जरूरत से ज्यादा प्यार न बना दे आपको Obsessive love disorder  का शिकार

कहते है इस दुनियाँ मे सभी रिश्तो की बुनियाद प्यार है और इसी प्यार के दम पर दुनिया चल रही है लेकिन क्या हो जब यह प्यार जुनून मे बदल जाए और रिश्ता एक बोझ बन जाए। एक ऐसी ही  स्थिति है Obsessive love disorder  जहां आप एक व्यक्ति के प्रति obsessed या जुनूनी हो जाते हैं जिसे आप प्यार करते हैं। इस जुनून मे आप उसके लिए over protective हो जाते है , या उस पर जरूरत से ज्यादा अधिकार जताने की कोशिश करते है । ऐसी स्थिति मे व्यक्ति failure या rejection को स्वीकार नहीं कर पाता और उसे पाने के लिए अत्यधिक जुनूनी इच्छा महसूस करता है।

ऐसे मे वह रोजाना अपने प्यार को देखे या उससे बात करे बिना नहीं रह पाता क्योकि उसका ज़्यादातर समय इन्ही ख्यालो मे जाता है।

Healthy Relationship आम तौर पर एक दूसरे की जरूरतों के लिए commitment और respect के साथ जुड़ी  होती है। दुर्भाग्य से, Obsessive love वाले लोग इस बात को नहीं समझते और किसी भी प्रकार के rejection को संभालने में पूरी तरह से असमर्थ होते है और अपने lover को अपने पास रखने की जुनूनी इच्छा से अभिभूत रहते हैं। प्यार में होने पर जो भावनाएँ अनुभव होती हैं, जैसे परस्पर सम्मान, विश्वास और सुरक्षा, वह obsession के कारण ईर्ष्या, असुरक्षा और आक्रोश की भावनाओं मे बदल जाती हैं। ऐसे मे यदि उन्हे  अस्वीकार किया जाता है , तो वे आहत हो सकते हैं, डिप्रेशन मे जा सकते है  या खुद को और दूसरे को भी मार सकते हैं।

Obsessive love disorder in hindi

ऐसे कई उदाहरण हमे अपने आस पास या न्यूज़ के माध्यम से देखने को मिलते है। ऐसे मे सही समय पर प्यार के इस जुनून के लक्षणो के बारे मे जानना जरूरी हो जाता है।

 

Symptoms of obsessive love disorder? – ऑब्सेसिव लव डिसऑर्डर के लक्षण

OLD के लक्षणों में शामिल हैं:

  • एक व्यक्ति के लिए अत्यधिक आकर्षण
  • व्यक्ति के बारे में जुनूनी विचार
  • उस व्यक्ति को “protect” करने की आवश्यकता महसूस करना जिसे आप प्यार करते हैं
  • दूसरे किसी व्यक्ति से बात करते देखने पर अत्यधिक ईर्ष्या
  • ज्यादा अधिकार जमाना
  • प्रेमी/प्रेमिका को दिन मे कई बार मैसेज, ईमेल और फोन कॉल करना।
  • उस से बातचीत करके मन को शांति मिलना
  • शक करना या उसके अनुसार न चलने पर गुस्सा हो जाना
  • अपने इस obsession के कारण दोस्तो या परिवार के सदस्यों के साथ कम बातचीत करना।
  • अपने lover के actions जैसे वह किससे ज्यादा बातचीत करती है या मिलती है आदि  की निगरानी करना

 

Causes of Obsessive love disorder in hindi – ऑब्सेसिव लव डिसऑर्डर के कारण

हर इंसान जो किसी के साथ एक रिश्ते में है, एक व्यक्ति के साथ संबंध रखता है, उसके साथ रहना चाहता है या उसके साथ ही ज़िंदगी बिताना चाहता है  तो फिर ऐसा क्यो होता है की कुछ लोगो के लिए यह प्यार obsession बन जाता है? मनोविज्ञानिकों के अनुसार इसके कई कारण है जैसे

 

Childhood trauma

obsessive love के कारणो को उस व्यक्ति के  बचपन और शुरुआती किशोरावस्था में देखा जा सकता है। बचपन मे परित्याग, मानसिक या शारीरिक शोषण, उनके प्रति उपेक्षित व्यवहार, भाई-बहनों की तुलना में कम प्यार एक बच्चे में ‘हीन’ या अयोग्य होने जैसी भावनाओं को जन्म दे सकती है। । ऐसे मे कई बार  वह इस शून्य को दूसरे व्यक्ति की स्वीकृति और प्यार से भरने की कोशिश करता हैं।

 

Low Confidence

यह भी देखा गया है कि आमतौर पर low self Confidence वाले लोग जो obsessive love की प्रवृत्ति विकसित करते हैं। ऐसे मे यदि कोई व्यक्ति अब उनके जीवन का हिस्सा नहीं है, तो वे खुद को समझाते हैं कि उनकी वापसी automatically उनकी सभी problems  को solve  कर देगी और उन्हें फिर से खुशी मिलेगी । वे इस प्रकार, खुद के लिए एक भ्रम पैदा करते हैं और सच्चाई से दूर बढ़ते रहते  हैं।

 

