मकर संक्रांति क्या है और ये क्यो मनायी जाती है, इसका महत्व क्या है

मकर संक्रांति का त्यौहार जनवरी महीने में मनाया जाता है, इसे माघी भी कहा जाता है. यह हिन्दू त्यौहार सूर्य की उपासना के साथ जुड़ा है. जब सूर्य एक राशि से दूसरी राशि में प्रवेश करता है तो इसे संक्रांति कहते हैं. एक संक्रांति से दूसरी संक्रांति के बीच का जो समय होता है उसे सौर मास कहते है. मकर संक्रांति मे सूर्य धनु राशी से मकर राशी में प्रवेश करता है. मेष, कर्क, तुला और मकर संक्रांति के अलावा 12 सूर्य संक्रांति हैं, लेकिन मकर संक्रांति इनमे से सबसे प्रमुख होती हैं और इसे देश के विभिन्न भागो मे त्यौहार के रूप में मनाया जाता है, जहाँ इस त्यौहार के ना सिर्फ  अलग अलग नाम होते है, बल्कि मनाने का तरीका और रीती रिवाज भी अलग अलग होते है. तमिलनाडु मे इस पर्व को पोंगल कहा जाता है तो हरियाणा, हिमाचल प्रदेश, पंजाब मे इसे माघी कहा जाता है.

 

इसके अलावा विभिन्न राज्यों मे इस पर्व को इन अलग अलग नामो से जाना जाता है.

 

असम मे भोगाली बिहु

उत्तर प्रदेश और पश्चिमी बिहार मे खिचड़ी

पश्चिम बंगाल मे पौष संक्रान्ति

उत्तर प्रदेश, उत्तराखण्ड, बिहार, पश्चिम बंगाल, छत्तीसगढ़, गोआ, तेलंगाना, कर्नाटक, केरल, मध्य प्रदेश, महाराष्ट्र, मणिपुर, ओड़ीसा, हरियाणा, बिहार, झारखण्ड, आंध्र प्रदेश, राजस्थान, सिक्किम और जम्मू मे मकर संक्रान्ति

कर्नाटक मे मकर संक्रमण, भारत के अलावा यह पर्व दूसरे देशो में भी मनाया जाता है

 

मकर संक्रांति का महत्व

 

इस दिन से सूर्य की गति दक्षिणायन से उतरायण हो जाती है, शास्त्रो मे दक्षिणायन को नकारात्मकता का प्रतीक तथा उत्तरायण को सकारात्मकता का प्रतीक माना गया है. क्योकि दक्षिणायन को देवताओं की रात्रि और उत्तरायण को देवताओं का दिन माना गया है. सूर्य की राशि में परिवर्तन अँधेरे से रौशनी की ओर का प्रतीक है. इस दिन शुभ मुहर्त मे दान, स्नान और धार्मिक क्रिया कलापो को विशेष महत्व दिया जाता है. मकर संक्रान्ति से विभिन्न राज्यों में गंगा नदी के किनारे माघ मेले का आयोजन किया जाता है. इस अवसर पर गंगा स्नान शुभ माना जाता है. पकवान बांटे जाते है और पतंगे उड़ाई जाती है. मकर संक्रांति से दिन बड़े तथा राते छोटी होने लगती है क्योकि सूर्य उत्तरी गोलार्द्ध की ओर आता है जो की भारत के अपेक्षाकृत पास होता है और यहाँ बसंत ऋतू का प्रारंभ होता है.

 

2018 मे कब मनायी जायेगी मकर संक्रांति

2018 मे 14 जनवरी को रविवार के दिन इस त्यौहार को मनाया जायेगा. हिन्दू माह के पौष शुक्ल पक्ष में मकर संक्रांति के त्यौहार को मनाया जाता है.

 

इन लेखो को भी पढ़े

क्यों मनाई जाती है लोहड़ी

जानिए वर्धमान का भगवान महावीर बनने तक का सफ़र

हेमिस त्यौहार क्या है, ये कब कैसे और क्यों मनाया जाता है

 

contact for web designing

Enter your email address:

Delivered by FeedBurner

Leave a Reply