जानिए क्यो होते है पीरियड्स और कब ले डॉक्टर की सलाह

जब हम युवावस्था मे प्रवेश करते हैं तो हमारा शरीर तरह तरह के बदलावो से होकर गुजरता है और उन्ही बदलावो मे से एक है मासिक धर्म चक्र/menstruation जिसे आम भाषा मे पीरियड्स (periods) कहा जाता है।  पीरियड्स की शुरुआत सामान्य रूप से 10 से 16 साल की उम्र के बीच होती हैं। लेकिन क्या आप जानते है की इस उम्र के पड़ाव पर पीरियड्स/periods की शुरुआत अचानक से कैसे हो जाती है, आखिर प्रकृति के द्वारा बनाया गया ये चक्र क्यो आवश्यक है। तो दोस्तो आज इस पोस्ट मे हम इन्ही सवालो के जवाब देने की कोशिश करेंगे। तो आइये जानते है

मासिक धर्म/ पीरियड्स क्या होते है – menstruation/ periods in hindi

मासिक धर्म (जिसे पीरियड या रक्तस्राव भी कहा जाता है) एक महिला में मासिक प्रक्रिया होती है, जो रजोनिवृत्ति (नियमित मासिक धर्म चक्र के बंद होने) तक यौवन मे लगभग हर  एक महीने के अंतराल पर गर्भाशय अस्तर से (योनि के माध्यम से) रक्त और अन्य सामग्रियों के निर्वहन की प्रक्रिया होती है (गर्भावस्था के दौरान छोड़कर )।

हर महिला मे दो अंडाशय (ovaries) होते हैं, जिनमें से प्रत्येक में कई egg cells होते हैं। इन्हे ovum या oocytes कहा जाता है।  हर महीने एक निश्चित अवधि के दौरान ovaries egg released करती है। हर महीने, ovum fertilized होने की स्थिति में गर्भ एक अस्तर तैयार करता है। यदि ovum fertilized नहीं होता है, तो अस्तर की आवश्यकता नहीं होती है और अंडे के साथ यह स्राव बन जाता है और योनि से निष्कासित हो जाता है । यह निर्वहन प्रक्रिया लगभग 3-5 दिनों तक चलती है।  इसे पीरियड्स (periods)  कहते हैं।

periods in hindi

रक्तस्राव के अलावा, मासिक धर्म के अन्य लक्षणों और लक्षणों में सिरदर्द, मुँहासे, पेट फूलना, पेट में दर्द, थकान, मनोदशा में बदलाव, भोजन की कमी, स्तन दर्द और दस्त शामिल हो सकते हैं।

When do periods start and stop? – पीरियड कब शुरू और बंद होते हैं?

अधिकांश लड़कियो इसका अनुभव 12 से 14 वर्ष की आयु के बीच करती है, लेकिन कई लड़कियो मे यह पहले या बाद मे भी देखने को मिलता है। यह संकेत होता है कि शरीर सामान्य रूप से काम कर रहा है।

मासिक धर्म आमतौर पर 45 से 55 वर्ष की आयु के बीच समाप्त हो जाते है जिसे रजोनिवृत्ति (menopause) कहा जाता है। रजोनिवृत्ति पूरी तरह से समाप्त होने के बाद, कोई महिला गर्भवती नहीं हो सकती हैं

Why Do Women Have Periods in hindi – पीरियड्स क्यो होते है

The menstrual cycle in hindi

प्रजनन चक्र के दौरान अंडाशय को उत्तेजित करने के लिए मस्तिष्क में स्थित पिट्यूटरी ग्रंथि द्वारा हार्मोन स्त्रावित किए जाते हैं। इन हार्मोनों के कारण ovaries egg released करती है।  साथ ही इससे शरीर मे एस्ट्रोजन नामक एक हार्मोन का उत्पादन शुरू हो जाता हैं। बढ़े हुए एस्ट्रोजन के कारण निषेचित गर्भाशय की अस्तर मोटी हो जाती  है।

इस दौरान यदि महिला किसी पुरुष से संबंध बनाती है तो शुक्राणु उसकी फैलोपियन ट्यूब में प्रवेश करते है जिसके कारण  अंडा fertilized हो सकता है और वह गर्भवती हो सकती है। । और यदि अंडा fertilized नहीं हो पाता है, तो एस्ट्रोजन और प्रोजेस्टेरोन का स्तर गिर जाता है , और गर्भाशय का अस्तर टूटने लगता है । यह पीरियड्स की शुरुआत का प्रतीक है।

पीरियड्स में थोड़ी मात्रा में रक्त और एंडोमेट्रियम होता है। अस्तर के भीतर रक्त वाहिकाओं के टूटने के कारण रक्तस्राव होता है।

When should you See a doctor for problems with your periods?

  • अगर आपके 15 साल की उम्र तक मासिक धर्म शुरू नहीं हुए है।
  • यदि पीरियड्स अचानक से 90 से अधिक दिनो तक रुक गए है।
  • नियमित, मासिक चक्र होने के बाद आपकी अवधि बहुत अनियमित हो जाती है।
  • 7 दिनों से अधिक समय तक खून बह रहा है।
  • सामान्य से अधिक रक्तस्राव हो रहा हैं या हर 1 से 2 घंटे में 1 से अधिक पैड का उपयोग कर रहे हैं।
  • आपको periods के दौरान तेज दर्द होता है।

अगर आप इनमे से किसी समस्या का सामना कर रहे है तो आपको डॉक्टर की सलाह लेनी चाहिए।

उम्मीद करते है यह जानकारी आपके लिए फायदेमंद होगी। अगर आपके कोई सवाल  या सुझाव है तो आप कमेंट के जरिये अपनी बात रख सकते है और स्वास्थ्य से संबंधित हमारे आने वाले सभी आर्टिकल की नोटिफ़िकेशन पाने के लिए हमे free subscribe कर सकते है ।

अन्य संबंधित जानकारी

पीरियड्स में रखें इन बातों का खास ख्याल

ऐसी पाए एकदम चमकती त्वचा

माइग्रेन के कारण लक्षण और इलाज

कैसे पाएं डैंड्रफ/ रूसी से छुटकारा

Enter your email address:

Delivered by FeedBurner

Leave a Reply