दाँत पीले क्यो पड़ जाते है और दाँतो को सफेद और चमकदार कैसे बनाये

खुश रहना वो दवा है, जो एकदम मुफ्त है। हमारे चहरे पर आने वाली हंसी, हमे खुश होने का एहसास कराती है। खिलखिलाती हुई हंसी हमारे दाँतो को भी दिखाती है। सांफ सूथरे और सफेद दाँत हमारा आकर्षण भी बड़ा देते है और हमारा चेहरा ज्यादा सुंदर दिखने लगता है। कभी कभी तो सफेद दाँतो के कारण लोगो का आत्म विश्वास भी बड़ा दिखता है। सफेद दाँत सामने वाले के मन मे भी अपने प्रति प्रभाव पैदा करता है। कई बार कई कारणो से हमारे दाँत पीले दिखने शुरू हो जाते है। वैसे तो किसी भी डेन्टिस्ट के पास जाकर अपने दाँतो को सफेद करवाया जा सकता है, डेन्टिस्ट ब्लीचिंग तकनीक की मदद से आसानी से आपके दाँतो को सफेद कर सकते है और अगले  तीन चार महीने तक आपके teeth white और चमकदार दिखेंगे।

लेकिन ये प्रक्रिया काफी महंगी होती है और स्थायी भी नहीं होती, इसलिए इसे अफोर्ड कर पाना हर किसी के लिये आसान नहीं होता, साथ ही खर्च हर डेन्टिस्ट के हिसाब से अलग अलग होता है और कुछ हजार रूपय आपकी जेब से आसानी से निकल सकते है। ऐसे मे जो लेग डेन्टिस्ट के पास जाकर अपने दाँत सफेद करवाते है उनके लिये अच्छा होगा की वो शादी या पार्टी के वक़्त या फिर किसी खास मौके पर ऐसा करे।

फिर एक तरीका ओर है जिसमे आप घर बैठे भी अपने दाँतो को सफेद और चमकदार बना सकते है, ऐसे कुछ कारगार नुस्खे है जिनकी मदद से अपने दाँतो को सफेद और चमकदार बनाया जा सकता है। तो पहले हम देख लेते है की  वो क्या कारण है जिससे दाँत पीले हो जाते है।

 

दाँत पीले हो जाने के क्या कारण है  – Causes of yellow teeth in hindi

 

उम्र के साथ दाँत पीले होने लगते है। दाँत पीले होने के और दाँतो पर स्टेनस पड़ने के कई कारण हो सकते है जैसे की तंबाकू और पान चबाना। रेड वाइन, चाय और काफी के कारण। कुछ फल जैसे की अनार और कुछ सबजिया भी दाँतो के नैचुरल सफेद रंग खोने का कारण हो सकती है। ओरल हायजीन मैंटेन ना करना। कुछ बीमारियो और मेडिकल इलाज के कारण भी दाँतो पर  स्टेनस पड़ जाते है या वे पीले हो जाते है। कई बार तो माउथवाश और हल्दी के कारण भी teeth पीले पड़ जाते है।

 

उम्र के साथ दाँत पीले क्यो पड़ जाते है why are old peoples susceptible with tooth discoloration in hindi

जैसे जैसे हमारी उम्र बढ़ने लगती है हमारी दाँतो की ऊपरी परत जिसे एनेमल (enamel) कहते है पतली और कम होती जाती है, जिससे दाँत का दूसरा सबसे अहम भाग जिसे डेंटिन (dentin) कहा जाता है दिखना शुरू हो जाता है, डेंटिन का रंग पीला होता है। जिससे उम्र के साथ दाँत भी पीले दिखने शुरू हो जाते है। ऐसे मे white teeth करने वाले एजेंटस भी ऐसे दाँतो पर कम असरदार होते है।

 

दाँतो को सफेद करने के उपाय –  teeth whitening tips in Hindi

 

ब्‍लीच कराकर पाये चमकदार दाँत  – Teeth bleaching in hindi

अगर आपके teeth पीले है तो उन्हे जल्दी और ज्यादा सफेद बनाने का एक तरीका है की आप किसी अच्छे डेन्टिस्ट की मदद से अपने दाँतो को सफेद बना सकते है। इस प्रक्रिया मे कुछ आधा या एक घंटा लगेगा। और आपके दाँत सफेद और चमकदार दिखने लगेंगे। प्रक्रिया महंगी लेकिन असरदार और जल्दी परिणाम देने वाली लेकिन अस्थायी है। डेन्टिस्ट दाँत सफेद करने के लिये जिस प्रक्रिया का इस्तेमाल करते है उसे ब्लीचिंग कहते है। ये प्रक्रिया पेरोक्साइड नामक एजेंट पर आधारित होती है, ये दाँतो को सफेद करता है, दाँतो को सफेद करने के ज्यादातर प्रोडक्टस मे पेरोक्साइड  होता है। इसके अलावा कुछ डेन्टिस्ट दाँत सफेद करने के लिए laser whitening का इस्तेमाल भी करते है। ये नयी तकनीक पर आधारित है।