Alcoholic Families

इंसान प्यार के बारे मे जानना अपने बचपन से ही शुरू करते है। अगर माता पिता के बीच वह अच्छे संबध देखता है तो वह भी बड़ा होकर उन के जैसा बनना चाहता है और पैरेंट्स के बीच मनमुटाव से उसके अंदर भी हीन भावना विकसित होती है।  मनोचिकित्सकों का यह भी मानना ​​है कि शराबी परिवारों के बच्चों में प्रेम विकार और लत विकसित होने का अधिक खतरा हो सकता है।

 

Ego

Obsessive love disorder  का एक main कारण उस व्यक्ति की Ego भी है। कई लोगो मे अहंकार की भावना ज्यादा होती  है और वे खुद को विशेष  या अलग समझते है, इसलिए जब कोई असफल संबंध होता है या उनके अनुसार relationship नहीं चलती , तो व्यक्ति obsessed हो जाता है और वह दूसरे पर  अधिकार करना और उसे नियंत्रित करना चाहता है।

 

What is the treatment for obsessive love disorder? – ऑब्सेसिव लव डिसऑर्डर का इलाज

 

पहला और सबसे महत्वपूर्ण कारक जिसे treatment phase में जाने से पहले समझने की आवश्यकता है, वह यह है कि व्यक्ति को यह महसूस करना कि वह एक समस्या का सामना कर रहा है और खुद को बदलना चाहता है। जिसके बाद, विकार की तीव्रता के आधार पर, इलाज के विभिन्न विकल्पों पर ध्यान दिया जा सकता है। इस दिशा में कई कदम उठाए जा सकते हैं जैसे

 

Keep Your Distance

कम से कम थोड़े समय के लिए जब तक कि यह जुनूनी विचार आपके दिल और दिमाग से दूर नहीं जाते है तब तक आपको relationship से दूरी रखकर खुद को space देना जरूरी है ताकि आप अपनी emotions को समझ पाएँ और उस पर काबू पा सके। यह इतना आसान नहीं है लेकिन किसी भी तरह के नशे से मुक्ति पाने के लिए कुछ समय तक उस से दूरी बनाए रखना जरूरी है। यह काम mutual understanding से हो तो और भी ज्यादा अच्छा है।

उन सभी चीजों से दूर हो जाएँ जो आपको उनकी याद दिलाती हैं। जब लगातार रिमाइंडर्स दूर किए जाते हैं, तो भूलना आसान होता है।

 

Join an Activity

जिस समय आपको अपने लवर की सबसे ज्यादा याद आती है उस समय को किसी एक्टिविटी मे  बदलें जैसे स्पोर्ट्स, एक्सर्साइज़ , रीडिंग, ड्राइंग, पेंटिंग आदि  । यह आपकी ऊर्जा को सही दिशा में चैनलाइज़ करने में मदद करेगा और साथ ही आपको achievement की भावना भी देगा।

 

Talk to Friends and Family

अपने परिवार और दोस्तो के साथ ज्यादा से ज्यादा समय बिताएँ। उनके साथ बाहर घूमने जाएँ लेकिन अपनी problem सिर्फ उन लोगो के साथ ही शेयर करे जो आपको समझदार लगते है और सही राय दे सकते है। अक्सर गलत सुझाव भी हमे भटकाते है।

 

Goal

अपनी लाइफ के लिए एक goal या target डिसाइड करे। जब तक आपको अपनी ज़िंदगी का उदेश्य नहीं मालूम होगा तब तक negative thoughts और emotions आप पर हावी रहेंगे और self confidence भी गिरता रहेगा। जैसे ही आप अपने goal को पाने के लिए आगे बढ़ना शुरू करेंगे बाकी सभी चीजे अपने आप पीछे होती रहेंगी।

 

अगर इन सबके बावजूद भी आप problem face कर रहे है तो आपको professional psychological help लेनी चाहिए। इसके लिए आप किसी psychologist या counselor के पास जा सकते है ताकि आपकी स्थिति को बेहतर तरीके से समझा जा सके और सही solution बताया जा सके। अगर आप बाहर जाने मे शर्म या झिझक महसूस करते है तो आप Manochikitsa.com पर professional counselors से चैट या फोन पर online counseling ले सकते है।

 

उम्मीद करते है यह आर्टिक्ल आपको पसंद आया होगा। इसे अपने दोस्तो के साथ जरूर शेयर करे। अगर आपके कोई सवाल है या आप भी इस टॉपिक पर हमारे रीडर्स को सुझाव देना चाहते है तो कृपया कमेंट के माध्यम से अपनी बात रखे और हमारे आने वाले articles की तुरंत नोटिफ़िकेशन पाने के लिए हमे free subscribe जरूर करे।

 

यह भी जाने

ब्रेकअप के बाद कैसे करें खुद को रीस्टार्ट How to move on after breakup in hindi

Love or Attraction मे क्या फर्क है?? जानिए मनोवैज्ञानिक तर्क

कैसे करे रिलेशनशिप को ओर भी मजबूत The five love languages in hindi

ऑब्सेसिव कंपल्सिव डिसऑर्डर के कारण, लक्षण और इलाज obsessive compulsive disorder in hindi

Enter your email address:

Delivered by FeedBurner

3 Comments

  1. Chandan 23/07/2019
  2. Vinay 25/07/2019
  3. Sarabjeet kaur 26/07/2019

Leave a Reply