ऐसे पाये गैस और वाय बादी की समस्या से छुटकारा – gas problem in hindi

क्या आपको भी है गैस और वाय बादी की समस्या – gas problem and badi problem in hindi

 

दोस्तो कहते है अगर आपका पेट खराब है तो आपका शरीर बीमारियों का घर बन सकता है, अगर स्वस्थ रहना है तो पेट का ठीक रहना बहुत जरूरी है। लेकिन हमारे द्वारा खाने पीने और सोने मे अनुशासन ना बरतने का खामियाजा हमारे पेट को उठाना पढ़ता है। एक स्वस्थ शरीर के लिए जरूरी है की उसकी पाचन प्रणाली मजबूत हो ताकि वो भोजन को पचा सके ताकि भोजन के पोषक पदार्थ शरीर को लग सके.

लेकिन क्या हो अगर ये भोजन पचने की जगह सड़ना शुरू हो जाये। जी हाँ दोस्तो ये अपाचन की समस्या है। पेट मे गैस और वाय बादी भोजन के ना पचने के कारण ही होती है।  तो आज हम आपको बतायेंगे पेट मे gas और वाय बादी क्यो हो जाती है और कैसे कुछ सस्ते और आसान उपायो से इससे निजात पाया जा सकता है।

 

पेट मे ज्यादा गैस बनने और वाय बादी के कारण –  Causes of excessive stomach gas and badi in hindi

 

  • पेट मे गैस का प्रमुख कारण है भोजन का ना पचना। गैस हमारी बड़ी आंत मे बनती है, ये ज्यादा खाने से, चबा चबा कर भोजन ना करने और जल्दी जल्दी भोजन करने से, धूम्रपान करने से, खाते पीते वक्त ज्यादा हवा निगलने से, च्वूइंगम चबाने से  हो सकती है।

 

  • जब कार्बोहाईडरेट फाइबर स्टार्च और शुगर हमारी छोटी आंत मे नहीं पचते तब बड़ी आंत मे आकर बैक्टीरिया इससे गैस बनाते है।

 

  • इसके अलावा कुछ ऐसे भोजन होते है जिनसे gas बनती है जैसे की दाले, बीन्स, गोभी, ब्रोकोली, फूलगोभी, फल, साबुत अनाज, सोडा, बीयर आदि।

 

  • इसके अलावा कुछ बीमारियों की वजह से भी gas की परेशानी हो सकती है जैसे की कब्ज, मधुमेह, लैकटोस इंटोलरैंस, पेप्टिक अल्सर, क्रोहन रोग, गासट्रोएसोफेजीयल रिफ्लुक्स (GERD) जैसी बीमारीयां।

 

भोजन जिनसे गैस बनती है –  foods that cause gas in hindi

जिन लोगो मे ज्यादा गैस बनती है उसका एक कारण भोजन भी हो सकता है, कुछ भोजन ऐसे होते है जो ज्यादा गैस बनाते है। जैसे बीन्स, साबुत अनाज, मसूर की दाल, दूध, आलू, गोभी, मुली, प्याज, गाजर, मटर। मक्का, सोडा, बीयर और कई तरह के फल जैसे सेब, केला, आलूबुखारा आदि।

 

ज्यादा गैस बनने के लक्षण – symptoms of excessive gas in hindi

 

  • जब आपको ज्यादा gas बनने लगती है तो कई तरह के लक्षण आपको दिखाई देने लगते है जैसे की ज्यादा फार्ट आना, डकारे आना, पेट भरे रहने का एहसास या फुला रहना, पेट दर्द होना, एंठन होना आदि।

 

  • पेट मे ज्यादा गैस बनना कई तरह की बीमारियो को न्यौता दे सकता है, आगे चलकर आपको वायबादी का सामना करना पढ़ सकता है, ये संकेत है की आपका भोजन पच नहीं रहा और शरीर मे ज्यादा गैस बन रही है। इसका दर्द पूरे पेट मे घूमता रहता है, कई लोगो को ये दर्द चलता हुआ सा महसूस होता है, ये दर्द कभी चेस्ट मे कभी आपकी कमर मे, तो कभी पेट मे होने लगता है।

 

  • जिन लोगो को पेट मे ज्यादा गैस बनती है, वाय बादी का शिकार है, पेट फूलना और पेट दर्द जैसे लक्षण दिखाई दे रहे है, अपाचन की समस्या है, ऐसे लोग कुछ सामान्य और सस्ते घरेलू नुस्खो से अपना इलाज कर सकते है क्योकि ये नुस्खो का प्रयोग भारत मे इन चीजो के इलाज के लिये सदियो से चला आ रहा है। लेकिन इन घरेलू नुस्खो से  भी आपको आराम न आए तो डॉक्टर से मिलने मे शर्माना या घबराना नहीं चाहिये, और उनसे एक बाद परामर्श जरूर कर लेना चाहिये।

