जानिए कैसे बढ़ाए अपना CIBIL स्कोर How to Improve CIBIL Score in hindi

जानिए क्या होता है CIBIL और कैसे लाये सिबिल स्कोर मे  सुधार

एक बैंक या financial institution  आम तौर पर आपकी loan और credit card application  को स्वीकार या अस्वीकार करने के किए कुछ दिन का समय लगाते है । वे आपकी creditworthiness की समीक्षा करने  के साथ-साथ आपकी पिछली credit history और वर्तमान देनदारियों जैसे कारकों के आधार पर ऋण राशि का मूल्यांकन करते हैं। इसी के आधार पर, वे आपको दी जा सकने वाली ऋण राशि का आकलन करते है । लेकिन क्या आप जानते है उन्हें यह निर्णय लेने के लिए आवश्यक जानकारी कैसे मिलती है? कैसे बैंक आपकी credit history का पता लगाता है?  यह एक सरल प्रक्रिया है।

वे एक क्रेडिट सूचना कंपनी (सीआईसी) में जाते हैं। भारत की सबसे प्रतिष्ठित Credit Information Company में से एक क्रेडिट इंफॉर्मेशन ब्यूरो (इंडिया) लिमिटेड है, जिसे CIBIL के नाम से जाना जाता है। आइए जानें कि यह ब्यूरो कैसे काम करता है।

 

What is CIBIL in hindi? – सिबिल क्या है

अगस्त 2000 में स्थापित, क्रेडिट इंफॉर्मेशन ब्यूरो (इंडिया) लिमिटेड यानि CIBIL, भारत की पहली क्रेडिट सूचना कंपनी है। क्रेडिट ब्यूरो आपकी क्रेडिट जानकारी एकत्र करता है और संग्रहीत करता है। आपके सभी क्रेडिट कार्ड और ऋण की जानकारी , प्रदर्शन और पुनर्भुगतान के रिकॉर्ड रखता हैं। यह सब जानकारी तब वित्तीय संस्थानों के साथ साझा की जाती है जो इसके लिए अनुरोध करते हैं ताकि वे उस ऋण राशि का आकलन कर सकें जिसके लिए आप योग्य हैं। भारतीय रिजर्व बैंक (आरबीआई) के अनुसार, भारत में सभी वित्तीय संस्थानों को सीआईसी का सदस्य होना अनिवार्य है ।

 

What is CIBIL SCORE in hindi? – सिबिल स्कोर क्या है

भारतीय रिजर्व बैंक द्वारा लाइसेंस प्राप्त चार क्रेडिट सूचना कंपनियों में क्रेडिट इंफॉर्मेशन ब्यूरो (इंडिया) लिमिटेड (CIBIL) सबसे लोकप्रिय है। क्रेडिट सूचना कंपनियों के रूप में कार्य करने के लिए RBI द्वारा लाइसेंस प्राप्त तीन अन्य कंपनियां भी हैं। वे एक्सपेरियन, इक्विफैक्स और हाईमार्क हैं। हालांकि, भारत में सबसे लोकप्रिय क्रेडिट स्कोर CIBIL स्कोर है।

सिबिल लिमिटेड के पास 600 मिलियन लोगो और 32 मिलियन व्यवसायों की क्रेडिट फ़ाइलें है। CIBIL India एक अमेरिकी बहुराष्ट्रीय समूह TransUnion का हिस्सा है। इसलिए भारत में क्रेडिट स्कोर CIBIL Transunion स्कोर के रूप में जाना जाता है।

बैंक और अन्य ऋणदाता हर महीने CIBIL को सभी ऋण और क्रेडिट कार्ड विवरण प्रस्तुत करते हैं। एक बार जब सूचना प्राप्त हो जाती है और आपके रिकॉर्ड संसाधित हो जाते हैं, तो CIBIL आपकी क्रेडिट सूचना रिपोर्ट (CIR) तैयार करता है। CIR में आपकी बचत का कोई रिकॉर्ड नहीं होता है। समय के साथ सभी ऋण प्रकारों और क्रेडिट संस्थानों में आपके क्रेडिट भुगतान इतिहास को रेखांकित किया जाता है ।

CIBIL रिपोर्ट में आपके द्वारा लिए गए क्रेडिट की पूरी जानकारी होती है, जैसे होम लोन, कार लोन, ओवरड्राफ्ट सुविधाएं, क्रेडिट कार्ड, पर्सनल लोन, आदि।

CIBIL Transunion Score 3 अंकों की संख्या होती है जो आपकी credit history दर्शाती है। इस स्कोर की गणना आपकी क्रेडिट रिपोर्ट के आधार पर की जाती है । credit history आपके ऋणों के पुनर्भुगतान का रिकॉर्ड होता है। एक क्रेडिट रिपोर्ट कई स्रोतों से आपकी क्रेडिट हिस्ट्री का रिकॉर्ड रखती है, जिसमें बैंक, क्रेडिट कार्ड कंपनियां, संग्रह एजेंसियां शामिल हैं।

