जानिए क्या है एलोपेशीया एरेटा (गंजेपन) के कारण, लक्षण और इलाज

कई बार हमारे सर के बाल झड़ने का कारण सामान्य होता है जिसमे बाल कमजोर होकर टूट जाते है और धीरे धीरे कम होने लगते है लेकिन कई बार सर के बाल सामान्य से थोडा अलग तरीके से झड़ते है जैसे सर में जगह जगह बाल न होना यानि बिना बाल के धब्बे सर में दिखाई देना. यह एक बीमारी है जिसे एलोपेशीया एरेटा/Alopecia Areata  कहते है.  इस आर्टिकल में हम एलोपेशीया एरेटा के कारण लक्षण और इलाज के बारे में जानेगें.

 

क्या है एलोपेशीया एरेटा – what is Alopecia Areata  in hindi

एलोपेशीया एरेटा autoimmune disease से जुडी एक आम समस्या है जिसमे सर के बाल बहुत तेजी से झड़ने लगते है और सर पर जगह-जगह धब्बे बना देते है। यह समस्या तब पैदा होती है जब इम्युनिटी सिस्टम सर के बालो पर हमला कर देता है। उसे लगता है की सर के बाल हमारे शरीर को नुकसान पंहुचा सकते है और फिर स्वस्थ कोशिकाओं पर हमला करने वाले ऑटोएंटिबॉडी नामक प्रोटीन को रिलीज करता है। जिससे अचानक से सर के बाल बहुत तेजी से गिरने लगते है हालांकि यह दुबारा भी आ जाते है। प्रतिरक्षा प्रणाली आमतौर पर बैक्टीरिया और वायरस जैसे कीटाणुओं के खिलाफ रक्षा करती है।

 

alopecia areata ka ilaj hindi me

 

ऐसा बहुत कम मामलों में देखा गया है कि इम्युनिटी सिस्टम सिर्फ सर के बाल ही नही बल्कि  पूरे शरीर के बालो पर हमला कर देता है। ऐसे में पूरे शरीर के बाल झड जाते है. हालाकि समय पर इलाज करने से इस बीमारी से आसानी से बचा जा सकता है.

 

एलोपेशीया एरेटा के कारण – Causes of Alopecia Areata  in hindi

एलोपेशीया immune system से जुडी बीमारी है जिसमे सफ़ेद रक्त कोशिका बाल झड़ने वाली कोशिका पर हमला करती है और उसे सिकोड़ कर बालो के निर्माण को भी धीमा कर देती है हालाकि यह बीमारी ज़्यादातर परिवार के किसी सदस्य से आती है यानि जेनटिक होती है या फिर जिनके परिवार में किसी को टाइप 1  डायबिटीज या रूमेटॉइड अर्थराइटिस जैसी बीमारी हो.

एलोपेशीया एरेटा होने के मुख्य कारण है.

  • जेनेटिक या कहे अनुवांशिक कारण
  • टाइप 1 डायबिटीज  या रूमेटॉइड अर्थराइटिस
  • सर की त्वचा में कोई संक्रमण होना.
  • कैंसर या रक्त चाप की दवाईयों के दुष्प्रभाव
  • हॉट हेयर आयल ट्रीटमेंट
  • डायबिटीज की दवाई के साइड इफ़ेक्ट

कहा जाता है कि एक दिन में सर के 100 बालो का टूटना आम बात है लेकिन इस बीमारी में बाल जितनी जल्दी टूटते है उतने जल्दी उगते नही है. यानि यह चक्र खराब हो जाता है जिसकी वजह से सर में धब्बे बन जाते है.

 

एलोपेशीया एरेटा के लक्षण – symptoms of Alopecia Areata  in hindi

एलोपेशीया एरेटा के मुख्य लक्षण सर के बालो का झड़ना है जिससे सर में धब्बे बन जाते है। इसके अलावा कई केसेस में पूरे शरीर के बाल झड जाते है. आपको तकिये पर या नहाते हुए आपके टूटे बालो का अहसास होने लगता है और बाल काफी पतले हो जाते है।  पुरुषो में सर के आगे और और बीच के बाल झड़ने लगते है और महिलाओ में सर के उपरी हिस्से से बाल झड़ना शुरू होते है।  पुरुष इसमें पूरी तरह से गंजे हो सकते है लेकिन महिलाए पूरी तरह से गंजी नही होती..

इसके अलावा भी एलोपेशीया एरेटा के कुछ मुख्य लक्षण है जो इस तरह है.

  • सर में सिक्के के आकार में बाल झाड़ना.
  • चेहरे के बालो यानि दाड़ी और पलकों के बाल कम होना.
  • सर पर सफेद लाइन दिखाई देना
  • गंजापन नज़र आना
  • सर में सफेद स्पॉट दिखना
  • नाखुन का पतला होना व टूटना
  • नाखुनो की चमक खत्म होना
  • सर में खारिश होना

एक डेटा के अनुसार लगभग 30% लोग alopecia areata  के शिकार है जिनके या तो बाल झड रहे है या फिर गंजापन दिखने लगा है.

