस)  कहा जाता है जो टेटनस का सबसे घातक रूप है.

अगर सही समय पर इलाज़ न करवाया जाये तो इससे रोगी की मृत्यु भी संभव है.

 

Symptoms of Tetanus – टेटनस के लक्षण

 

  • मांसपेशियों में खिंचाव, जकड़न और सूजन महसूस होना.

 

  • निगलने में कठिनाई और मुहं से लार गिरना

 

  • जबड़ों में जकड़न

 

  • बुखार और चिडचिडापन

 

  • paralysis या सास रुक जाना

 

  • ओपीस्थोटोनस (पीठ की मांसपेशियों में दर्द)

 

  • मल मूत्र पर कंट्रोल न रहना

 

Treatment of Tetanus – टेटनस का उपचार या इलाज़

 

  • टेटनस से बचने का सबसे उत्तम इलाज़ है डीपीटी का टीका (DPT vaccine) जो टेटनस से इंसान का बचाव करता है.

 

  • बच्चो को टेटनस के टीका (dtap vaccine) जरुर लगवाये. जन्म के शुरुआती 2 वर्षो से लेकर 10 वर्षो तक चार बार प्राथमिक टीकाकरण किया जाता है.

 

  • एंटीबायोटिक्स दवाइयां (डॉक्टर की सलाह पर ही ले)

 

Prevntion from Tetanus – टेटनस से बचाव

  • घाव को साफ़ रखे.

 

  • किसी भी प्रकार की चोट को गोबर या धुल से बचाए.

 

  • अगर चोट या खरोच लोह या किसी जंग लगी चीज से लगी है तो टेटनस का टीका जरुर लगवाये.

 

Note – दोस्तों यह जानकारी बिमारियों के प्रति आपके ज्ञान को बढ़ाने के लिए दी गई है. बिना डॉक्टर की सलाह के कोई भी कदम ना उठाए. साथ ही दिक्कत होने पर तुरंत किसी डॉक्टर पर जाये.

 

अगर आपको यह आर्टिकल पसंद आया हो तो कृपया इसे शेयर करे. आप अपने सवाल और सुझाव हमें कमेंट्स के माध्यम से पूछ सकते है.

 

Related articles

ताकत की आयुर्वेदिक जड़ी-बूटियाँ से बढ़ाये वजन

जानिए क्यों खतरनाक है आपके लिए यह दवाइयां

जानिए डेंगू के लक्षण, बचाव और इलाज

मोच का घरेलू इलाज़ – Moch ka upchar in hindi

loading...

जानिए Vitamin B Complex कमी से आपकी Health को क्या खतरे हैं

One Response

  1. Anand verma 24/03/2017

Leave a Reply