कैसे पाए लोगों के बीच बोलने के डर से छुटकारा Tips to overcome fear of public speaking in hindi

Public speaking या स्पीच देने का नाम सुनते ही कई लोगो के अंदर डर और घबराहट पैदा हो जाती है तो कई लोगो को  स्पीच देते समय पसीने छुट जाते है और दिल की धड़कन तेज हो जाती है. कॉलेज हो या बिज़नस सभी जगह आज के समय में  Public speaking की खास भूमिका है. presentation देकर क्लाइंट को impress करना हो या अच्छे मार्क्स पाने हो इन सब के लिए आपकी presentation skills का अच्छा होना काफी जरुरी होता है.  लेकिन आमतोर पर कई लोगो के लिए यह आसान नहीं हो पाता.

कई लोग तो Public speaking से इतना घबराते है की उनके अंदर glossophobia पैदा हो जाता है जो एक मनोविज्ञानिक विकार है. इसका बीमारी में इंसान को सार्वजनिक बोलने का बहुत  डर लगता है. ऐसी स्थिति आपके साथ न हो इसलिए आज हम आपके साथ कुछ useful tips शेयर करने जा रहे है जिसकी मदद से आप अपने अंदर self confidence को बड़ा सकते है और public speech के अपने डर से मुक्ति पा सकते है.  तो आइये जानते है

 

Tips to overcome fear of public speaking in hindi – लोगों के बीच बोलने के डर से छुटकारा  के  टिप्स

 

Start Small

अगर आपको public speaking में घबराहट होती है तो इस डर से छुटकारा पाने का सबसे अच्छा तरीका है एक छोटी शुरुआत. इसके लिए आप अपने दोस्तों और परिवार की मदद ले सकते है. किसी भी टॉपिक पर खड़े होकर अपने दोस्तों के बीच बोलिए. ध्यान रहे की आपको बैठकर नहीं बल्कि खड़े होकर अपने परिचित लोगो के बीच किसी विषय पर बोलना है. इससे आपके अन्दर दबा डर या hesitation दूर होगी और धीरे धीरे आपके अन्दर आत्मविश्वास बढेगा.

 

The Mirror Technique

ये self confidence बढ़ाने की सबसे बढ़िया तकनीक है. अगर आपने अपने आपको face करना सीख लिया तो बाकि लोगो को भो face करने में कोई परेशानी नहीं होगी. इसके लिए आपको शीशे के सामने खड़े होकर आंखों में आंखे मिलाते हुए एक दम सीधे देखना है और अपने आप से सवाल पूछने है और उनके जवाब देने है. इसके साथ साथ आप कोई स्पीच भी सुना सकते है. साथ ही अपने प्रतिबिंब को देखते हुए अपने बारे में कुछ positive और motivational बाते भी कह सकते है. कुछ दिन रोजाना ऐसा करने से न सिर्फ आपके आपके doubts खत्म होंगे बल्कि communication skills बढ़ेगी और hesitation भी दूर होगी.

 

Record Yourself

अपने फोन या वीडियो कैमरे पर अपनी स्पीच रिकॉर्ड करें। फिर इसे सुनें या देखें, और नोट्स बनाएं कि आप इससे बेहतर कैसे हो सकते हैं। कुछ लोग टेप पर अपनी आवाज़ सुनना पसंद नहीं करते हैं, इसलिए यह महत्वपूर्ण है कि आप अपनी आवाज और बोलने की शैली को देखे ताकि आपके अपने बारे doubts दूर हो सके.

 

Pick subject of your interest

अपने फोन या वीडियो कैमरे पर अपनी स्पीच रिकॉर्ड करें। फिर इसे सुनें या देखें, और नोट्स बनाएं कि आप इससे बेहतर कैसे हो सकते हैं। कुछ लोग टेप पर अपनी आवाज़ सुनना पसंद नहीं करते हैं, इसलिए यह महत्वपूर्ण है कि आप अपनी आवाज और बोलने की शैली को देखे ताकि आपके अपने बारे doubts दूर हो सके.

