जानिए जीका वायरस के बारे में इतिहास कारण लक्षण बचाव और इलाज

जिका वायरस क्या है और कैसे फैलता है जिका वायरस – जीका वायरस Flaviviridae नामक वायरस परिवार का सदस्य है.जीका वायरस की पहचान सबसे पहले यूगांडा में 1947 मे हुई थी. यह वायरस संक्रमित एडीज नामक मच्छर की प्रजाति  (Ae. aegypti और Ae. albopictus) के काटने से फैलता है. इसी तरह के मच्छर डेंगू बुखार, येलो फीवर और चिकनगुनिया वायरस भी फैलाते है. जीका वायरस इसी मच्छर के काटने से फैलता है. इसके अलावा जिका वायरस सेक्स से भी फैलता है. जो व्यक्ति जिका वायरस से प्रभावित है उसके सेक्स पार्टनर तक भी यह फ़ैल सकता है. गर्भावस्था के दौरान यदि कोई महिला जिका वायरस से प्रभावित है तो इससे बच्चे को गंभीर बीमारी हो सकती है जिसे microcephaly कहा जाता है. यह बीमारी अपूर्ण मस्तिष्क विकास का चिह्न है. इस बीमारी में नए पैदा बच्चो का सर सामान्य से छोटा होता है.  जिका वायरस का अभी तक कोई दवाई या टिका नहीं बना है.

 

जीका वायरस इतिहास zika virus history in hindi

जीका वायरस की खोज सबसे पहले 1947 में युगांडा में हुई जहाँ zika forest के नाम से इसका नामकरण हुआ. 1952 में जिका से प्रभावित मानव का सबसे पहला मामला सामने आया, तब से यह अफ्रीका, दक्षिणपूर्व एशिया और पेसिफ़िक आइसलैंड में फैला. पिछले कुछ सालो से जिका से प्रभावित क्षेत्र दक्षिण अमरीका, मध्य अमेरिका और कैरैबिया (Caribbean) के देश रहे है. जिनमे ब्राजील और कोलंबिया प्रमुख है. 2007 में जिका संक्रमण से हुई बीमारी का पहला बड़ा मामला सामने आया, यह मामला yap island से सामने आया.

 

जीका वायरस लक्षण zika virus symptoms in hindi

जिका वायरस के सामान्य लक्षण बुखार, सिरदर्द, जोड़ो का दर्द, मांसपेशियों में दर्द, लाल आँखे होना, लाल चकत्ते (rash), बेचैनी आदि है. ये लक्षण कई दिनों तक या हफ्ते भर तक रहते है. जिका से संक्रमित कई लोगो के हल्के लक्षण दिखाई दिए है. जिका के लक्षण उन्ही वायरस की तरह है जो की मच्छरो के काटने से फैलते है जैसे डेंगू और चिकुनगुनिया.

जिका वायरस का इलाज कैसे करे zika virus treatment

जिका वायरस की कोई टिका या दवाई बनी नहीं है. यह वायरस एक हफ्ते तक संक्रमित व्यक्ति के खून में रहता है. अगर आपको इसके लक्षण दिखाई दे या आप उस जगह पर है जहाँ जिका वायरस फैला हुआ है तो आप डॉक्टर या अस्पताल में चेक कराये.डॉक्टर से मिलना तब और महत्वपूर्ण हो जाता है जब महिलाये गर्भावस्था में होती है. खून या मूत्र की जाँच इस बात की पुष्टि कर देती है की आपको जिका इन्फेक्शन है.

loading...

CDC (Centers for Disease Control and Prevention) के अनुसार जिका का इलाज करने के लिए ज्यादा आराम करे और निर्जलीकरण से बचने के लिए ज्यादा तरल पदार्थो का सेवन करे. लक्षणो का इलाज करे, एस्पिरिन का सेवन ना करे, acetaminophen दवाई का प्रयोग बुखार और दर्द को कम करता है. यदि आप किसी दुसरे इलाज के लिए दवा ले रहे है तो अपने डॉक्टर से अतिरिक्त इलाज लेने से पहले बात करे.

जीका वायरस से बचने के उपाय

कैसे बचे जीका वायरस से how to prevent zika virus in hindi

  • यदि आप जिका से प्रभावित इलाके में जाने की योजना बना रहे है तो आप मच्छरो के काटने से बचाव करिये, इसके लिए पुरे दिन रेप्लेंट क्रीम (repellent) का प्रयोग कीजिये.
  • आप बाहर हो या अन्दर पुरे आस्तीन (full sleeve) की कमीजे और पेंट पहन कर रखिये.
  • घर के आस-पास, खिड़की दरवाजो, टायर(tires), बाल्टी, गमले, फूलदान, कूलर में पानी जमा न रहने दे. क्योकि मच्छर पानी के किनारे अंडे देते है.
  • उन स्थानों पर जाने से बचे जहाँ जिका वायरस संक्रमण का खतरा हो.
  • जिका वायरस फ़ैलाने वाले मच्छर दिन और रात को काटते है. ये मच्छर डेंगू और चिकुनगुनिया वायरस भी फैलाते है.
  • जिका सेक्स से भी फैलता है, जो व्यक्ति जिका संक्रमण से प्रभावित होता है उसके सेक्स पार्टनर को भी जिका संक्रमण होने का खतरा रहता है. कंडोम(condoms) का प्रयोग सेक्स के दौरान जिका फ़ैलाने का खतरा रोक सकता है.

One Response

  1. Purushottam sahu 08/06/2017

Leave a Reply