 

Peroxide based products  पेरोक्साइड बेस्ड प्रॉडक्ट

 

मार्केट मे ऐसे कई जैल, टूथपेस्ट, व्हाइटनिंग पेन, व्हाइटनिंग ट्रे और व्हाइटनिंग स्ट्रीप्स उपलब्ध है जिनमे पेरोक्साइड होता है। ये टुथ व्हाइटनिंग एजेंट होता है। ये दाँतो पर से धब्बे हटा देता है। इसका प्रभाव तीन से चार महीने तक रहता है।  जो पेरोक्साइड बेस्ड प्रॉडक्ट आप प्रयोग करना चाहते है उसमे पेरोक्साइड की मात्रा कितनी है, क्या आपके मुंह के लिये ये सूरक्षित है की जानकारी लेना भी बहुत जरूरी है। आमतौर पर 3 या 5 प्रतिशत तक पेरोक्साइड की मात्रा सूरक्षित मानी जाती है। हालांकि इन्हे प्रयोग करने से पहले एक बार डेन्टिस्ट या केमिस्ट वाले से सलाह ले लेना एक बुद्धिमानी वाला निर्णय होगा।

 

food and drinks that stain teeth

दाँतो के नैचुरल रंग को हटाने वाले खाध और पेय पदार्थो से बचना और उन्हे सीमित करना जैसे की कुछ खाने और पीने की चीजो मे ज्यादा एसिड और टेनिन होता है।  इनमे स्ट्रॉंग सोडा, चाय और काफी, स्पोर्ट्स ड्रिंक्स, अनार, जामुन, रेड वाइन आदि शामिल है। डेंटिस्ट्स के अनुसार एक दिन मे 2 से ज्यादा बार कॉफी और चाय का सेवन नहीं करना चाहिए।

 

Maintain Oral Health

दाँतो को सफेद करने के लिये जरूरी है ओरल हैल्थ को मैंटेन करना, जो भोजन आप करते है वो आपके दाँतो मे फंस जाता है ये आगे चलकर प्लाक (plaque) बन जाता है जो की दाँतो के सफेद नैचुरल रंग को पीला कर देता है। इसलिये जरूरी है की दिन मे दो बार ब्रश करे और डेंटल फ्लॉस की मदद से दाँतो के बीच फंसा भोजन भी निकाल दे। डेंटल फ़्लॉस पतले फ़िलामेंट्स की एक cord है जिसका उपयोग भोजन और प्लाक को दांतों के बीच से निकालने के लिए किया जाता है, जहां एक टूथब्रश पहुँचने में असमर्थ होता है। इसे आप केमिस्ट से खरीद सकते है।

साथ ही खाने के बाद कुल्ला जरूर करे। दाँतो के अंदर कोई भी खाना फंसा ना रहने दे।

यहाँ आपको ये बात ध्यान रखनी है की दाँत सफेद के उत्पाद प्रयोग करते वक्त डेन्टिस्ट की सलाह बहुत उपयोगी होती है क्योकि दाँत सफेद करने के लिये किये गये उपाय ज्यादातर सफल तब होते है जब आपके दाँत पीले हो यदि दाँतो का रंग ब्राउन, ग्रे या दूसरा कोई रंग है तो संभव है की दाँत सफेद करने के लिये प्रयोग किये गये ज्यादातर प्रोडक्टस असर ना छोड़ पाये। ऐसे मे डेन्टिस्ट से बात कर लेना ही उचित होगा।

दोस्तो अपने अगले आर्टिक्ल मे कुछ homemade tips का जिक्र करेंगे जिनकी मदद से आप दाँतो मे चमक ला सकते है। आपको हमारा यह आर्टिकल पसंद आया हो तो इसे शेयर करना न भूले और हमारे आने वाले सभी आर्टिक्ल की लेटैस्ट नोटिफ़िकेशन पाने के लिए हमे subscribe जरूर करे।

 

यह भी जाने

ऐसी पाए एकदम चमकती त्वचा Tips for Glowing Skin in hindi

कैसे रखे अपने आप को एकदम फिट – best health tips in hindi

जानिए कैसे बढ़ाए कद best tips for increasing height naturally

Best tips for weight lose in Hindi – कैसे घटाएँ वजन

Enter your email address:

Delivered by FeedBurner

Leave a Reply