बुलंद होसलों की कहानी- best motivational story in hindi

मुसीबते हमारी ज़िंदगी की एक सच्चाई है। कोई इस बात को समझ लेता है तो कोई पूरी ज़िंदगी इसका रोना रोता है। ज़िंदगी के हर मोड़ पर हमारा सामना मुसीबतों(problems) से होता है. इसके बिना ज़िंदगी की कल्पना नहीं की जा सकती।
अक्सर हमारे सामने मुसीबते आती है तो तो हम उनके सामने पस्त हो जाते है। उस समय हमे कुछ समझ नहीं आता की क्या सही है और क्या गलत। हर व्यक्ति का परिस्थितियो को देखने का नज़रिया अलग अलग होता है। कई बार हमारी ज़िंदगी मे मुसीबतों का पहाड़ टूट पढ़ता है। उस कठिन समय मे कुछ लोग टूट जाते है तो कुछ संभाल जाते है।
मनोविज्ञान के अनुसार इंसान किसी भी problem को दो तरीको से देखता है;
1 problem पर focus करके(problem focus peoples)
2 solution पर focus करके(solution focus peoples)
Problem focus peoples अक्सर मुसीबतों मे ढेर हो जाते है। इस तरीके के इंसान किसी भी मुसीबत मे उसके हल के बजाये उस मुसीबत के बारे मे ज्यादा सोचते है। वही दूसरी ओर solution focus peoples मुसीबतों मे उसके हल के बारे मे ज्यादा सोचते है। इस तरह के इंसान मुसीबतों का डट के सामना करते है।

 

दोस्तो आज मै आपके साथ एक महान solution focus इंसान की कहानी शेयर करने जा रहा हु जो आपको किसी भी मुसीबत से लड़ने के लिए प्रोत्साहित (motivate) करेगी। दोस्तो आपने नेपोलियन बोनापार्ट (napoleon Bonaparte) का नाम तो सुना ही होगा। जी हा वही नापोलियन बोनापार्ट जो फ़्रांस के एक महान निडर और साहसी शासक थे जिनके जीवन मे असंभव नाम का कोई शब्द नहीं था। इतिहास में नेपोलियन को विश्व के सबसे महान और अजय सेनापतियों में से एक गिना जाता है। वह इतिहास के सबसे महान विजेताओं में से माने जाते थे । उसके सामने कोई रुक नहीं पाता था।
नेपोलियन के बुलंद होसलों की कहानी- a motivational story
नेपोलियन अक्सर जोखिम (risky) भरे काम किया करते थे। एक बार उन्होने आलपास पर्वत को पार करने का ऐलान किया और अपनी सेना के साथ चल पढे। सामने एक विशाल और गगनचुम्बी पहाड़ खड़ा था जिसपर चढ़ाई करने असंभव था। उसकी सेना मे अचानक हलचल की स्थिति पैदा हो गई। फिर भी उसने अपनी सेना को चढ़ाई का आदेश दिया। पास मे ही एक बुजुर्ग औरत खड़ी थी। उसने जैसे ही यह सुना वो उसके पास आकर बोले की क्यो मरना चाहते हो। यहा जितने भी लोग आये है वो मुह की खाकर यही रहे गये। अगर अपनी ज़िंदगी से प्यार है तो वापिस चले जाओ। उस औरत की यह बात सुनकर नेपोलियन नाराज़ होने की बजाये प्रेरित हो गया और झट से हीरो का हार उतारकर उस बुजुर्ग महिला को पहना दिया और फिर बोले; आपने मेरा उत्साह दोगुना कर दिया और मुझे प्रेरित किया है। लेकिन अगर मै जिंदा बचा तो आप मेरी जय-जयकार करना। उस औरत ने नेपोलियन की बात सुनकर कहा- तुम पहले इंसान हो जो मेरी बात सुनकर हताश और निराश नहीं हुए। ‘ जो करने या मरने ‘ और मुसीबतों का सामना करने का इरादा रखते है, वह लोग कभी नही हारते।
आज सचिन तेंदुलकर (sachin tendulkar) को इसलिए क्रिकेट (cricket) का भगवान कहा जाता है क्योकि उन्होने जरूरत के समय ही अपना शानदार खेल दिखाया और भारतीय टीम को मुसीबतों से उभारा। ऐसा नहीं है कि यह मुसीबते हम जैसे लोगो के सामने ही आती है, भगवान राम के सामने भी मुसीबते आयी है। विवाह के बाद, वनवास की मुसीबत। उन्होने सभी मुसीबतों का सामना आदर्श तरीके से किया। तभी वो मर्यादा पुरषोतम कहलाये जाते है। मुसीबते ही हमें आदर्श बनाती है।

