लड़कियों के पेट में क्यों नहीं पचती है कोई बात

अकसर आपने ये तो सुना ही  होगा कि औरतों और लड़कियो  के पेट में कोई  भी  बात नहीं पचती। कहते हैं कोई भी बात फैलानी हो तो लड़कियों(girls) और औरतों को बता दो, बात कब सब तक पहुंच जाएगी पता भी नहीं चलेगा। कोई दूसरा example छोड़ो अपने घर की बात ले लो। आपकी कोई बात कब आपकी मम्मी या बहन से होते हुए आपकी चाची, मासी, भुआ  और दादी तक पहुंच जाती है आपको पता भी नहीं चलता। 

ऐसा क्यों होता है किसी महिला या लड़की(girls) को कहा जाए की यह बात किसी को मत बताना फिर भी वो बाते किसी न किसी को बता देती हैं। इसके पीछे दो मत है।

Mythological viewpoint 

psychology of girls in hindi,psychology of girls in hindi

एक प्राचीन कहानी के अनुसार महाभारत में  कुंती को पता था कि कर्ण उनका ही पुत्र है लेकिन उन्हों ने इस बात को सभी से छुपाये रखा। लेकिन जब महाभारत युद्ध  के दौरान कर्ण की मुत्यु अर्जुन के हाथो से हुई तब खुद की भावनाओं पर काबू नहीं पा सकीं और सभी को बता दिया कि कर्ण भी उनका ही पुत्र हैं। इस पर गुस्से मे धर्मराज युधिष्ठिर ने कुंती को श्राप दे दिया की आज के बाद इस दुनिया मे कोई भी औरत अपने मन मे कोई भी बात नहीं छुपा पाएगी। Indian mythology के अनुसार  यही वजह है कि औरतों के मन मे कोई बात नहीं रुकती हैं चाहे वो कितनी भी जरूरी हो।

मनोवैज्ञानिक कारण – psychology of girls

मनोविज्ञान के अनुसार महिलाये जिज्ञासु स्वभाव की होती है। वो हर बात को बताने और जानने की इच्छा रखती है जिसके कारण किसी भी बात को वो ज्यादा देर तक मन मे नहीं रखती और कोई न कोई  इंसान ढूंढ़ ही लेती हैं, जिसके साथ वे अपना मन हल्का कर सकें।

 

tufts university की रिसर्च के अनुसार अक्सर महिलाओं को किसी बात को मन मे रखने पर एक तरह का मानसिक बोझ लगता है। उन्‍हे वो बात हर पल खटकती रहती है, किसी विश्वसनीय इंसान को बता देने पर वो हल्‍का महसूस करती हैं।

girls

कुछ मनोविज्ञानिकों का मानना है की अक्सर महिलाये attention पाना चाहती है। क्योकि लड़कियो(girls) को gossip करना अच्छा लगता है,उन्‍हे लगता है कि कुछ चटपटी बाते बताकर वे लोगों का ध्यान अपनी और खिच सकती है। अगर आपको किसी लड़की(girls) के मुंह से कोई बात निकलवानी है तो उनसे बातों बातों मे निकलवा सकते है।

 

वैसे ऐसा नहीं है की सिर्फ महिलाये ही बातों को अपने मन मे नही दबाती। एक ताजा शोध के अनुसार पुरुष भी ज़्यादातर बातों को अपने मन मे नही रखते। बस फर्क इतना है की आदमी पीठ पीछे और महिलाये सभी के सामने बातों को उगल देती है।

 

अगर आपको यह article  पसंद आया हो तो इसे जरूर share करे। आप अपने विचार comment करके बता सकते है।

जानिए क्यो किया था श्री कृष्ण ने एकलव्य का वध

loading...

क्या छुपा है सवालो में…personality development

2 Comments

  1. Shubham Prajapati 24/01/2016
  2. Suraj 11/02/2016

Leave a Reply