डिप्रेशन का मनोविज्ञान how to control and cure depression in Hindi

डिप्रेशन के कारण लक्षण और इलाज depression in Hindi

आजकल की भागदौड़ भरी जिंदगी में हर चोथा आदमी डिप्रेशन का शिकार होता जा रहा है। depression  कई बार थोड़े से समय के लिए ही रहता है, कभी यही depression एक भयानक रूप ले लेता है। कोई इंसान डिप्रेशन से  संबंधी बीमारी से पीड़ित होता है, तो कई बार यह उस इंसान के रोजमर्रा की ज़िंदगी को और उसके कामकाज में बाधा डालता है या उस इंसान  के परिवार वालो के दुखों का कारण बन जाता है।

क्या होता है डिप्रेशन – depression in hindi

Depression की स्थिति तब होती है जब हम जीवन के हर पहलू पर नकारात्मक (negative attitude ) रूप से सोचने लगते हैं। जब यह स्थिति चरम पर पहुंच जाती है तो इंसान को अपनी  ज़िंदगी बेकार लगने लगने लगती है और धीरे धीरे इंसान डिप्रेशन की स्थिति मे पहुच जाता है । चिंता और तनाव के कारण शरीर में कई हार्मोन(hormones) का level  बढ़ता जाता है,  जिनमें एड्रीनलीन (adrenaline) और कार्टिसोल (cortisol) प्रमुख हैं। लगातार तनाव(stress) और चिंता(tension) की स्थिति अवसाद यानि की depression में बदल जाती है।

 

डिप्रेशन के लक्षण – symptoms of anxiety depression in hindi

 

मनोविज्ञानिक लक्षण – psychological symptoms of depression

1 निरन्तर चिंता करना
2 स्वस्थ के विषय में चिंता करना
3 नकारात्मक विचार आना
4 भ्रामक विचार
5 काम में मन ना लगना
6 स्वभाव चिड़चिड़ा होना
7 छोटो छोटी बातो पर गुस्सा आना
8 भ्रम करना
9 मनःस्थिति में बदलाव
10 पागलो जैसा बर्ताव करना
11 अकेला रहना
12 बुरे सपने आना
13 खुश न रहना
14 स्ट्रेस लेना
15 कम बोलना
16 डर लगना

 

शारीरिक लक्षण – physical symptoms of depression

1 सर दर्द होना
2 दिल का काँपना
3 खाना निगलने में मुश्किल
4 उल्टी आने को होना
5 बार बार बाथरूम जाना
6 पीला पड़ना
7 श्वास छोटा होना
8 चक्कर आना
9 मासपेशियों में दर्द
10 दिल की धड़कन तेज होना
11 शरीर का काँपना
12 पसीना आना
13 ब्लड प्रेशर कम ज्यादा होना
14थकावट होना

 

डिप्रेशन का इलाज़ – treatment of depression in Hindi

डिप्रेशन के समय इंसान को लगता है की उसकी ज़िंदगी मे कुछ भी नही बदलने वाला और वह इंसान अपनी हार मान लेता है। तो आइये जानते है की कैसे आप नकरात्मक विचारो से छुटकारा पाकर depression को कम कर सकते है।

 

1 मामले से ध्यान हटाये
इस योजना या रणनीति में व्यक्ति उस  स्थिति या समस्या से अपना ध्यान हटा लेता है और खुद को दूसरे काम में बिजी रखने की कोशिश करता है।  उस समस्या के बारे में सोचना भी छोड़ देता है जिससे व्यक्ति को शांति मिलती है

 

2 डिप्रेशन की वजह जानें

अगर आप डिप्रेशन का समाधान निकालना चाहते हैं, तो डिप्रेशन  की वजह को जानने की कोशिश करें। इसके बाद इसे कही लिख सकते लें। फिर सोचें कि इस प्रोब्लेम  का क्या solution  हो सकता है? अगर पॉसिबल हो, तो उस पर जल्द से जल्द अमल करना शुरू कर दें।

 

3 Future की टेंशन ना लें

‘’कल क्या होगा’’ परेशानियों को बढ़ावा देता है, इसलिए हमेशा आज में जिएं क्योकि present ही reality है और उसे बेहतर करने की कोशिश करते रहें। ऐसा करने से आपका future  अपने आप ठीक हो जाएगा। हमारा हर दिन और हर पल हमें कुछ न कुछ नई बातें सिखाता है और परेशानियों और दिक्कतों से लड़ना सिखाता है।