 

अंत मे एक बात हमेशा याद रखिये;
जिंदगी में मुसीबते चाय के कप में जमी मलाई की तरह है,
और कामयाब वो लोग हैं जिन्हेप फूँक मार के मलाई को साइड कर चाय पीना आता है

 

अगर आपको यह article उपयोगी लगा हो तो कृपया इसे अपने दोस्तो के साथ शेयर कीजिये। आप अपनी राय, सुझाव या विचार हमे comments के माध्यम से भेज सकते है.

real inspirational stories के लिए क्लिक करे

toughest struggles of sports person story के लिए क्लिक करे

must read

Tension का ग्लास – ये story आपकी life बदल सकती है

best inspirational story संघर्ष की कहानी

walt disney संघर्ष – असफलता से सफलता की कहानी

सफलता का पहला नियम; भागो मत, सिर्फ जागो

loading...

alexander sikandar story जो जीता वही सिकंदर

80 Comments

  1. anju gutam 05/12/2015
  2. Sheetal 02/04/2016
    • ankit panwar 21/07/2016
  3. sunil gupta 02/05/2016
  4. janak 04/05/2016
  5. Seema 08/05/2016
  6. AchhiGyan 10/05/2016
  7. sheetal 14/05/2016
  8. Charu 15/05/2016
  9. santosh 28/05/2016
  10. ashish 08/06/2016
  11. ishwar 25/06/2016
  12. vipin kumar 26/06/2016
  13. pratik 27/06/2016
  14. Parul Chouhan 28/06/2016
  15. admin@hindikebol 29/06/2016
  16. Prakash singh 07/07/2016
  17. B k Yogita 11/07/2016
  18. AZKIYA AZAD 12/07/2016
  19. AZKIYA AZAD 12/07/2016
  20. Rudra 13/07/2016
  21. Brijmohan 16/07/2016
  22. Sharad 19/07/2016
  23. mahesh 08/08/2016
  24. Bobby 09/08/2016
  25. Dwarika Yadav 12/08/2016
  26. hiral pansuriya 16/08/2016
  27. ashwin 21/08/2016
  28. Yogi 22/08/2016
  29. Deepali Agrawal 29/08/2016
  30. divya 02/09/2016
  31. gopal sharma 02/09/2016
  32. dharam 04/09/2016
  33. nikhil 06/09/2016
    • Nikhil & Mahi 06/09/2016
  34. monu sharma 16/09/2016
  35. Sna 19/09/2016
  36. Dinesh Pareek 07/10/2016
  37. Syed Omer 08/10/2016
  38. rachna 09/10/2016
  39. Aman jadon 10/10/2016
  40. Deepali Agrawal 19/10/2016
  41. somnath bhandare 23/10/2016
  42. Honey Singh Bisht 26/10/2016
  43. Chandan Sharma 28/10/2016
  44. Devendra ku Gupta 29/10/2016
  45. sonu 02/11/2016
  46. Ahsan 14/11/2016
  47. satish kumar sen 18/11/2016
  48. Bishanudutt Pandey 25/11/2016
  49. ABU ZAID 25/11/2016
  50. Shilpa sharma 09/12/2016
  51. neeraj Mishra 13/12/2016
  52. kadamtaal 18/12/2016
  53. Bolte Chitra 20/12/2016
  54. saurabh kumat 22/12/2016
  55. India Mantra 01/01/2017
  56. Keshav yadav 04/01/2017
  57. Mangal Deep 07/01/2017
  58. Narayan Lal khera 11/01/2017
  59. Naveen Rajput 07/02/2017
  60. anurag mishra 09/02/2017
  61. Rupak Kumar 11/02/2017
  62. bhavesh 22/02/2017
  63. sagar 15/03/2017
  64. Vikrammrazz 29/03/2017
  65. jugnu nagar 29/03/2017
  66. ketan danidhariya 04/04/2017
  67. Ankur Rathi 06/04/2017
  68. HindIndia 07/04/2017
  69. Roopkala 09/04/2017
  70. Ankur Rathi 10/04/2017
  71. Anil Sahu 16/04/2017
  72. sahu ji 21/04/2017

Leave a Reply