 

पेट गैस  और वाय बादी का घरेलू इलाज –  home remedies of excessive gas in the stomach and  badi in hindi

 

अजवाइन

पेट मे गैस और वाय बादी, पेट फूलने और दर्द होने को खत्म करने की रामबाण औषधी है आजवाइन। ये आसानी से उपलब्ध है, हर घर मे इसका प्रयोग होता है।  हो सकता है की आपकी रसोई मे भी ये मिल जाये। लोग इसे मसाला भी कहते है, भोजन बनाते वक्त कई लोग इसे भोजन मे डाल कर इसका प्रयोग करते है।

इसके चिकत्सकीय गुणो के कारण ये हर घर मे प्रयोग की जाती है। इसके अलावा जीरा, हिंग और त्रिफला भी गैस और पेट विकारो को दूर करने मे काफी उपयोगी होते है। यहाँ हम आपको कुछ घरेलू नुस्खे बतायेँगे जो की आपके लिये फायदेमंद साबित हो सकते है।

 

नुस्खा एक

75  ग्राम आजवाइन और 10 ग्राम हिंग को पीस कर और आपस मे मिला कर रख ले। रोज सुबह और रात को भोजन के बाद इसे आधा चम्मच हल्के गरम पानी के साथ ले।

 

नुस्खा दो

आधा चम्मच अजवाइन मे थोड़ा काला नमक मिलाकर भोजन के बाद हल्के गरम पानी के साथ ले।

 

नुस्खा तीन

दोपहर के खाने के बाद छाछ मे चुटकी भर काला नमक और काली मिर्च पाउडर मिला कर पी ले।

 

नुस्खा चार

पाँच चम्मच आजवाइन और पाँच चम्मच जीरे को भून कर पीस ले।  इसमे आधा चम्मच काला नमक और आधा चम्मच हिंग मिला ले, इस पाउडर को खाना खाने के बाद प्रयोग करे

 

नुस्खा पाँच

अदरक की चाय आंतों मे होने वाली गैस को निकालने के लिये बहुत कारगर होती है। इसे बनाने की विधि यह है की अदरक को पानी मे उबाल ले फिर उसमे एक चम्मच शहद और थोड़ा नींबू निचोड़ कर पिये।

 

नुस्खा छे

अक्सर ज्यादा गैस को निकालने के लिये गंदे बैक्टीरिया को मारने की दवाई या कहे की एंटीबायोटिक्स दी जाती  है।  अगर आप दवाओ से बचना चाहते है तो नैचुरल प्रो बायोटिक्स जैसे दही को अपने भोजन मे शामिल करे। ये आपके शरीर मे अच्छे बैक्टीरिया प्रदान करेगी जो की गैस पैदा करने वाले बैक्टीरिया से लड़कर उन्हे कम करेंगे।

 

नुस्खा सात

एक चम्मच जीरा को एक ग्लास पानी मे अच्छी तरह उबाल ले। ठंडा होने पर इस जीरा पानी को खाने के बाद  पी ले।

 

नुस्खा आठ

आधा चम्मच त्रिफला के चूर्ण को पानी मे गर्म पानी के साथ रात को सोने से पहले प्रयोग करे या आधे चम्मच त्रिफला  के चूर्ण को सुबह के समय सादे पानी के साथ ले।

 

तो दोस्तो यह है कुछ आसान तरीके जिसकी मदद से आप वाय बादी और gas की तकलीफ से निजाद पा सकते है। अगर आपके कोई सवाल या सुझाव है तो कृपया कमेंट के जरिये अपनी बात रखे और हमारे आने वाले सभी आर्टिक्ल को सीधे अपने मेल मे पाने के लिए हमे फ्री subscribe जरूर करें।

 

यह भी जाने 

ऐसे पायें एसिडिटी से छुटकारा Home remedies for acidity in hindi

जानिए दमा के कारण लक्षण और इलाज Asthma In Hindi

दस्त के लक्षण, कारण और घरेलू इलाज loose motion in hindi

ऐसी पाए एकदम चमकती त्वचा Tips for Glowing Skin in hindi

Enter your email address:

Delivered by FeedBurner

One Response

  1. Tinku Sharma 12/09/2019

Leave a Reply