जानिए आरटीओ के कार्य और कैसे करे नए वाहन का रजिस्ट्रेशन

क्षेत्रीय परिवहन कार्यालय/Regional Transport Office  यानि RTO  भारत सरकार का  एक संगठन है जो भारत के विभिन्न राज्यों के लिए ड्राइवरों का डेटाबेस और वाहनों का डेटाबेस  बनाए रखने का काम करता है। मोटर वाहन अधिनियम, 1988 के तहत प्रत्येक शहर और राज्य के वाहनो की गतिविधियों को सुचारु रूप से चलाये रखने के लिए एक अलग आरटीओ है। हर राज्य में Transport Commissioner इसका प्रमुख होता  हैं।

आरटीओ ड्राइविंग लाइसेंस जारी करता है। इसके साथ ही, RTO वाहन का बीमा और प्रदूषण परीक्षण का निरीक्षण करने के लिए भी कार्य करता है।  इसके अलावा भी आरटीओ कई तरह के काम करता है;

 

Functions of the Regional Transport Office (R.T.O) in Hindi – क्षेत्रीय परिवहन कार्यालय के कार्य (आरटीओ)

 

  • आरटीओ   सरकार द्वारा समय-समय पर निर्धारित केंद्रीय मोटर वाहनों के नियमों और राज्य मोटर वाहनों के नियमों को लागू करता है।

 

  • आरटीओ  vehicle registration, re-registration, ownership transfer और ड्राइविंग लाइसेंस जारी करता है।

 

  • वाहनों के प्रावधानों के अनुसार कर और शुल्क जमा करता है

 

  • ड्राइविंग टेस्ट का संचालन करता है। साथ ही लर्नर और स्थायी चालक का लाइसेंस जारी करने  और उसे  नवीनीकृत करने काम भी RTO करता है।

 

  • पंजीकृत वाहनों का डेटाबेस बनाए रखता है।

 

  • मोटर वाहनों की  बीमा की वैधता  जांच करता है

 

  • RTO सड़कों पर निर्धारित गति सीमा से तेज चलाने वाले वाहनों पर  नज़र  रखता है

 

  • आरटीओ vehicle excise duty  (जिसे रोड टैक्स और रोड फंड लाइसेंस के रूप में भी जाना जाता है)  इकट्ठा करता है

 

  • टैक्सी और ऑटो रिक्शा चालकों को badges प्रदान करता है।

 

DOCUMENTS REQUIRED FOR VEHICLE REGISTRATION – वाहन पंजीकरण के लिए आवश्यक दस्तावेज

 

  • आवेदन पत्र (फॉर्म संख्या 20) भरा हुआ। यह फॉर्म पूरे देश के हर राज्य के सभी पंजीकृत अधिकारियों के पास उपलब्ध है
  • Sales Certificate (फॉर्म संख्या 21)।  यह डीलर / विक्रेता द्वारा वाहन की डिलीवरी के समय दिया जाता है
  • रोड वॉर्थनेस सर्टिफिकेट (फॉर्म नंबर 22)। यह निर्माता द्वारा दिया जाता है और वाहन देते समय डीलर द्वारा सौंप दिया जाता  है।
  • बीमा प्रमाणपत्र की Attested copy
  • निवास प्रमाण पत्र
  • पहचान पत्र
  • पासपोर्ट साइज फोटो
  • चेसिस एंड इंजन पेंसिल प्रिंट

 

VEHICLE REGISTRATION PROCESS IN HINDI – कैसे करे नए वाहन का रजिस्ट्रेशन

 

  • सभी आवश्यक दस्तावेजों और भरे हुए फॉर्म के साथ RTO OFFICE जाएं। यह सलाह दी जाती है कि आप दस्तावेजों की ज़ेरॉक्स copies भी ले जाएं।
  • सड़क कर के लिए एक डिमांड ड्राफ्ट भी रखें।
  • अब, संबंधित काउंटर पर दस्तावेजों के साथ पंजीकरण फॉर्म जमा करें। प्रक्रिया से जुड़े शुल्क का भुगतान करें।
  • प्रक्रिया 2 से 3 दिनों में पूरी हो जाएगी। कुछ मामलों में, इसमें थोड़ा अधिक समय लग सकता है।
  • प्रक्रिया  पूरा हो जाने के बाद, आरटीओ वाहन नंबर आवंटित करता है ।

 

हर दिन सैकड़ों आवेदन आरटीओ को भेजे जाते हैं। इसलिए, यदि आप शीघ्र और टेंशन मुक्त वाहन पंजीकरण प्रक्रिया चाहते  हैं, तो सुनिश्चित करें कि सभी दस्तावेजों को ठीक से व्यवस्थित किया गया है।

इसके अलावा ऐसे कई एजेंट या वैबसाइट है  जो आपकी इन सब कामो मे मदद कर सकती है। उन्ही मे से एक है rtoapply.com.  यह परिवहन विभाग से निपटने की पूरी प्रक्रिया को आसान बनाता है।

अपॉइंटमेंट डेट्स , ड्राइवर लाइसेंस एक्जाम और अन्य अपॉइंटमेंट प्राप्त करने के अलावा, आप कई अन्य कार्यों के लिए वेबसाइट का उपयोग कर सकते हैं जिसमे वाहन के डिजिटल परमिट को नवीनीकृत करना और वाहन बीमा पॉलिसियों को नवीनीकृत शामिल है।

 

तो दोस्तो उम्मीद करते है यह आर्टिक्ल आपके लिए फायदेमंद साबित होगा। अगर आपके कोई सवाल है तो कृपया कमेंट के जरिये अपनी बात रखे और हमारे आने वाले सभी आर्टिकल को सीधे अपने मेल मे पाने के लिए हमे फ्री जरूर subscribe करें

 

यह भी जाने

रोड सेफ्टी को बेहतर बनाने के लिए RTO द्वारा उठाए गए कदम

जानिए राशन कार्ड के प्रकार और कैसे करे आवेदन

जानिए क्यो जरूरी है मैरिज सर्टिफिकेट और कैसे करे आवेदन

पासपोर्ट बनवाने के लिए जरूरी दस्तावेज और कैसे करे आवेदन

Enter your email address:

Delivered by FeedBurner

Leave a Reply