 

एलोपेशीया एरेटा का इलाज – Treatment of alopecia areata  in hindi

आपको यह जानकर ख़ुशी होगी की एलोपेशीया एरेटा का इलाज संभव है हालाकि यह  व्यक्ति व्यक्ति पर निर्भर करता है क्योकि कई लोगो के बाल टूटने के बाद दुबारा उग जाते है पर कई लोगो के नही उगते।  ऐसे में डॉक्टर मरीज को देखने के बाद समीक्षा करते है और सर में खाली जगह की जाँच करते है.

 

स्काल्प बायोप्सी

इसमें डॉक्टर त्वचा की बायोप्सी करते है और पता लगाते है कि कही त्वचा में फंगल इन्फेक्शन तो नही है। स्काल्प बायोप्सी  में सर से मास का टुकड़ा लेते है और उसका विश्लेषण करते है.

 

ब्लड टेस्ट

यदि इम्युनिटी सम्बन्धी कोई बीमारी होती है तो डॉक्टर ब्लड टेस्ट की सलाह देते है।  ब्लड टेस्ट से पता चल जाता है कि खून में कोई एंटीबॉडी शामिल है जो इम्युनिटी सिस्टम को बीमार कर रहा है.

 

मेडिकल ट्रीटमेंट

मेडिकल ट्रीटमेंट में मरीज का विशेष उपचार किया जाता है।  मरीज को दवाई सर की त्वचा पर लगाने के लिए दी जाती है तो कुछ खाने के लिए. शरीर में आयरन और जिंक की वजह से भी बाल टूटते है तो उनकी कमी को पूरा करने के लिए दवाई दी जाती है.

 

एलोपेशीया एरेटा की थेरेपी – Therapy for alopecia areata  in hindi

एलोपेशीया एरेटा के इलाज के लिए कई थेरेपी उपलब्ध है जैसे:-

एक्यूपंक्चर

अरोमाथेरेपी

हर्बल सप्लिमेंट्स

विटामिन

यह सभी थेरेपी बाल को टूटने से बचाती है आप अपनी सहूलियत के हिसाब से किसी भी थेरेपी का इलाज ले सकते हो.

 

एलोपेशीया एरेटा का बचाव – Prevention from alopecia areata  in hindi

यह एक बड़ा सवाल है की हम गंजेपन का शिकार न हो इसके लिए क्या करे. तो हम आपको बता दे कि अगर आपके घर में पहले किसी को alopecia areata  है और आपको भी इसके लक्षण दिखाई दे रहे है तो इसका कोई बचाव नही है यानि अगर आपको जेनटिक है तो आप इससे बचाव का कोई तरीका नही अजमा सकते. और अगर आपके घर में किसी को नही है और आपको इसके लक्षण दिखाई दे रहे है तो आप कुछ सावधानियां बरत कर इससे बच सकते है जैसे

 

  • बालो को टाईट न बांधे. ऐसा कोई भी हेयर स्टाइल न बनाये जिससे बाल टाईट हो जाए.
  • ज्यादा घुमावदार और बालो को रगड़ने का प्रयास बिलकुल न करे.
  • हल्के हाथ से शेम्पू लगाए और मेहंदी भी किसी सॉफ्ट ब्रश से लगायें.
  • जिन दवाओ के सेवन से बाल झाड़ते है उनका सेवन न करें.
  • बालो पर हॉट ऑइल न लगाए.
  • बालो को धुप और पराबैगनी किरणों से बचा कर रखे.

 

एलोपेशीया एरेटा यानि गंजेपन का शिकार होना आजकल एक आम बीमारी जैसा हो गया है।  इसके बारे में जान कर आप इससे इससे बच सकते है हालाकि इस बीमारी के अनुवांशिक होने पर भी  इसका इलाज आसानी से करवा सकते है ताकि आपकी आने वाली पीढ़ी के बाल अच्छे हो सके. उम्मीद है आपको यह जानकारी अच्छी लगी होगी और आप इसे अपने उन साथियों से जरुर शेयर करेंगे जो इस समस्या से झुझ रहे है.

अगर आपके कोई सवाल है तो कमेंट के माध्यम से अपनी बात रखे और हमारे आने वाले सभी आर्टिक्ल की तुरंत नोटिफ़िकेशन पाने के लिए हमे subscribe जरूर करें।

 

यह भी जाने

जानिए थायराइड के लक्षण, कारण और इलाज Thyroid in hindi

जानिए दमा के कारण लक्षण और इलाज Asthma In Hindi

डेंटल फ्लोरोसिस के कारण, लक्षण और इलाज Dental Fluorosis in hindi

जानिए माइग्रेन के कारण लक्षण और इलाज migraine treatment in hindi

Enter your email address:

Delivered by FeedBurner

Leave a Reply