करियर सिलेक्शन मे क्यो जरूरी है एप्टीट्यूड टेस्ट Why aptitude test is so important?

   How Knowing Your Aptitude Can Help You Choose a Career

 

अपनी ज़िंदगी में हर दिन, हम कई तरह के confusions को experience करते हैं जैसे कौन सी ड्रेस पहननी है, आज क्या बनाना है, क्या खाना है, आदि। हम इन्हे आसानी से tackle करते है क्योंकि यह सब चीजे choice पर depend है जो हमारे लिए ज्यादा importance नहीं रखती । लेकिन आमतोर पर हम तब panic और  confused हो जाते हैं जब कैरियर, रिलेशनशिप, जैसे major decisions की बात आती है।

करियर चुनना हमारी लाइफ के सबसे  important decisions में से एक होता है और इसे लेकर उलझन या तनाव होना भी स्वाभाविक है। हमसे हमारे रिश्तेदारों, माता-पिता और दोस्तों द्वारा लगातार एक  सवाल जरूर पूछा जाता है की , “10th के बाद कोन से स्ट्रीम लोगे ?”  या 12 के बाद किस फील्ड मे जाओगे ? “या” ग्रेजुएशन के बाद क्या प्लान है? ” इस सवाल के जवाब मे ज़्यादातर स्टूडेंट्स का जवाब choice based पर आता है।

लेकिन career सिर्फ एक choice नहीं है बल्कि वह रास्ता है हमे अपने सपनों की ओर लेकर जाता है। एक गलत decision हमे सही रास्ते से भटका सकता है और अपने मंजिल से दूर अनजाने रास्तो की ओर धकेल देता है।  इस डिसिशन की importance को देखते हुए, यह जरूरी हो जाता है कि करियर विकल्प पर निर्णय लेना कुछ ऐसा नहीं है जिसे आधे मन से या दोस्तों और परिवार के प्रभाव में किया जा सकता है। यह ऐसी चीज है जिसके लिए विचार और योजना की आवश्यकता होती है।

 

कैरियर चुनने का मतलब सिर्फ ultimate career profile या ideal career  पर निर्णय लेना नहीं है जो आपको success और fame देगा ; बल्कि इसका मतलब है कि एक व्यक्ति मे उस कैरियर मे आगे बढ़ने और अपने निर्णय के माध्यम से सफलता प्राप्त करने की क्षमता होनी चाहिए।

अब सवाल आता है की क्या हर स्टूडेंट् अपनी इस क्षमता की पहचान कर पाता है?? शायद नही? यही कारण है कि प्रत्येक छात्र के लिए यह समझना बहुत महत्वपूर्ण है कि एप्टीट्यूड क्यो जरूरी है और सफलता और विकास की दिशा में अपने रास्ते का पता लगाते समय करियर चयन के लिए एक एप्टीट्यूड टेस्ट क्यों महत्वपूर्ण है।

 

WHAT IS APTITUDE TEST – एप्टीट्यूड टेस्ट क्या है

Aptitude एक व्यक्ति मे skills प्राप्त करने की छुपी क्षमता को प्रदर्शित करता है। साधारण शब्दो मे कहे तो एप्टीट्यूड के द्वारा हम यह जान सकते है की किसी खास काम को करने के लिए हमारे अंदर कितनी क्षमता है।   यह एक inborn ability है । Outstanding aptitude को ” talent ” माना जा सकता है।

Aptitude tests उन standard psychological test को कहा जाता है जो हमारे अंदर छुपी इस क्षमता को मापते है।

एप्टीट्यूड टेस्ट का उपयोग यह अनुमान लगाने के लिए किया जाता है कि यदि किसी इंसान को उचित वातावरण और प्रशिक्षण दिया जाए तो वह व्यक्ति उस कार्य मे को कितनी नीपूर्णता के साथ कर सकता है । एप्टीट्यूड टेस्ट का परिणाम हमें किसी व्यक्ति के कौशल या क्षमताओं के बारे में बताता है। यह परिणाम कैरियर चुनने में बहुत मदद करता है। इसके द्वारा स्टूडेंट्स यह जान सकते है कि किसमे फील्ड मे ज्यादा बेहतर कर सकते है और उसे उसी के अनुसार करियर चुन सकते है । high mechanical aptitude वाला व्यक्ति सही training से प्राप्त कर सकता है और इंजीनियर के रूप में अच्छा कर सकता है। इसी तरह उच्च भाषा की योग्यता रखने वाले व्यक्ति को एक अच्छा लेखक बनने के लिए प्रशिक्षित किया जा सकता है।