 

Pick subject of your interest

अगर आपने आज तक कोई public speech नहीं दी है तो बेहतर होगा की आप वह विषय चुने जिसके बारे में आपको ज्यादा नॉलेज है और उस नॉलेज को दुसरे लोगो के साथ आप शेयर करने में समर्थ है. ऐसे विषय आपको comfortable zone प्रदान करेंगे और धीरे धीरे आपके अन्दर self confidence बढ़ाने में सहायक होंगे.

 

Do not Focus on Audience

शुरुआत में स्पीच देते हुए हमेशा अपने मटेरियल पर फोकस करे. आप अपनी बात पूरी करे और उसी पर ध्यान दे. इस बात पर बिलकुल भी ध्यान न दे की लोग क्या सोच रहे है, क्या बात कर रहे है या उनके expression कैसे है.  अगर आप इन सभी चीजो के बारे में सोचेंगे तो आप अपने मुद्दे से भटक जायेंगे जिससे आपके अंदर घबराहट  और शंका पैदा होगी और आपका आत्मविश्वास घटेगा. लोग क्या सोचेंगे यह आपका काम नहीं है, यह उन्ही पर छोड़ दे, आप क्या करने आये है यह ज्यादा महत्वपूर्ण है इसलिए सिर्फ उसी पर ध्यान दे.

 

Avoid Talking Too Fast 

स्पीच देते समय जल्दी जल्दी बोलने से बचे. अपनी बात को आराम से रखे. यदि आप बहुत तेजी से बात करते हैं तो आप कम सांस लेते है. इससे एंग्जायटी पैदा होती है और हम panic होने लगते है जिसके कारण हम अपनी बात को सही से नहीं रख पाते और चीजो को भूलने की शुरुआत होती है. इसलिए शांत मन से धीमा बोलने का अभ्यास करें

 

Deep breathing

पब्लिक स्पीच के दौरान सबसे ज्यादा घबराहट और दिल की धड़कन तब तेज होती है जब हमारा नंबर आने वाला होता है. यानी स्पीच से ठीक पहले. ऐसे में यह डर हम पर हावी न हो इसके लिए आपको situation से ध्यान हटाकर गहरी साँसे लेनी है और थोडा पानी पीना है ताकि हॉर्मोन बैलेंस में रहे और चिंता के लक्षण हम पर हावी न हो. साथ ही अपने face पर स्माइल बनाये रखे ताकि नेगेटिव इमोशन ने बचा जा सके और सामने वाला भी आपको positively interpret करें.

 

Meditation

अपने mind और नेगेटिव फीलिंग को कंट्रोल में करना का सबसे अच्छा तरीका है Meditation यानि ध्यान. अगर आप रोजाना 10-15 मिनट मैडिटेशन करते है तो आपका मन भटकाव और नकारात्मक विचारो से दूर हटेगा और मन में शांति की भावना पैदा होगी. ऐसे में लोगो के साथ deal करने या public speaking के दौरान पैदा हुई एंग्जायटी को आप कंट्रोल कर सकते है.

 

इसके आलावा आप Public Speaking Classes भी ले सकते है जहाँ step by step आपकी कमजोरियों को दूर किया जा सकता है और आपमें self confidence बढाकर आपको लोगो के बीच बोलने के लिए तैयार किया जाता है.

तो दोस्तों उम्मीद करते है यह आर्टिकल आपको पसंद आया होगा. अगर आप भी इस टॉपिक पर अपने सुझाव या सवाल देना चाहते है तो कृपया कमेंट करे और हमारे साथ जुड़े रहने के लिए हमें फ्री सब्सक्राइब जरुर करें.

 

SUBSCRIBE OUR YOUTUBE CHANNEL MANOCHETNA TO STAY CONNECTED WITH US

 

यह भी जाने 

अँग्रेजी बोलना सीखे Best Tips For English speaking in Hindi

ऐसे बनाये अपनी पर्सनालिटी को खास – personality development tips in hindi

आत्मविश्वास बढ़ाने के अचूक टिप्स self confidence increase tips in hindi

सफलता पाने मे body language डालती है प्रभाव

Enter your email address:

Delivered by FeedBurner

2 Comments

  1. shivansh singh 03/09/2018
  2. Jp 04/09/2018

Leave a Reply