ऑब्सेसिव कंपल्सिव डिसऑर्डर के कारण, लक्षण और इलाज obsessive compulsive disorder in hindi

नैना 33 वर्ष की एक महिला है जो एक बच्चे की माँ है. उसके मन में बार बार यह विचार आता है की उसके  बच्चे को बैक्टीरियल इन्फेक्शन हो सकता है.  इस बात से वह काफी परेशान रहती है और दिन में कई बार इस बारे में सोचती रहती है. इस वजह से वह रोजाना घर के सभी कपडे धोती है और दिन में कई बार घर को साफ़ करती है. साथ ही वह अपने बच्चे के हाथ भी कई बार साबुन से धुलवाती है. नैना की इस आदत से वह और घर के बाकी सदस्य भी काफी परेशान है.  इसलिए वे एक मनोचिकित्सक की परामर्श लेते है जहाँ नैना को obsessive compulsive disorder से ग्रसित पाया जाता है.

 

क्या है ऑब्सेसिव कंपल्सिव डिसऑर्डर – obsessive compulsive disorder in hindi

 

Obsessive compulsive disorder एक ऐसी बीमारी है जहाँ रोगी के मन में बार बार तर्कहीन विचार आते है और वह न चाहते हुए भी उन विचारो के बारे सोचता है और उन्हें पूरा करने की कोशिश करता है.

ऑब्सेसिव कंपल्सिव डिसऑर्डर obsession और compulsion से मिलकर बना है.

obsession वह विचार, संदेह या चिंतन है जो रोगी की इच्छा के विपरीत उसके मन में बार बार आता है. और उस व्यक्ति का उस पर नियंत्रण नहीं होता है. ऐसे विचार अक्सर हास्यपद, तर्कहीन और असगंत होते है. रोगी भी इस बात को अच्छे से समझता है और उनसे छुटकारा भी पाना चाहता है लेकिन वह ऐसा कर नही पाता.  इसलिए दिन में ज्यादातर समय वह अशांत और बेचैन रहता है.

 

जब ओबसेशन एक्शन में बदल जाता है तो उसे compulsion कहा जाता है. इसमें पीड़ित व्यक्ति एक ही काम को कई बार करते है. हालाकिं वे जानते है की ये काम अर्थहीन है लेकिन ऐसा करने से  वे अपने आपको रोक नहीं पाते क्योकि ऐसा करके वे क्षणिक शांति का अनुभव करते है.. उदहारण के तौर पर बार बार हाथ धोना, बार बार पैसे गिनना, ताला बंद करके बार बार चेक करना, किताबो या घर के बाकी सामानों को कई बार arrange करना आदि.

 

जब कोई व्यक्ति 6 महीने या उससे अधिक समय तक obsession और compulsion अनुभव करता है और इसके कारण मानसिक तकलीफ और रोजाना के सामान्य कार्यो, व्यावसायिक कार्यो और शैक्षिक कार्यो में बाधा उत्पन होती है तो इसे ऑब्सेसिव कंपल्सिव डिसऑर्डर कहा जाता है.

 

क्यों होता है Obsessive compulsive disorder (OCD)

 

ऑब्सेसिव कंपल्सिव डिसऑर्डर के कारण – causes of obsessive compulsive disorder in hindi

 

ऑब्सेसिव कंपल्सिव डिसऑर्डर का कोई एक कारण नहीं है. इसके कई कारण होते है जैसे

 

बायोलॉजिकल कारण

रिसर्च में पाया गया है की सेरोटोनिन नामक न्यूरोट्रांसमीटर के  असंतुलन  के कारण ऑब्सेसिव कंपल्सिव डिसऑर्डर के लक्षण विकसित होते है.

मस्तिष्क के स्कैन से पता चलता है OCD के मरीज़ के मस्तिष्क के कई भागो  जैसे cortical striatal thalmic और बेसल गैंग्लिया में over activity के कारण ऑब्सेसिव कंपल्सिव डिसऑर्डर की स्थिति उत्पन होती है.

 

मनोविज्ञानिक कारण

मनोविज्ञानिको के अनुसार जब व्यक्ति की दबी हुई इच्छाएं चेतन अवस्था में आने की कोशिश करती है तो वह सुरक्षात्मक  तरीको को ढूंढता है और इस सुरक्षात्मक  उपायों के रूप में वह Obsessive compulsive disorder (OCD) के लक्षणों को विकसित कर लेता है.

 

कई मनोविज्ञानिको का मानना है की जब इंसान किसी ऐसी परिस्थिति में होता है जहाँ कुछ खतरनाक परिणाम पैदा होने की संभावना रहती है तब वह इन परिणामो को over estimate करता है जिससे OCD लक्षण पैदा होने की संभावना रहती है.

 

Introvert personality वालो लोग हर काम को बहुत बारीकी और नियमित ढंग से करते है इसलिए इनमे ऑब्सेसिव कंपल्सिव डिसऑर्डर विकसित होने की अधिक संभावना रहती है.

 

 

ऑब्सेसिव कंपल्सिव डिसऑर्डर का इलाज  – Treatment of obsessive compulsive disorder in hindi

 

OCD के मरीजो के इलाज के लिए दवाइयों और साइकोलॉजिकल थेरेपी का इस्तेमाल किया जाता है.

 

साइकोलॉजिकल थेरेपी के जरिये रोगी के तर्कहीन विचारो में परिवर्तन लाया जाता है और उसके अचेतन मन में दबी इच्छाओ की पहचान करने की कोशिश की जाती है. साथ ही रोगी के डर या विचारो से धीर धीरे सामना करवाया जाता है और उसके प्रबंधन पर जोर दिया जाता है.

 

इसके आलावा कई तरह की antidepressants दवाइयों से लक्षणों को नियंत्रित किया जाता है.

 

दोस्तों जैसा की हम हमेशा कहते आये है की मनोविज्ञानिक या मानसिक समस्याएं भी शारीरिक समस्याओं की तरह हमारी जिन्दगी का एक हिस्सा है जो किसी को भी हो सकती है. इसे छुपाने की बजाय अपने करीबी लोगो या परिवार वालो के साथ साझा करें ताकि कोई हल निकल सके. और जरुरत पड़ने पर किसी मनोविज्ञानिक या मनोचिकित्सक से परामर्श जरुर करें.

 

 

उम्मीद करते है आपको यह आर्टिकल पसंद आया होगा. कृपया इसे शेयर जरुर करें. अगर आपके कोई सवाल या सुझाव है तो कृपया कमेंट्स के माध्यम से अपनी बात रखे और हमारे आने वाले सभी आर्टिकल्स को सीधे अपने मेल में पाने के लिए हमें फ्री सब्सक्राइब जरुर करें.

 

यह भी जाने

बाइपोलर डिसआर्डर क्या है – bipolar disorder in hindi

कैसे किया जाता है मनोचिकित्सा के जरिये बिमारियों का इलाज़ Psychotherapy in hindi

ज्यादा शोपिंग की बीमारी है कंपलसिव बाईंग डिसऑर्डर Compulsive buying disorder

जानिए क्यों होती है मानसिक समस्याएँ causes of mental disorder in hindi

Enter your email address:

Delivered by FeedBurner

2 Comments

  1. Shashank 25/07/2018
  2. Saddham 25/09/2018

Leave a Reply