 

aptitude interest

 

Skills, Abilities and Aptitude

Skills, abilities और aptitude आपस मे काफी हद तक related हैं, लेकिन अलग हैं। Skills दर्शाती है कि किसी व्यक्ति ने अतीत में क्या करना सीखा है। Abilities present description हैं। Abilities दर्शाती है की एक व्यक्ति अब क्या कर सकता है। aptitude एक forward looking description है। एप्टिट्यूड बताता है कि व्यक्ति में भविष्य में क्या करने की क्षमता है। ये दर्शाता है कि एक व्यक्ति क्या सीख सकता है।

 

Interest v/s Aptitude

कई बार लोग अपनी रुचि के अनुसार अपना करियर चुनते समय गलती करते हैं। यह समझना बहुत महत्वपूर्ण है कि interest और aptitude दो अलग-अलग चीजें हैं। संक्षेप में, किसी विशेष विषय या कैरियर में रुचि रखने का मतलब यह नहीं है कि उस व्यक्ति के पास उस विशेष क्षेत्र में अच्छा प्रदर्शन करने और सफलता प्राप्त करने की योग्यता या क्षमता है। उदाहरण के लिए, आपको हवाई जहाज उड़ाने का शौक हो सकता है, लेकिन इसका यह मतलब नहीं है कि आप उस विशेष करियर में अच्छा प्रदर्शन कर सकते हैं और उस क्षेत्र में सफलता हासिल कर सकते हैं। इसलिए,उस  कैरियर का चयन करना बहुत महत्वपूर्ण हो जाता है, जिसमें सफलता प्राप्त करने के लिए आपके पास आवश्यक potential और interest दोनों हैं। इसलिए कैरियर के चयन से पहले career assessment  काफी हद जरूरी हो जाता है ।

 

कौन कर सकता है एप्टीट्यूड टेस्ट – who can administer aptitude test

एप्टीट्यूड टेस्ट को एक trained examiner जैसे साइकोलोजिस्ट या काउंसलर द्वारा administered किया जाता है। इसके बाद इसके score का interpretation किया जाता है और उसके अनुसार स्टूडेंट्स को counseling दी जाती है।

Aptitude test कई तरह के है। अपनी समझ और आवश्यकता के अनुसार काउंसलर यह निर्णय लेता है की कौन सा टेस्ट client के लिए ठीक रहेगा। उदाहरण के तौर पर हम Differential Aptitude Test Battery को ले सकते है। इस एप्टीट्यूड टेस्ट को जॉर्ज बेनेट, और अलेक्जेंडर वेसमैन द्वारा विकसित किया गया है। यह मुख्य रूप से हाई स्कूल के छात्रों की educational और vocational counseling के लिए बनाया गया है । वही Wonderlic aptitude test का इस्तेमाल career guidance के साथ-साथ selection और recruitment के लिए किया जाता है।

एक स्टूडेंट के तौर पर आपको या पैरेंट्स के रूप मे आपके बच्चो को career selection मे कोई दुविधा या confusion है तो आप भी किसी professional counselor से संपर्क कर सकते है और career guidance ले सकते है।

 

उम्मीद करते है यह आर्टिक्ल आपको पसंद आया होगा। अगर आपके कोई सवाल है तो आप हमसे comments के माध्यम से संपर्क कर सकते है । इसी प्रकार के career से related हमारे आने वाले सभी आर्टिक्ल की तुरंत नोटिफ़िकेशन पाने के लिए हमे free subscribe करे और हमारा facebook page like करें।

 

यह भी जाने

जानिए क्यों जरुरी है करियर का सही चुनाव Career planning in hindi

जानिए कैसे करे करियर का सही चुनाव Career Selection in hindi

जॉब पाना चाहते है तो ऐसे बनाये रिज्यूमे resume or cv format in hindi

जानिए क्यों जरुरी है करियर का सही चुनाव Career planning in hindi

Enter your email address:

Delivered by FeedBurner

One Response

  1. prashanth 06/12/2019

Leave a Reply