कैसे रोमांटिक रिलेशनशिप सेल्फ इम्प्रूवमेंट मे मदद करती है How Romantic Relationships Motivate Self-Improvement

मनोवैज्ञानिक बहुत समय पहले ही यह निष्कर्ष निकाल चुके है की करीबी व्यक्तिगत संबंध (close personal relationships) पार्टनर्स  को बेहतर बनने मे मदद करती है. यह कैसे होता है? आसान भाषा मे बोले तो यह विभिन्न तरीके से होता है. relationships काम करती है या नही यह निर्धारित करने के लिये सबसे अच्छा तरीका यह है की क्या पार्टनर्स बेहतर, खुश और ज्यादा कामयाब है या नही. आपके जीवन मे एक ऐसे व्यक्ति का होना जो आपकी परवाह करे और हर चीज मे आपकी मदद  करे.  आपको अपने पार्टनर के लिये बेहतर होने के लिये प्रोत्साहित करता है. इस पोस्ट मे हम आपको बतायेंगे की कैसे प्यार आपके  जीवन मे आपको ज्यादा खुशहाल और कामयाब बनाने मे मदद करता  है और आपके सेल्फ इम्प्रूवमेंट मे फायदे पहुचाता  है.

कैसे रोमांटिक रिलेशनशिप अपने आप मे सुधार लाने मे मदद करती है 

How Romantic Relationships Motivate Self-Improvement in hindi

relationships

 

तनाव और अवसाद (tension and depression)

 

आंकड़ो की माने तो जो लोग दीर्धकालिक संबंधो (long term relationships) मे शामिल होते है वे तनाव से दूर रहते है और उनमे डिप्रेशन होने की संभावना भी कम होती है. इसके विपरीत यह बात सच है की दुखी और असफल संबंध टेंशन और डिप्रेशन का कारण बनते है, ज्यादा स्थिर और पूर्ण कार्यात्मक संबंध दो पार्टनरो के बीच तनाव और अवसाद के अनुभव होने की संभावना को कम कर देते है. ऐसा इसलिये क्योकि डेटिंग पार्टनर्स  और रोमांटिक प्रेमी  एक दूसरे  की समस्याओ को उसी तरह से सुनाते और बताते है जिस तरह कोई अपनी समस्याओ को किसी मनोवैज्ञानिक डॉक्टर को बताता है. पार्टनर्स अपनी समस्याओ को एक दूसरे को सुनाते है और उन्हे अपने मन मे नही रखते. यहाँ सिर्फ बात को बताना ही शामिल नही है बल्कि उन पर कार्य करना भी शामिल है. पार्टनर्स एक दूसरे की समस्याओ का समाधान करने के लिये सही सामग्री, विचार और जरुरत पड़े तो शारीरिक मदद भी एक दूसरे को प्रदान करते है. ज्यादातर लोग जो स्ट्रेस और डिप्रेशन से पीड़ित होते है उनकी मदद करने के लिये कोई नही आता. यहाँ तक की कइयो को तो यह भी पता नही होता की वे डिप्रेशन मे है. लेकिन रोमांटिक रिलेशनशिप मे रहने वाले पार्टनर्स एक दूसरे मे आने वाले थोड़े बदलावों को भी देख लेते है, इसलिये वे किसी समस्या की उपस्थिति का पता लगाने मे सक्षम होते है और उसका समाधान करने का प्रयास करते है.