क्रेडिट स्कोर एक mathematical algorithm है जो क्रेडिट जानकारी पर लागू होता है ताकि यह अनुमान लगाया जा सके कि आप लोन या क्रेडिट कार्ड लेने के कितने योग्य हैं।

CIBIL स्कोर 300 से 900 के बीच होता है। उच्च स्कोर का अर्थ एक अच्छा क्रेडिट स्कोर है। इसलिए स्कोर को 900 के करीब ले जाना बेहतर होता है। यदि आपका क्रेडिट स्कोर 300 के करीब है, तो उच्च संभावना है कि आपके क्रेडिट कार्ड के आवेदन को अस्वीकार कर दिया जाएगा।

CIBIL अध्ययन से पता चलता है कि यदि आपका स्कोर 720 से अधिक है तो loan providers आपको loan देने की अधिक संभावना रखते हैं। यदि ऋण प्रदाता आपके CIBIL स्कोर के आधार पर आपके आवेदन का मूल्यांकन करने का निर्णय लेता है, तो वे आपके पूर्ण CIR को देखेंगे और आपकी eligibility निर्धारित करेंगे।

एक CIBIL क्रेडिट स्कोर के निर्माण में थोड़ा समय लगता है और आमतौर पर संतोषजनक क्रेडिट स्कोर प्राप्त करने के लिए 18 से 36 हफ़्तों के बीच का समय लग जाता है।

.

How to Get Free CIBIL Report – फ्री सिबिल रिपोर्ट कैसे प्राप्त करें

भारतीय रिज़र्व बैंक के निर्देशों के अनुसार, ट्रांसयूनियन सिबिल सहित देश की सभी क्रेडिट सूचना कंपनियों को एक वर्ष में एक बार अनुरोध पर एक निःशुल्क क्रेडिट रिपोर्ट प्रदान करना आवश्यक है। अपनी नि: शुल्क CIBIL रिपोर्ट देखने के लिए, TransUnion CIBIL की आधिकारिक वेबसाइट पर जाएं और Get Click here to get your Free Annual CIBIL Score टैब पर क्लिक करें । जरूरी information भरे जिसके जरिये आप अपनी सिबिल रिपोर्ट प्राप्त कर सकते है।

इसके अलावा paytm के जरिये भी आप अपने सिबिल स्कोर की जानकारी प्राप्त कर सकते है।

 

 

Factors that Affect Your CIBIL Score – कारक जो आपके सिबिल  स्कोर को प्रभावित करते हैं

Payment History

क्रेडिट स्कोर की गणना आपकी क्रेडिट हिस्ट्री के आधार पर की जाती है। हाल के दिनों या पिछले कुछ वर्षों में कोई चूक या देर से भुगतान आपके क्रेडिट स्कोर को नकारात्मक रूप से प्रभावित करता है।

 

High Utilisation of Credit Limit

उपयोग प्रतिशत/ Utilization percentage आपकी क्रेडिट सीमा के कुल बकाया ऋण का अनुपात है। यदि आप अपने ऋण को समय पर चुकाते हैं और आपका बकाया ऋण और बकाया क्रेडिट कार्ड का बैलेंस कम हो रहा है, तो आपका उपयोग प्रतिशत भी घट जाएगा। यह आपके क्रेडिट ब्यूरो द्वारा सकारात्मक रूप से लिया जाता है। लेकिन अगर आपका क्रेडिट कार्ड या ऋण भुगतान समय के साथ बढ़ता जा रहा है, तो यह दर्शाता है कि आप पर पुनर्भुगतान का बोझ बढ़ रहा है। यह आपके क्रेडिट स्कोर को नकारात्मक रूप से प्रभावित करता है ।

 

Higher percentage of unsecured loans

आपके लोन पोर्टफोलियो में होम लोन या कार लोन जैसे सुरक्षित ऋण का उच्च प्रतिशत आपके क्रेडिट स्कोर के लिए बेहतर है क्योंकि ये ऋण आम तौर पर सस्ती दरों पर उपलब्ध हैं। जबकि असुरक्षित ऋण आसानी से उपलब्ध हैं, लेकिन महंगे भी हैं जैसे Personal Loan, Student Loans आदि । असुरक्षित ऋण का उच्च अनुपात क्रेडिट ब्यूरो को एक धारणा देता है कि आपको उच्च ब्याज दरों के साथ सेवा ऋण देना है।

 

High number of credit application

बड़ी संख्या में क्रेडिट एप्लिकेशन का मतलब है कि आप अक्सर ऋण लेने का प्रयास कर रहे हैं। यह आपके क्रेडिट स्कोर को नकरात्मक रूप से प्रभावित करता है।

 

How to Improve CIBIL Score in hindi – CIBIL स्कोर कैसे बढ़ाएँ

 