 

4 चीखना
कुछ लोग हार से पैदा हुई हताशा, तनाव आदि को दूर करने के लिए जोर जोर से चीखने लगते है।  ये तनावपूर्ण स्थिति या कष्टदायी स्थिति को दूर करने का सबसे अच्छा तरीका है।  मनोविज्ञानिक  भी तनावपूर्ण स्थिति में चीखने को एक अच्छी तकनीक मानते है

 

5 गाने सुनना
तनाव या दबाव को दूर करने के लिए एक अच्छी तकनीक या योजना है कि व्यक्ति को गाने सुनने चाहिए। इससे तनाव में कमी आती है और व्यक्ति तरोताजा हो महसूस करता है

 

6 भावनाओ को बाहर निकलना
रोजमर्रा की जिंदगी में व्यक्ति किसी भी समस्या से तनाव में आ सकता है ऐसे में ये तरीका या युक्ति बहुत काम आती है की व्यक्ति अपनी समस्याओ को दूसरे लोगो जैसे दोस्त, भाई, बहन, आदि के साथ बाटता या सांझा करता है तो  इससे उसका मन हल्का हो जाता है और तनाव कम हो जाता है क्योंकि उसके मन में पैदा हुई भावनाये निकल जाती है

 

7 नशीली चीज़ों का सेवन न करे
अक्सर तनाव को कम करने के लिए व्यक्ति शराब , ड्रग्स, सिगरेट आदि का सहारा लेते है जिससे कुछ टाइम के लिए तो वो उस स्थिति से दूर हो जाते है लेकिन धीरे धीरे वो एक गम्भीर लत बन जाती है जो एक नए तनाव को पैदा करती है इसलिए इंसान को इससे दूर ही रहना चाहिये

 

8 प्राणयाम से दूर कीजिये depression

अगर आप टेंशन और डिप्रेशन  से मुक्त होना चाहते हैं तो रोज प्राणयाम करें। इस योग से टेंशन,  स्ट्रैस और डिप्रेशन कम होता है और बुद्धि तेज होती है।

 

9 हंसने की कला सीखें

हंसने से stress  का स्तर कम होता है और हमारी मांसपेशियों को आराम मिलता है। इससे feel good factor बढ़ता है और एन्डार्फिन हार्मोन्स की मात्रा बढ़ती है और इससे हम relax महसूस  करते है।

 

10 अकेलेपन से छुटकारा पाये

अकेलापन डिप्रेशन का एक सबसे बड़ा कारण है। अगर आपके परिवार मे कोई इंसान डिप्रेशन से पीड़ित है तो जितना हो सके उसके साथ समय बिताए। ज्यादा डिप्रेशन मे अक्सर लोगो मे आत्महत्या का विचार सबसे पहले आता है इसलिए जितना हो सके उस इंसान के साथ समय बिताए।

 

इसके साथ ही ऐसे बहुत से ngo है जो डिप्रेशन से झुझ रहे लोगो की मदद करते है। आप उन्हे फोन करके अपनी प्रॉब्लम्स का solution जान सकते है।

 

24×7 Helpline: 022-27546669 – aasra foundation

 

 

अंत मे हम फिर यही कहेंगे की लोग अपनी मनोवैज्ञानिक समस्याओ पर  पर्दा डाले रहते हैं। उन्हें लगता है कि अपनी दिक्कत बताने पर वो मज़ाक का विषय बन जाएंगे जो की गलत है। यह रवैया दिक्कत को कम करने की बजाय ओर बड़ा देता है। अगर आपको या आपके आस पास किसी को डिप्रेशन बहुत ज्यादा हो गया है  तो उसे किसी psychologist या psychiatrist के पास जरूर जाए। इसका इलाज मनोवैज्ञानिक तरीके  से बहुत आसानी से किया जा सकता है।

 

NOTE – अगर आप स्ट्रैस, डिप्रेशन, कैरियर, रिलेशनशिप या  अन्य मनोविज्ञानिक समस्या से जूझ  रहे है  और उससे छुटकारा पाना चाहते है तो आप हमारे एक्स्पर्ट्स से consult कर सकते है। ये process totally फ्री है। आपको  https://bit.ly/2oZfwCj पर phone call appointment बूक करनी हे और checkout पर  THERAPY100  coupon apply करना है। जिससे आपकी appointment फ्री मे बूक हो जाएगी और आप counselor से अपनी problem discuss कर पाएंगे।

 

अगर आपका कोई सवाल हो तो आप नीचे comment करके पूछ सकते है। हमारे आने वाले  आर्टिक्ल को पाने के लिए नीचे फ्री मे subscribe करे।

 

read more about depression 

स्किज़ोफ्रेनिया के कारण लक्षण और इलाज़ schizophrenia in hindi

ऑब्सेसिव कंपल्सिव डिसऑर्डर के कारण, लक्षण और इलाज obsessive compulsive disorder in hindi

क्या आप भी दे रहें है अपने बच्चों को स्ट्रेस??