 

 

वित्त (finance)

 

एक हालिया शोध के अनुसार गंभीर लोंग टर्म रिलेशनशिप (Long Term Relationships) में लोग डेटिंग ना करने वाले लोगों की तुलना में अधिक सफल होते हैं। पार्टनर्स को विशेष रूप से करियर के अवसरों और वित्तीय संभावनाओं के संबंध में आत्म-सुधार की दिशा में एक-दूसरे को प्रोत्साहित करना पड़ता है। यह केवल तार्किक है क्योंकि रिलेशनशिप में पार्टनर्स को एक दूसरे के बारे में सोचना चाहिए जैसे की जितना अच्छा वे खुद के बारे मे सोचते है। साथी व्यक्ति के लिये जिम्मेदारी पार्टनर्स को ज्यादा अच्छा कार्य करने के लिये, अच्छी नौकरी के अवसरों की तलाश करने के लिये, और समग्र रूप से अधिक वित्तीय रूप से जिम्मेदार बनाने के लिये प्रोत्साहित करती है.

इसके बारे में सोचें: गंभीर लोंग टर्म रिलेशनशिप परिवार के समान ही हैं और फाइनेंस आमतौर पर एक परिवार में साझा किया जाता है। इसलिए, प्रत्येक पार्टनर एक परिवार के लिए काम करता है जो की उसके लिये अपने बारे मे सोचने से भी ज्यादा बड़ा और महत्वपूर्ण होता है. इसलिए, गंभीर दीर्घकालिक संबंधों में शामिल होना एक लाभ है जो आपकी क्षमता को पूरी तरह से समझने में आपकी सहायता कर सकता है।

 

 

कम्युनिकेशन और दया (communication and compassion)

 

दया और सहानुभूति प्यार के समानार्थी हो सकते है। पार्टनर्स जो वास्तव में एक दूसरे को इतना प्यार करते है वे इन कौशल को सीखते हैं और अंत में, बेहतर पार्टनर बन जाते हैं। यह एक व्यापक राय है कि प्यार दिल को नरम करता है और लोगों को बेहतर बनाता है। और यह सच है क्योंकि किसी अन्य व्यक्ति के साथ सह-अस्तित्व और एक-दूसरे के साथ बहुत समय व्यतीत करना निश्चित रूप से संचार (कम्युनिकेशन) में एक व्यक्ति को अधिक कुशल बनाता है। अच्छी सामाजिक बातचीत (सोशल इंटरेक्शन) बेहतर कम्युनिकेशन और दया से ही संभव है। अनिवार्य रूप से, सभी लोग खुद के बारे में सबसे पहले और सबसे ज्यादा सोचते हैं। वे मदद नहीं कर सकते हैं लेकिन ऐसा करते हैं। हालांकि, रोमांटिक रिश्ते इस प्रवृत्ति को बदलते हैं क्योंकि इससे पार्टनर्स कम अहंकारी व्यवहार करते हैं। पार्टनर्स अपने विचार व्यक्त करने और एक-दूसरे और अन्य लोगों के प्रति दयालु व्यवहार करने में अधिक कुशल बन जाते हैं। आखिरकार, दया और कम्युनिकेशन कौशल के विकास के कारण प्रत्येक पार्टनर एक बेहतर व्यक्ति में विकसित होता है।

 

 

 

जिम्मेदारी (responsibility)

 

जिम्मेदारी भरा व्यवहार करना वयस्क की एक महत्वपूर्ण विशेषता है। प्यार में होने वाला अनुभव करने के बाद बहुत से लोग वास्तव में वयस्क बन जाते हैं। स्वयं प्यार अत्यधिक ज़िम्मेदारी पर निर्भर करता है। आप कुछ ना करते हुए भी अपने पार्टनर को आसानी से दुखी कर सकते है. अपने साथी की भावनाओ को चोट ना पहुचाने के लिये आपको खुश होने और अपने साथी को खुश करने के लिए हर चीज करने की ज़िम्मेदारी लेनी होगी। करीबी व्यक्तिगत संबंध (close personal relationships) जिम्मेदारी के बिना अकल्पनीय हैं. शायद, यह जीवन में सबसे गंभीर जिम्मेदारी है जो कोई जीवन मे ले सकता है. लेकिन यह महत्वपूर्ण है की बड़ा और परिपक्व होने के लिये एक व्यस्क अपने कार्यो के लिये जिम्मेदार हो. प्यार उनके लिये दर्दभरा हो सकता है जो जिम्मेदारी स्वीकार करने से मना करते है और उन लोगों के लिए मुश्किल होता हैं जो इसके भार को दो गुना अधिक लेते हैं।