Pay Dues on Time

अपनी रेटिंग को बेहतर बनाने के लिए अपने सभी क्रेडिट कार्ड और लोन  के बकाया को चुकाना काफी महत्वपूर्ण है। अपने क्रेडिट कार्ड खर्च की योजना इस तरह से बनाएं कि आप नियत तारीख से पहले अपने क्रेडिट कार्ड के बिल का भुगतान कर सके । यह आपके CIBIL स्कोर को सकारात्मक रूप से सुदृढ़ करने के लिए जरूरी है । अच्छा वित्तीय व्यवहार और अनुशासन वह है जो ऋणदाता अपने ग्राहकों में तलाशते हैं।

 

The 30% rule of credit utilization

कभी भी सब कुछ खरीदने के लिए अपने क्रेडिट कार्ड का उपयोग न करें। आपको क्रेडिट उपयोग के लिए 30% नियम को ध्यान रखना होगा। कभी भी 30% से अधिक क्रेडिट का उपयोग न करें और यह न केवल वित्तीय अनुशासन और वित्तीय प्रबंधन के लिए आपकी विश्वसनीयता स्थापित करेगा, बल्कि आपके CIBIL स्कोर को सकारात्मकता के साथ बढ़ाएगा।

 

Enhanced credit limit

जब भी आपकी रेटिंग अच्छी होगी, बैंक आपके क्रेडिट कार्ड पर आपकी क्रेडिट सीमा बढ़ाने की पेशकश करेगा। ऐसे मे कभी भी बढ़ी हुई क्रेडिट सीमा प्राप्त करने से इंकार नहीं करे । इसका मतलब यह नहीं है कि आपको अधिक खर्च करना होगा, लेकिन यह केवल आप पर बैंक के आत्मविश्वास को दर्शाता है। आप अपने बैंक से अपनी क्रेडिट सीमा बढ़ाने के लिए भी कह सकते हैं, क्योंकि बढ़ी हुई क्रेडिट सीमा में हमेशा रेटिंग एजेंसियों के plus points होते हैं।

 

Check your CIBIL report for mistakes and rectify them

नियमित रूप से अपनी क्रेडिट रिपोर्ट की जाँच करना जरूरी है क्योंकि यह आपको दो चीजें बताएगा जो आपके क्रेडिट स्कोर के लिए महत्वपूर्ण हैं। पहला ऋण या क्रेडिट कार्ड मे चूक या delayed payments मौजूद हैं जो आपके स्कोर को नीचे ले जा रही हैं। और दूसरा क्रेडिट रिपोर्ट में दर्ज की गई जानकारी। यह क्रेडिट स्कोर को ठीक करने में मदद करता है क्योंकि यदि आप नोटिस करते हैं कि भुगतान में चूक या देरी जैसी नकारात्मक जानकारी मौजूद है जो आपके अनुसार सही नहीं है, तो रिपोर्ट को ठीक करने के लिए आप हमेशा बैंक और CIBIL से संपर्क कर सकते हैं।

 

Don’t keep applying for credit if rejected

यदि आपने लोन या क्रेडिट कार्ड के लिए आवेदन किया है और आपका आवेदन अस्वीकार कर दिया गया है, तो यह जानकारी आपकी क्रेडिट रिपोर्ट में दर्ज की जाएगी। यदि आप तुरंत किसी अन्य बैंक में जाते हैं और आवेदन करते हैं तो वे आपका कम स्कोर और पिछली अस्वीकृति देखेंगे और आपके आवेदन को अस्वीकार कर देंगे । ऐसे मामलों में सबसे अच्छी बात यह है कि फिर से आवेदन न करें और स्कोर में सुधार के लिए प्रतीक्षा करें।

 

Avoid taking on too much debt at one time

आपके द्वारा लिए जाने वाले loans की संख्या न्यूनतम होनी चाहिए।  यदि आप एक साथ कई loans लेते हैं, तो यह दिखाएगा कि आप एक अक्षम चक्र में हैं जहां आपके पास अपर्याप्त धन है। नतीजतन, आपका क्रेडिट स्कोर और गिर जाएगा। दूसरी ओर, यदि आप loan लेते हैं और इसे सफलतापूर्वक चुकाते हैं, तो यह आपके क्रेडिट स्कोर को बढ़ावा देगा।

 

तो दोस्तो यह थी कुछ जरूरी जानकारी जिसकी मदद से आप अपने CIBIL Score को बढ़ा सकते है।

उम्मीद करते है यह जानकारी आपके लिए फायेदेमंद साबित होगी। अगर आपके कोई सवाल या सुझाव है तो कृपया कमेंट के जरिये अपनी बात रखे और हमारे आने वाले सभी आर्टिक्ल की जानकारी तुरंत पाने के लिए हमे free subscribe करना न भूले।

 

यह भी जाने

कैसे बनाये बिज़नस कार्ड Tips to Design A Business Card in Hindi

6 महत्वपूर्ण रिज्यूमे टूल्स जिन्हें आपको आजमाने की ज़रूरत है

कैसे बनाये फ्री में wordpress blog

कैसे करे पैन कार्ड के लिए आवेदन How to apply for PAN CARD in hindi

Enter your email address:

Delivered by FeedBurner

Leave a Reply