जानिए कैसे पायें तनाव से छुटकारा

 

Enter your email address:

Delivered by FeedBurner

500 Comments

  1. akash 31/07/2017
  2. rehaan verma 31/07/2017
  3. hariom sharma 06/08/2017
  4. Karan singh 11/08/2017
  5. Hindraj 12/08/2017
  6. somveer 12/08/2017
  7. mukesh lodha 16/08/2017
  8. Anil 18/08/2017
  9. Sony kunar 01/09/2017
    • Sony kunar 01/09/2017
  10. suraj singh 08/09/2017
  11. केशव 11/09/2017
    • whats knowledge 12/09/2017
  12. A.m. 13/09/2017
    • RAM 16/09/2017
  13. shiv chaturvedi 13/09/2017
  14. Mishti 13/09/2017
  15. omprakash 18/09/2017
  16. sanju 24/09/2017
  17. abhinay kumar 24/09/2017
  18. Hemlata 25/09/2017
  19. Baishali Bhattacharya 26/09/2017
  20. Dalbir 28/09/2017
  21. nilesh 29/09/2017
  22. Abhi 04/10/2017
  23. Neelam Chauhan 05/10/2017
  24. sonia 06/10/2017
  25. roma 06/10/2017
  26. Yashu 09/10/2017
  27. Disha 11/10/2017
  28. mahendra 11/10/2017
  29. mahendra 11/10/2017
  30. Laddu 15/10/2017
    • vinit 23/12/2017
  31. kanika 25/10/2017
  32. Jishan 27/10/2017
  33. sidheswar 05/11/2017
  34. satish 10/11/2017
  35. Sajan kumae 12/11/2017
  36. neha 15/11/2017
  37. LOKESH KUMAR 21/11/2017
  38. Nitin Balania 23/11/2017
    • Ravi Pasi 24/11/2017
      • whats knowledge 25/11/2017
  39. nitu 26/11/2017
    • whats knowledge 26/11/2017
      • faiz Anwar 09/12/2017
        • whats knowledge 09/12/2017
  40. gaurav 30/11/2017
  41. tejram badoni 30/11/2017
    • faiz Anwar 09/12/2017
  42. faiz Anwar 09/12/2017
  43. Sp 09/12/2017
  44. Hemlata 13/12/2017
    • Hem Pathak 25/02/2018
  45. javed 16/12/2017
  46. Dinesh ghagre 16/12/2017
  47. ravi 17/12/2017
  48. Vishal ramabhaii 17/12/2017
  49. Jamal sharma 22/12/2017
  50. Nishant vats 23/12/2017
  51. Nishant vats 23/12/2017
    • whats knowledge 27/12/2017
  52. kusum chaudhary 27/12/2017
    • whats knowledge 29/12/2017
  53. Varsha Rani 29/12/2017
  54. dharmendra 29/12/2017
  55. washi ahmed ansari 01/01/2018
  56. roshni 03/01/2018
    • whats knowledge 05/01/2018
  57. Mukesh kumar 04/01/2018
    • whats knowledge 09/01/2018
  58. rishabhdev Tiwari 04/01/2018
  59. priya 05/01/2018
    • whats knowledge 06/01/2018
  60. Atul 07/01/2018
  61. Sanket tiwari 10/01/2018
  62. shailesh purohit 11/01/2018
  63. Anna mary 17/01/2018
  64. waseem 21/01/2018
  65. Sanjay choudhary 24/01/2018
  66. prabhakar 24/01/2018
  67. neelam dutt 26/01/2018
  68. nitesh 30/01/2018
  69. Bittu kumar rawani 02/02/2018
  70. Manisha kumari 03/02/2018
  71. sanjeev kumar gaurav 10/02/2018
  72. Satish 16/02/2018
  73. Naresh 17/02/2018
    • whats knowledge 18/02/2018
  74. मनीष वर्मा 27/02/2018
  75. Sunil solanki 01/03/2018

Leave a Reply