 

समय प्रबंधन और व्यवस्थित जीवन (time management and organization)

 

उन लोगों के लिए अपने जीवन को व्यवस्थित करना आसान है जिनके पास कोई देखने के लिए होता है। आप खुद आसानी से नोटिस कर सकते हैं कि जोड़े एक निश्चित शेड्यूल का पालन करते हैं और उनका एक रूटीन होता है जो दोनों जोड़ो के लिये काम करता है। गंभीर दीर्घकालिक रिलेशनशिप में शामिल लोगों के पास बेहतर समय प्रबंधन कौशल होता है और वे आम तौर पर अधिक व्यवस्थित होते हैं। ऐसा इसलिए है क्योंकि साथ मे जीना या पार्टनर के साथ होने के कारण कुछ निश्चित समझौते करने की आवश्यकता होती है ताकि साझेदार अपने समय के प्रभारी हो सके। उन्हें एक-दूसरे के साथ अपना समय साझा करने की आवश्यकता होती है और इस प्रक्रिया मे पार्टनर्स अधिक लचीले और व्यवस्थित हो जाते है।

 

अकेलापन (Loneliness)

 

कई मनोवैज्ञानिक इस बात को मानते हैं कि अकेलापन से बुरा कुछ भी नहीं हो सकता। अकेले लोग उदासीन, अप्रोत्साहित, चिंतित और हतोत्साहित हो जाते हैं। यह न केवल उन लोगों पर लागू होता है जिनके पास प्यार करने के लिए कोई नहीं है। यहां तक ​​कि सच्चे दोस्तों के बिना भी इस पीड़ा का अनुभव होता है जो अकेलापन के साथ आता है। जैसा कि एक प्रसिद्ध लेखक ने लिखा है – एक इंसान एक द्वीप नहीं है। एक इंसान को किसी की जरूरत होती है क्योंकि इंसान सामाजिक जीव हैं जो संचार और भावनात्मक बंधन पर निर्भर करते हैं। जीवन मे अकेले जीना निश्चित ही हानिकारक है क्योंकि वास्तविक खुशी केवल तभी संभव होती है जब इसे किसी के साथ साझा किया जाता है।

 

 

 

कुल मिलाकर बात ये है की करीबी व्यक्तिगत रिलेशनशिप्स (close personal relationships) आपके लिए निश्चित रूप से फायदेमंद हैं। ये आपको खुश और अधिक सफल बना सकती हैं। बिना किसी संदेह के, हर व्यक्ति को प्यार करने और प्यार पाने का मौका मिलता है। यही केवल मनुष्यों की प्रकृति में है। शायद, आप yesdates.com पर जाकर अपने लिए किसी को ढूंढ सकते हैं। अपने जीवन में किसी पार्टनर का होना वास्तव में बहुत अच्छा है जो आपके बारे में परवाह करता है और आप अपना प्यार उससे व्यक्त कर सकते हैं। यह भी संभव है कि प्यार दुनिया में सबसे बड़ी बात है। इसलिए, यह आपके लिए शर्म की बात होगी अगर आप इससे चुकते है। (गुड लक)!

 

this post is provided yesdates.com and we have translated it in hindi. we are thankful to them for providing this post 

 

इन संबंधित लेखो को भी पढ़े 

कैसे करे रिलेशनशिप को ओर भी मजबूत

कैसे और क्यों असफलता या खराब रिलेशनशिप आपको जकड लेती है

क्या ये प्यार है या attraction

इस कहानी से सीख सकते है सास बहू के झगड़ो से कैसे पाए समाधान

 

 

Leave a Reply